आईसीसी का बड़ा खुलासा: विश्वकप में जानबूझकर भिड़ाया जाता है भारत व पाकिस्तान को

reyansh chaturvedi / 02 June 2016

क्रिकेट डेस्‍क। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने इस बात को स्वीकार किया है कि वैश्विक टूर्नामेंट में भारत और पाकिस्तान को सोच समझकर एक ही ग्रुप में रखने की कोशिश की जाती है। भारत और पाकिस्तान के बीच 2017 में इंग्लैंड में होने वाली चैंपियंस ट्रॉफी के ग्रुप दौर के मुकाबले में आमने-सामने होंगे। आईसीसी ने इस बात का खुलासा गुरूवार को किया।

चैंपियन ट्रॉफी वर्ल्‍ड के बाद तीसरा ऐसा टूर्नामेंट होगा जिसमे भारत और पाकिस्‍तान को एक ही ग्रुप में रखा गया है। इसके साथ ही भारत ऐसे में पाकिस्‍तान को बड़े अंतर से मात देता रहा है। इस बार भी ऐसा ही होने की उम्‍मीद है क्‍योंकि गत चैम्पियन भारत 4 जून, 2017 को एजबेस्टन में होने वाले मुकाबले में कट्टर प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ अपने खिताब की रक्षा जरूर करेगा।

आइसीसी ने इसे टूर्नामेंट की सफलता के लिए बेहद जरूरी बताया। क्‍योंकि वो जानते हैं कि भारत और पाक के बीच होने वाले मुकाबले से उन्‍हें बहुत सारा पैसा और दर्शक प्राप्‍त होते हैं।

“द टेलीग्राफ” को दिए एक बयान में आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेव रिचर्डसन का कहना था कि, ‘इसमें कोई शक नहीं है कि हम अपने टूर्नामेंट में भारत बनाम पाकिस्तान मुकाबले को कराने की कोशिश करते हैं। आईसीसी के नजरिये से यह बेहद महत्वपूर्ण है। दुनियाभर में बड़े पैमाने पर प्रशंसकों को इसकी उम्मीद होती है। इससे टूर्नामेंट का आकर्षण बढ़ता है और टूर्नामेंट को शानदार शुरुआत मिलती है।”

हालांकि रिचर्डसन ने इस बात से इन्कार किया कि आईसीसी के टूर्नामेंट में छेड़छाड़ करने से इसकी निष्पक्षता प्रभावित होती है। अगले साल होने वाली आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के लिए कार्यक्रम मंगलवार को जारी किया गया। भारत-पाकिस्तान को चार जून 2017 को एजबेस्टन में एक-दूसरे से भिड़ना है। ग्रुप-बी में भारत और पाकिस्तान के अलावा दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका की टीमें भी शामिल हैं।