चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में टीम इंडिया के छक्के छुड़ाने वाले इस पाकिस्तानी दिग्गज ने जताई वर्ल्ड कप में ओपन करने की इच्छा 1

आईसीसी वर्ल्डकप के शुरू होने में अब केवल 38 दिन ही बचे हैं. इंग्लैंड में होने वाले इस बड़े टूर्नामेंट के लिए सभी देशों के टीमों की घोषणा कर दी गयी है. वही सभी खिलाड़ी इस बड़े टूर्नामेंट में अपनी भागीदारी को लेकर काफी सहज हैं. पाकिस्तान क्रिकेट खिलाडी मोहम्मद हफीज ने विश्व कप को लेकर एक बड़ा बयान दिया है.

वर्ल्डकप में ओपन करने के लिए तैयार : मोहमद हफीज

चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में टीम इंडिया के छक्के छुड़ाने वाले इस पाकिस्तानी दिग्गज ने जताई वर्ल्ड कप में ओपन करने की इच्छा 2

पाकिस्तान के लिए बल्लेबाजी में ओपन किए मोहम्मद हफ़ीज़ को दो साल हो चुके हैं. वही बाबर आजम का तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी की भूमिका निभाने के बाद मोहम्मद हाफिज निचे के क्रम पर बल्लेबाजी कर रहे हैं. जनवरी 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे श्रृंखला के बाद से हफ़ीज के बल्लेबाजी क्रम में बदलाव किया गया है. मोहम्मद हफीज मध्यक्रम में में काफी प्रभावशाली रहे. मोहम्मद हफीज का औसत उपरी क्रम के बल्लेबाजी के औसत (37) से अधिक रहा. जबकि उनका स्ट्राइक रेट में भी अंतर आया है और स्ट्राइक रेट में 10 अंको की बढ़त भी हुए है.

जब मोहम्मद हफीज से पूछा गया की आपके बल्लेबाजी क्रम में बदलाव के बाद आपके खेल में कुछ बदलाव हुआ है. मोहम्मद हाफिज अपने करियर की शुरुआत ओपनर के तौर पर किया था. इस बात का जबाव देते हुए हफीज ने कहा

“मैं एक सलामी बल्लेबाज हूं और इस के रूप में खेलना चाहता हूं. पाकिस्तान टीम प्रबंधन ने मुझे चौथे नंबर पर एक एंकर की भूमिका निभाने के लिए कहा था क्योंकि हमारे पास नए सलामी बल्लेबाज हैं जो आगे बढ़ रहे हैं और अच्छा खेल रहे हैं. मैं पाकिस्तान टीम के लिए खेलता हूं और टीम ने मुझे जिस स्थान पर बल्लेबाजी के लिए मौका दिया है, मैं उसपर फिट होने की कोशिश कर रहा हूँ.”

चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में टीम इंडिया के छक्के छुड़ाने वाले इस पाकिस्तानी दिग्गज ने जताई वर्ल्ड कप में ओपन करने की इच्छा 3

मैं पाकिस्तान के लिए मैच जीता सकता हूँ : हफीज 

चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में टीम इंडिया के छक्के छुड़ाने वाले इस पाकिस्तानी दिग्गज ने जताई वर्ल्ड कप में ओपन करने की इच्छा 4

38 साल के मोहमद हफीज ने  चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में भारत के खिलाफ पांचवे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 37 गेंदों में 57 रन बनाए थे. हाफिज ने आगे कहा,

“मैं एक आयामी खिलाड़ी नहीं हूं.मेरा मानना है कि मैं हर तरह की पारी खेल सकता हूं. कई अवसरों पर अपने करियर में, मैंने टीम को कठिन और दबाव की स्थितियों से बाहर पहुंचाया है जब से मैंने अपने करियर की शुरुआत के बाद से 2016 और 2017  तक एक सलामी बल्लेबाज के रूप में खेला है. निचले क्रममें बल्लेबाजी करना बहुत ही कठिन है. मैं हमेशा अधिक ओवर करना चाहता हूं इसलिए मैं जिम्मेदारी उठा सकता हूं और पाकिस्तान के लिए मैच जीत सकता हूं. “

वेस्ट इंडीज से होगा पहला मुकाबला

चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में टीम इंडिया के छक्के छुड़ाने वाले इस पाकिस्तानी दिग्गज ने जताई वर्ल्ड कप में ओपन करने की इच्छा 5

मोहम्मद हाफिज ने कहा,आधुनिक दौर के मानकों के अनुसार, अब बल्लेबाजी इकाइयों को नियमित आधार पर 300 से अधिक के स्कोर और कुल स्कोर का पीछा करने की मांग करते हुए, पाकिस्तान के बल्लेबाजों ने इसके लिए काफी संघर्ष किया है.

वर्ल्डकप में  पाकिस्तान का पहला मुकाबला ट्रेंट ब्रिज में 31 मई को वेस्टइंडीज के खिलाफ होगा. तो वही भारत के साथ 16 जून को ओल्ड ट्रेफ्फोर्ड स्टेडियम में होगा.

आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया हो तो प्लीज इसे लाइक करें। अपने दोस्तों तक इस खबर को सबसे पहले पहुंचाने के लिए शेयर करें। साथ ही कोई सुझाव देना चाहे तो प्लीज कमेंट करें। अगर आपने हमारा पेज अब तक लाइक नहीं किया हो तो कृपया इसे जल्दी लाइक करें, जिससे लेटेस्ट अपडेट आप तक पहुंचा सके।