अगर नहीं हुआ होता भारत-पाक बंटवारा तो भारत के पास होता एशिया का ब्रेडमैन, सचिन से भी अच्छी करता था बल्लेबाजी | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

अगर नहीं हुआ होता भारत-पाक बंटवारा तो भारत के पास होता एशिया का ब्रेडमैन, सचिन से भी अच्छी करता था बल्लेबाजी 

अगर नहीं हुआ होता भारत-पाक बंटवारा तो भारत के पास होता एशिया का ब्रेडमैन, सचिन से भी अच्छी करता था बल्लेबाजी

ये कहानी है एक ऐसे खिलाड़ी की, जिसके जन्म के 20 दिन बाद भारत का बटवारा हो गया और उस खिलाड़ी को पाकिस्तान के हिस्से में आना पड़ा. यह खिलाड़ी आगे चल कर पाकिस्तान का बहुत बड़ा खिलाड़ी खिलाड़ी बना. लोग उसे एशिया का डॉन ब्रैडमैन कहते हैं.

हम बात कर रहे हैं पाकिस्तानी खिलाड़ी जहीर अब्बास की, जिन्होंने अपने टेस्ट करियर में चार डबल सेन्चुरी लगाई हैं. इनमें से एक डबल तो उन्होंने आज ही के दिन यानी 22 अगस्त 1974 को लगाई थी.

हुआ बटवारा, और कहलाए पाकिस्तानी-

अगर नहीं हुआ होता भारत-पाक बंटवारा तो भारत के पास होता एशिया का ब्रेडमैन, सचिन से भी अच्छी करता था बल्लेबाजी 1

जहीर अब्बास का जन्म 24 जुलाई 1947 को पंजाब के सियालकोट शहर में हुआ था. उस वक्त वो तत्कालीन भारत का ही हिस्सा था. अब्बास के पैदा होने के 20 दिन बाद ही भारत का बंटवारा हो गया, और एक अलग देश पाकिस्तान अस्तित्व में आ गया. अगर उस वक्त पाकिस्तान नहीं बना होता तो जहीर अब्बास भी भारत में ही रहते और इसी देश के लिए खेलते.

अपने दूसरे ही मैच मे शतक ठोंक कहलाए ब्रैडमैन-

अगर नहीं हुआ होता भारत-पाक बंटवारा तो भारत के पास होता एशिया का ब्रेडमैन, सचिन से भी अच्छी करता था बल्लेबाजी 2

जहीर ने साल 1969 में अपना टेस्ट डेब्यू किया था और करियर के दूसरे टेस्ट मैच में ही उन्होंने डबल सेन्चुरी लगा दी थी. इस मैच में उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ 274 रन बनाए थे. जहीर अब्बास ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 100 शतक मारे और ऐसा करने वाले वह पहले एशियाई बैट्समैन थे. उन्होंने अपने फर्स्ट क्लास करियर में 34843 रन बनाए. जहीरअब्बास का खेलने का तरीका डॉन ब्रैडमैन जैसा था. इसी लिए उन्हें एशिया का डॉन ब्रैडमैन कहा जाता था.

भारतीय खिलाड़ियों से दोस्ती, भारतीय लड़की से शादी-

अगर नहीं हुआ होता भारत-पाक बंटवारा तो भारत के पास होता एशिया का ब्रेडमैन, सचिन से भी अच्छी करता था बल्लेबाजी 3

जहीर की कपिल देव, गावस्कर जैसे खिलाड़ियों से बढिया दोस्ती है. एक बार भारत के पूर्व कप्तान सुनील गावसकर ने उनकी तारीफ करते हुए कहा था कि, मैच के दौरान इंडियन बॉलर्स अक्सर कहा करते थे, जहीर ‘अब-बस-करो. उन्होंने भारतीय लड़की से शादी की. उनकी वाइफ का नाम रीता लूथरा है.

इन दोनों की लव स्टोरी 80s में ब्रिटेन में शुरू हुई थी. रीता इंग्लैंड में इंटीरियर डिजाइनिंग का कोर्स करने गई थीं. इसी दौरान उनकी मुलाकात जहीर अब्बास से हुई. जहीर वहां काउंटी क्रिकेट खेलने गए हुए थे. इसके बाद दोनों करीब आए और दोनों ने 1988 में शादी कर ली. शादी के बाद रीता कन्वर्ट होकर समीना अब्बास बन गईं.

क्रिकेट में निभाए ये किरदार-

अगर नहीं हुआ होता भारत-पाक बंटवारा तो भारत के पास होता एशिया का ब्रेडमैन, सचिन से भी अच्छी करता था बल्लेबाजी 4

जहीर दो बार पाकिस्तान टीम के कप्तान बने. उन्होंने साल 1985 में क्रिकेट से रिटायरमेंट ले लिया. इसके बाद कुछ टाइम के लिए वे ICC मैच रैफरी भी बने. पाकिस्तान क्रिकेट टीम का मैनेजर बनने के बाद साल 2015 में वे ICC के प्रेसिडेंट भी बने. अब्बास ने इंटरनेशनल करियर में 78 टेस्ट मैच खेलकर 44.79 के एवरेज से 5062 रन बनाए. इसके अलावा 62 वनडे मैचों में 47.62 के एवरेज से 2572 रन बनाए.

Related posts