आईसीसी ने लॉन्च किया वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का कार्यक्रम, दो सालों में खेले जायेंगे कुल 72 टेस्ट 1

टेस्ट क्रिकेट में एक बार फिर रंग भरने और इस फॉर्मेट को रोमांचक बनाने के लिए आईसीसी ने टेस्ट चैंपियनशिप की घोषणा कर दी है. अब बहुत ही जल्द दुनियाभर के क्रिकेटर टेस्ट में बादशाहत हासिल करने के लिए एक दूसरे के खिलाफ जंग लड़ते नजर आएगे. वाकई टेस्ट क्रिकेट को एक बार फिर से जीवित करने के लिए टेस्ट चैंपियनशिप बहुत ही अहम माना जा रहा है.

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट संघ (आईसीसी) ने आज सोमवार, 29 जुलाई को टेस्ट चैंपियनशिप के फॉर्मेट को लॉन्च भी कर दिया है. दुनियाभर के खिलाड़ियों के साथ साथ खेल प्रेमी भी अब इसके शुरू होने का बेसब्री से इंतजार कर रहे है.

सामने आया कोहली और एंडरसन का बयान

टेस्ट चैंपियनशिप

टेस्ट चैंपियनशिप को लेकर भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली और इंग्लैंड के दिग्गज तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन काफी खुश नजर आ रहे है. अपने एक बयान में विराट कोहली ने कहा, ”हम क्रिकेट के इस लंबे फॉर्मेट में आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. टेस्ट क्रिकेट हमेशा ही काफी चैलेंजिंग होती है और यह परम्परागत फॉर्मेट खिलाड़ियों की संतुष्टि भी प्रदान करता है. टीम इंडिया ने पिछले कुछ सालों के दौरान टेस्ट में अच्छा प्रदर्शन किया है और हम इस चैंपियनशिप में अपनी संभावनाओं को अच्छे से प्रदर्शित करेंगे.”

वही इंग्लिश तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने अपने बयान में कहा, ”टेस्ट क्रिकेट इस खेल का सर्वश्रेष्ठ स्टार है. यह क्रिकेट के हर फॉर्म का जनक है और इस खेल से जुड़ा हर खिलाड़ी अपने देश के लिए टेस्ट खेलना और अच्छा प्रदर्शन करना चाहता है. आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप इस खेल के लिए बेहतरीन कदम है.”

आईसीसी ने लॉन्च किया वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का कार्यक्रम, दो सालों में खेले जायेंगे कुल 72 टेस्ट 2

एशेज से होगी टेस्ट चैंपियनशिप की शुरुआत

एशेज सीरीज

एक अगस्त से इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच शुरू होने वाली एशेज सीरीज से टेस्ट चैंपियनशिप का आगाज होगा. चैंपियनशिप में विश्व स्टार की 9 टीमें हिस्सा लेगी. इनमें ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, इंग्लैंड, भारत, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज के नाम शामिल है.

टेस्ट चैंपियनशिप के दौरान अगले दो सालों में कुल 27 सीरीज के तहत कुल 71 मुकाबलें खेले जाएंगे. इस दौरान चोटी पर रहने वाली दो टीमें जून 2021 में ब्रिटेन में आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल खेलेंगी. हर टीम तीन घरेलू सीरीज और तीन विदेशी सीरीज खेलती नजर आएगी. हर मैच के लिए टीमों को अंक भी मिलेंगे. हर सीरीज में 120 पॉइंट्स होगे और जितने भी मैच उस सीरीज में खेले जायेगे, उनमें बराबर अंक बांट दिए जाएगे.

जैसे की दो टेस्ट मैचों की सीरीज में हर मैच के लिए 60 अंक होगे, जबकि तीन टेस्ट मैच की श्रृंखला में हर मैच के लिए 40 पॉइंट. टाई हुए टेस्ट में 50 प्रतिशत अंक दिए जायेंगे, जबकि ड्रा टेस्ट में 3:1 पॉइंट उपलब्ध होगे. चैंपियनशिप के दौरान कम से कम दो मैच और अधिक से अधिक पांच मैचों की सीरीज टीमें खेलती नजर आएगी.

Akhil Gupta

Content Manager & Senior Writer at #Sportzwiki, An ardent cricket lover, Cricket Statistician.