//

विश्व कप विशेष: कभी खेलता था शतरंज, अब किकेट की दुनिया में कर रहा है बल्लेबाजों के हौसले पस्त

आईसीसी विश्वकप के शुरु होने में कुछ दिनों का समय ही बचा है, सभी टीमें तैयारियों को लेकर जुटी हुई हैं, युजवेंद्र चहल जो कि इस बार विश्वकप टीम में शामिल हैं, बता दें कि क्रिकेट खेलने से पहले चहल शतरंज के खिलाड़ी भी हुआ करते थे. टाइम्स आफ इंडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने जीवन से संबंधित कई राजों का खुलासा किया.

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

विश्व कप विशेष: कभी खेलता था शतरंज, अब किकेट की दुनिया में कर रहा है बल्लेबाजों के हौसले पस्त 1

कभी खेलते थे शतरंज, अब क्रिकेट के हैं बादशाहः

जब उनसे सवाल पूछा गया कि आप अपने शतरंज के करियर को किस रुप में देखते हैं? तो इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मुझे कोई पछतावा नहीं है लेकिन उन दोनों की मुझे आज भी याद आती है. मैंने शतरंज में 5-6 सालों का खेल खेला है. 14 साल की उम्र में भारत का प्रतिनिधित्व करना मेरे लिए बड़ी बात है, लेकिन इसके बाद मुझे क्रिकेट और शतरंज को लेकर किसी एक को चुनना था, क्योंकि दोनों एक साथ नहीं चल सकते थे. इसलिए मैंने क्रिकेट को चुना. मुझे क्रिकेट में ज्यादा दिलचस्पी है.

विश्व कप विशेष: कभी खेलता था शतरंज, अब किकेट की दुनिया में कर रहा है बल्लेबाजों के हौसले पस्त 2

विश्वकप पहला बड़ा क्रिकेट टूर्नामेंट होने जा रहा है, इसको देखते हुए शतरंज में इससे पहले आप 2014 में भाग ले चुके हैं, वह आपको कितना प्रेरित करता है.

इस साल के जवाब में उन्होंने कहा कि शतरंज ने मेरे अंदर धैर्य विकसित किया है. कभी-कभी क्रिकेट में होता है कि आप एक योजना के तहत विकेट नहीं ले पा रहे हैं तो आपको घबराने की जरुरत नहीं होती है, बल्कि धैर्य रखने की आवश्यकता होती है, दबाव वाले मैचों में आप ये समझने का प्रयास करें कि बल्लेबाज आपके खिलाफ कौन सी रणनीति कर सकता है?

एकदिवसीय क्रिकेट में बल्लेबाजी को लेकर ये बोले चहलः

इस समय एकदिवसीय क्रिकेट में बड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ता है, इसके लिए आप अपने आपको कैसै तैयार करते हैं?

विश्व कप विशेष: कभी खेलता था शतरंज, अब किकेट की दुनिया में कर रहा है बल्लेबाजों के हौसले पस्त 3

इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मैं देखता हूं कि पिच किस प्रकार का व्यवहहार कर रही है, उसी प्रकार योजनाओं का क्रियान्यवन करना होता है. कहा कि योजना बनाते समय आपको माही भाई धोनी, रोहित शर्मा, धवन, विराट जैसे बल्लेबाजों की मदद ले सकते हैं. आप उनसे पूछे कि इस स्थिति में वह किस तरह की बल्लेबाजी करेंगे, यहीं से आपको आईडिया मिल जाएगा और आपको गेंदबाजी करना आसान हो जाएगा.

अगर आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया हो तो, प्लीज इसे लाइक करें. अपने दोस्तों तक ये खबर पहुंचाने के लिए शेयर करे और साथ ही अगर कोई सुझाव देना चाहते है तो प्लीज कमेंट करें. अगर आपने अभी तक हमारे पेज को लाइक नहीं किया है. तो कृपया अभी लाइक करें , जिससे लेटेस्ट अपडेटस आपतक पहुंचा सके.