आईसीसी

विश्व भर में कोरोना वायरस से लोगो को बहुत परेशानी हो रही है. अब तक इसके कारण 3.4 लाख लोग अपनी जान गँवा चुके हैं. जबकि 53.06 लाख लोग इससे प्रभावित हो चुके हैं. क्रिकेट इससे बहुत प्रभावित है. आईसीसी ने क्रिकेट की बहाली को लेकर बनाये नियम, अब 14 दिनों का आइसोलेशन ट्रेनिंग कैंप हर सीरीज के लिए होगी जरुरी.

आईसीसी ने क्रिकेट की बहाली को लेकर बनाये कुछ नियम

कोरोना वायरस के बाद क्रिकेट शुरू करने के लिए आईसीसी ने जारी किया गाइडलाइन, पालन करने होंगे ये नियम 1

कोरोना वायरस के कारण लंबे समय से क्रिकेट बंद है. हालाँकि अब धीरे-धीरे फिर से खेल शुरू करने का प्रयास भी शुरू हो चूका है. जिसको देखकर ही आईसीसी ने भी अपना काम शुरू कर दिया है. वायरस के बीच खेल शुरू होने को लेकर ही उन्होंने कुछ नियम भी अब बनाये हैं. जैसे हर क्रिकेट सीरीज शुरू होने से पहले हर दौरा करने वाली टीम को 14 दिनों के लिए आइसोलेशन ट्रेनिंग कैंप में रखना होगा.

इसके अलावा खिलाड़ियों के स्वास्थ्य का ध्यान रखने के लिए चीफ मेडिकल ऑफिसर की नियुक्ति होनी भी जरुरी है. खिलाड़ियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखकर ही आईसीसी की मेडिकल सलाहकार समिति ने इन नियमों को तैयार किया है. जिससे क्रिकेट शुरू होने के बाद भी खिलाड़ियों को इस वायरस से दूर ही रखा जाए. किसी के भी प्रभावित होने का खतरा नहीं हो.

चार चरणों में अभ्यास करने की सलाह दी आईसीसी ने

कोरोना वायरस

अपने कई बड़े सुझाव में से ही आईसीसी ने कहा की अब सभी टीमें चार चरणों में अभ्यास करें. पहले चरण में खिलाडी अकेले अभ्यास करें. जबकि दूसरे चरण में 3 खिलाड़ियों को ही एक साथ अभ्यास करने का मौका मिले. तीसरे चरण के दौरान 10 खिलाड़ियों तक ही एक साथ अभ्यास करते हुए नजर आयें.

कोरोना वायरस के बाद क्रिकेट शुरू करने के लिए आईसीसी ने जारी किया गाइडलाइन, पालन करने होंगे ये नियम 2

हालाँकि चौथे और आखिरी चरण के दौरान पूरी टीम एक साथ अभ्यास कर सके. इतना ही नहीं अब अंपायर के स्वास्थ्य का भी ख्याल रखते हुए भी आईसीसी ने कुछ अहम फैसले लिए हैं. जिससे क्रिकेट के मैदान को कोरोना वायरस से दूर ही रखा जा सके और खेल भी दोबारा जल्द शुरू हो जाएँ.

आईसीसी द्वारा दिए गये गाइडलाइन की अहम बातें

आईसीसी

1. ट्रेनिंग से पहले और बाद में हर तरह के इक्विपमेंट को सैनिटाइज करना जरूरी होगा.

2. गेंद को चमकाने के लिए स्लाइवा के इस्तेमाल पर प्रतिबंध रहेगा.

3. अंपायरों को भी गेंद रखते वक्त ग्ल्वस पहनने की सलाह दी गई है.

4. गेंद के इस्तेमाल के दौरान हाथ को बार-बार सैनिटाइज करने के लिए कहा गया है.

5. खिलाड़ियों को एक दूसरे के सामान के इस्तेमाल से बचना होगा.

6. ट्रेनिंग के वक्त खिलाड़ियों को सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा.

7. स्टेडियम में तैयार होने की बजाए होटल से तैयार होकर आना होगा ताकि कॉमन फैसिलिटी का इस्तेमाल न करना पड़े.

8. खिलाड़ियों को जश्न मनाने के दौरान एकदूसरे के सम्पर्क में आने से बचना होगा.

9. एकदूसरे की पानी की बोतल, टॉवेल के इस्तेमाल पर भी रोक.

10. मैच के दौरान खिलाड़ी अपनी कैप, सनग्लासेस या तौलिया अंपायर या साथी को नहीं दे सकेंगे.

11. ट्रेनिंग और मैच के दौरान भी खिलाड़ियों का स्वास्थ्य परीक्षण होगा. उनका तापमान जांचा जाएगा.