अभी भी अधुरा है मेरा सबसे बड़ा सपना: मिताली राज | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

अभी भी अधुरा है मेरा सबसे बड़ा सपना: मिताली राज 

अभी भी अधुरा है मेरा सबसे बड़ा सपना: मिताली राज

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज ने कहा है, कि वह संन्यास से पहले विश्वकप ट्राफी जीतना चाहती हैं.

अभी भी अधुरा है मेरा सबसे बड़ा सपना: मिताली राज 1

हाल में मिताली वडोदरा सिटी में एक युवाओ के बात के लिए एक कार्यक्रम में सभापति के रूप में पहुंची थी, जहाँ हजारो स्कूली बच्चे मिताली के ऑटोग्राफ के लिए बेसब्री से इंतज़ार कर रहे थे, मिताली ने भी उन बच्चो को निराश नहीं किया.

यह भी पढ़े: OMG: अश्विन ने बना डाला ऐसा रिकॉर्ड, जो अब तक सचिन और सहवाग के नाम भी नहीं था

मिताली ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि

“मैं हमेशा युवाओ से बातचीत करना पसंद करती हूँ, और अगर मैं उनमे से कुछ युवाओ को भी प्रोत्साहित कर सकूं, तो मैं अपने आप कों धन्य महसूस करुँगी”.



मिताली एक भरतनाट्यम डांसर थी और उन्होंने क्रिकेट के लिए डांस छोड़ा था. आगे राज ने कहा

“जब मैंने भरतनाट्यम छोड़ा, और बचपन में क्रिकेट को अपनाया, यह एक कठिन निर्णय था. लेकिन आज, कोई पछतावा नहीं हैं. मैंने सोचा था अगर मैं जल्दी संन्यास ले लूँगी तो मैं शायद वापस डांस में जाऊ. लेकिन अब इसकी संभावना नहीं हैं. मैं भारत के लिए बड़ा स्कोर बनाना जारी रखना चाहती हूँ जब तक मेरा शरीर इसकी इजाजत देता हैं”.

 

मिताली राज को उनकी तमन्ना और टीम

हाल में, हरमनप्रीत कौर ऑस्ट्रेलिया की टी-ट्वेंटी लीग बिग बैश के लिए चुनी गयी हैं. कौर पहली भारतीय महिला होगी जो बिग बैश लीग खेलेगी. यह भारतीय महिला क्रिकेट के लिए अच्छा संकेत हैं.

यह भी पढ़े: यह दिग्गज खिलाड़ी चाहता है जब भी बने उसके उपर फिल्म सलमान निभाएं उनका किरदार

भारत महिला क्रिकेट टीम के बारे में मिताली ने कहा कि

“यह अच्छे संकेत है कि बीसीसीआई ने महिला क्रिकेटरो को विदेशी लीग में खेलने की अनुमति दे दी हैं, और इससे सम्बंधित खिलाड़ियों को बहुत मदद मिलेगी, और निस्संदेह यह प्रचार महिला क्रिकेट के लिए अच्छा हैं”

 

आगे मिताली ने कहा

“महिला अन्तराष्ट्रीय खेल के काफी मैचो का सीधा प्रसारण टेलेविज़न पर किया जा रहा हैं. इससे पिछले 2-3 वर्षो में बेहद अच्छे बदलाव आये हैं. लेकिन कुछ क्षेत्रो में अभी भी सुधार की जरुरत हैं. पुरुषो ने, टी-ट्वेंटी विश्वकप के तुरंत बाद, आईपीएल खेला और अब वेस्टइंडीज दौरे पर हैं”

“दूसरी ओर हम, हमारे पास एक लम्बा ऑफ सीजन हैं, जोकि कभी मददगार नहीं होता. नेट में अभ्यास आपको  मैच खेलने जैसा परिणाम नहीं दे सकता हैं. अगर भारत ए और अंडर 23 महिला भी अपने विरोधियो के विरुद्ध अलग परिस्थितियों में खेले, तो यह बेहद अच्छा होगा. इस तरीके से, हमारे पास भी भविष्य में अच्छी बेस्ट बेंच स्ट्रेंथ होगी”

 

संन्यास से पहले विश्वकप जीतने की तमन्ना के बारे में मिताली ने कहा

“लम्बे करियर के दौरान भारतीय लड़कियों के कुछ शानदार यादें रही, जोकि गर्व की बात हैं. इस वर्ष टी-ट्वेंटी विश्वकप में हम अच्छा करना चाहते थे. कुछ करीबी मैच हारना दिन तोड़ने वाला रहा. लेकिन मुझे लगता है कि विश्वकप 2017 में टीम के पास अच्छा मौका हैं. मैं संन्यास से पहले विश्वकप ट्राफी जीतना चाहती हूँ. जोकि मुझे इन वर्षो के दौरान नहीं मिल पाई हैं”.

यह भी देखे: विडियो: जब सचिन और धोनी ने ऐसे बनाया बेवकुफ कि अपना विकेट देने कों तैयार हो गये अफरीदी

Related posts