संगकारा के बारे में 5 रोमांचक लेकिन अज्ञात बाते

श्रीलंका के महान बल्लेबाज कुमार संगकारा टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने जा रहे हैं| दुनिया भर के लोगों ने इस महान बल्लेबाज की सराहना की है| संगकारा ने क्रिकेट के इतिहास में अपना नाम दर्ज करके अब टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहने जा रहे हैं| इस खिलाड़ी ने श्रीलंका के लिए 133 टैस्ट मैच में 57.79 की औसत के साथ 12,310 रन बनाये हैं। 2014 में बांग्लादेश के विरुद्ध उनके 319 रन व्यक्तिगत उच्चतम स्कोर है। उनके नाम टैस्ट में 38 शतक और 51 अर्धशतक है।इसमें भारत के खिलाफ अभी हुए 4 मैचो को शामिल नहीं किया गया है.
संगकारा ने वनडे मैचों में 404 मैचों में 41.98 के औसत के साथ 14234 रन बनाए हैं| वनडे में 169 उनका उच्चतम स्कोर है| उन्होंने वनडे में 25 शतक और 93 अर्द्धशतक भी शामिल है|

इस महान खिलाड़ी को अब उनके चाहने वाले खेलते हुए नहीं देख पायेंगे| हमने इस महान खिलाड़ी को सिर्फ मैदान पर खेलते हुए ही देखा है| इस खिलाड़ी के बाहर की दुनिया के बारे में नहीं जानते, तो आइये इस खिलाड़ी के बाहरी दुनिया के बारे में जाने 5 बातें-

1. उनका पहला पसंद क्रिकेट नहीं था

संगकारा शुरू में कई खेलों में रूचि रखते थे, वह अपने पढ़ाई के साथ टेनिस, बैडमिंटन और क्रिकेट में भी हिस्सा लेते थे| संगकारा पढ़ाई में भी अच्छे थे| स्कूल के प्रिंसिपल ने संगकारा के माँ से इनको क्रिकेट में बढ़ावा देने के लिए कहा|

2. संगकारा एक वकील भी हैं

संगकारा से मैदान में बहस कर लो, लेकिन मैदान के बाहर नहीं। वे एक वकील हैं। अपने पिता के नक़्शे कदम पर चलते हुए, स्कूल की पढाई के बाद उन्होंने कोलंबो के विश्वविद्यालय में लॉ की पढाई चालू कर दी। हालांकि क्रिकेट खेलने के कारण वे अपनी पढाई पूरी ना कर सके। लेकिन बाद में उन्होंने विश्वविद्यालय से मास्टर्स की डिग्री ली।

3. संगकारा एक अच्छे लेक्चरर भी हैं

संगकारा ने 2011 में लॉर्ड्स में एमसीसी स्पिरिट ऑफ़ क्रिकेट काऊड्रे पर लेक्चर दिया। वो सबसे युवा और मौजूदा समय के पहले खिलाडी बने जिन्होंने ये उपलब्धि हासिल की। दुनिया भर के क्रिकेटरों ने इस बात की सराहना भी की।

संगकारा का एक घंटे का भाषण, श्रीलंकन क्रिकेट के इतिहास और उसमें हो रहे भ्रष्ट्राचार पर आधारित था। अपने भाषण में उन्होंने कहा,”प्रशासन की जवाबदेही और पारदर्शिता गलत हाथों में चली गयी थी। जिससे श्रीलंकन क्रिकेट का भविष्य अंधकार में चला गया था।

 

4. संगकारा चैरिटी भी करते है:

संगकारा एक बहुत ही अच्छे इंसान भी हैं, वो कई सालों से दान भी करते आ रहे हैं|मुथैया मुरलीधरन की चैरिटी फाउंडेशन ऑफ़ गुडनेस के भी संगकारा सदस्य हैं। अपने देश और बाहर भी सुनामी और भूकंप जैसी आपदा के लिए आयोजित चैरिटी में भी उन्होंने भाग लिया है।

5.संगकारा को वायलीन बजाने में भी महारथ हासिल है:

संगकारा को आपने तो मैदान में बल्ले से तो कमाल करते हुए देखा ही है, लेकिन क्या आप इनको वायलिन बजाते हुए कभी देखा है? अगर नहीं तो हम आप को दिखा रहे हैं| देखिए इस विडियो को कैसे संगकारा वायलिन के शौक़ीन हैं

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Related Topics