टी20 विश्व कप का रोमांच बढ़ाने के लिए आईसीसी उठाएगी ये बढ़ा कदम, जल्द होगा फ़ैसला 1

अक्टूबर माह के दौरान इस वर्ष टी20 वर्ल्ड कप खेला जाएगा जिसमें भारत समेत 16 देशों की टीम इस ख़िताब जीतने के लिये मैदान पर भिड़ेंगी, लेकिन ख़बरों के मुताबिक अंतराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) वर्ल्ड कप में 16 टीमों की जगह 20 टीमों के साथ इस टूर्नामेंट को बढ़ावा देने के लिए विचार कर रही है.

इससे पहले आईसीसी महिला टी20 वर्ल्ड कप में टीमों की संख्या बढाने पर  बयान दे चुकी है. इसी सिलसिले में अब आईसीसी पुरुषों के टी20 विश्व कप में भी कुछ बदलाव करने की कोशिश में है जिससे कि उसके रोमांच में और इज़ाफ़ा किया जा सके.

आईसीसी टी20 विश्व कप में रोमांच बढ़ाने के लिए आईसीसी उठा रही ये कदम

टी20 वर्ल्ड कप

ऐसे तो दुनिया भर में क्रिकेट की लोकप्रियता बरकरार है लेकिन आईसीसी उन देशों को भी क्रिकेट में जोड़ना चाहती है जहां इसकी लोकप्रियता कम है, इसलिए आईसीसी 2024 के टी20 वर्ल्ड कप के लिए 16 टीमों की जगह इस टूर्नामेंट को 20 टीमों के साथ आयोजित करने पर विचार कर रही है.

हालांकि भारत की मेजबानी में इस वर्ष का टी20 वर्ल्ड कप 16 टीमों के साथ ही खेला जाएगा, यदि ICC अगले वर्ल्ड कप को 4 अन्य टीमों के साथ तय करेगी तो टी20 वर्ल्ड कप और भी ज्यादा रोमांचक रहने वाला है.

12 टीमों के साथ शुरू हुआ था टी20 वर्ल्ड कप का सफ़र

टी20 विश्व कप का रोमांच बढ़ाने के लिए आईसीसी उठाएगी ये बढ़ा कदम, जल्द होगा फ़ैसला 2

टी20 वर्ल्ड कप की शुरुआत सन 2007 में हुई थी जिस दौरान इस टूर्नामेंट को 12 टीमों के साथ खेला गया था, उस पहले टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में भारत ने पाकिस्तान को करारी मात देकर पहला टी20 विश्व कप ख़िताब अपने नाम किया था. इसके बाद आईसीसी ने 2012 के दौरान अन्य टीमों को इस टूर्नामेंट में जोड़ने की बात कही.

इसी सिलसिले में 2014 के दौरान जब बांग्लादेश में यह टूर्नामेंट खेला गया उस समय टीमों की संख्या बढ़ाकर 12 से 16 कर दी गयी, लेकिन एक बार फिर आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप में टीमों के बढाने पर मंथन कर रहा है जिसका बदलाव 2024 के दौरान देखने को मिल सकता है.

आईसीसी के लिए इस वर्ष टी20 वर्ल्ड कप को आयोजित करना एक चुनौती

टी20 वर्ल्ड कप

आईसीसी द्वारा यह पहले से ही तय किया जा चुका है कि इस साल टी20 वर्ल्ड कप भारत में खेला जाएगा, लेकिन भारत में बढ़ते कोरोना संकट ने बीसीसीआई के साथ-साथ आईसीसी की चिंता भी बढ़ा दी है, यदि भारत इस टूर्नामेंट के लिए उपयुक्त स्थान नहीं बन पाता है तो भारत इसकी मेजबानी खो सकता है.

जिसके बाद आईसीसी को मजबूरन यह टूर्नामेंट यूएई (UAE) में या फिर इंग्लैंड जैसी जगह में आयोजित करना होगा जहां इस महामारी का प्रकोप कम है, लेकिन बीसीसीआई स्पष्ट कर चुकी है कि इस निर्णय पर अंतिम फैसला जुलाई के अंत तक किया जाएगा.