बेन स्टोक्स के कारण इस दिग्गज का कैरियर पड़ा खतरे में, खुद कबूली बात

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

तूफानी पारी खेलने वाले एलेक्स हेल्स ने कहा उसके आते ही मुझे कर दिया जायेगा टीम से बाहर 

तूफानी पारी खेलने वाले एलेक्स हेल्स ने कहा उसके आते ही मुझे कर दिया जायेगा टीम से बाहर

इंग्लैंड के धाकड़ बल्लेबाज एलेक्स हेल्स ने महसूस किया है कि उन्होंने भले ही अपनी टीम के लिए 147 रनों की खेली हो, लेकिन जब बेन स्टोक्स टीम में वापस फिट हो जायेंगे तो उनका टीम में पत्ता कट जाएगा।

बता दें कि इन दिनों ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम को स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर की खूब कमी खल रही है और इसी कारण इंग्लैंड के हाथों लगातार हार का सामना करना पड़ रहा है।

तूफानी पारी खेलने वाले एलेक्स हेल्स ने कहा उसके आते ही मुझे कर दिया जायेगा टीम से बाहर 1

तीसरे मैच में इंग्लैंड क्रिकेट टीम ने विश्व रिकॉर्ड स्थापित किया जिसमें अनुभवी बल्लेबाज एलेक्स हेल्स ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए 141 रनों की पारी महज 92 गेंदों पर खेली थी। इसके चलते टीम ने 50 ओवर में 6 विकेट गंवाकर 481 रन बनाये थे। लेकिन अब हेल्स का कहना है कि उन्हें बेन स्टोक्स की वजह से टीम में जगह नहीं मिल पाएगी और पत्ता कट जाएगा।

मीडिया से बात करते हुए इंग्लिश बल्लेबाज ने कहा है,

“जॉनी बेयरस्‍टो ने पिछले सात मुकाबलों में शानदार बल्लेबाजी करते हुए चार में शतक बनाये है साथ ही जेसन रॉय भी इन दिनों अच्छी फॉर्म में है। मुझे नहीं लगता कि परिस्थितियों में किसी तरह का कोई बदलाव आया है। मेरे आगे खेलने वाले दोनों बल्लेबाज बहुत शानदार फार्म में हैं। तो ऑल राउंडर बेन स्‍टोक्‍स फिलहाल चोटिल हैं, इसी कारण मुझे इंग्लैंड टीम में खेलने का अवसर मिला है।”

तूफानी पारी खेलने वाले एलेक्स हेल्स ने कहा उसके आते ही मुझे कर दिया जायेगा टीम से बाहर 2

आगे बात करते हुए 29 वर्षीय इंग्लिश बल्लेबाज ने कहा है,

“बेन स्‍टोक्‍स अभी चोटिल है, लेकिन जैसे ही ठीक होंगे उसके बाद मेरा टीम से पत्ता कट जाएगा। अगर चयनकर्ताओं और साथ ही कोच के नजरिए से देखें तो ये एक बड़ी समस्‍या बनकर सामने आयी है।”

इस प्रकार वनडे क्रिकेट में 64 मैचों में 6 शतक और 38.67 की औसत से रन बनाने वाले हेल्स ने यह अनुभव किया है कि अब उनका आगे कैरियर सिक्योर नहीं है क्योंकि शुरूआती क्रम के बल्लेबाज अच्छे खेल रहे है और बेन स्टोक्स को बाहर नहीं किया जा सकता, क्योंकि ये विश्व स्तर के ऑलराउंडर है।

शतक के बाद इन्होंने चौथे वनडे में भी अच्छी बल्लेबाजी करते हुए नाबाद 34 रनों की पारी खेली और टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

Related posts

Leave a Reply