पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत पर कसा तंज, पाकिस्तान 7 गुना बड़े भारत को बुरी तरह हराता था

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत पर कसा तंज, पाकिस्तान 7 गुना बड़े भारत को बुरी तरह हराता था 

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत पर कसा तंज, पाकिस्तान 7 गुना बड़े भारत को बुरी तरह हराता था

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने दावोस में वर्ल्‍ड इकनॉमिक फोरम में अपने देश के संसाधनों का जिक्र करते हुए कहा कि एक समय पाकिस्‍तान अपने से 7 गुना बड़े भारत क्रिकेट में बुरी तरह से हराया करता था. उस समय पाकिस्‍तान को ताकतवर माना जाता था. इमरान खान ने कहा कि पाकिस्‍तान क्रिकेट ही नहीं हॉकी में भी बड़ी ताकतवर था और कई दूसरे खेलों में भी पाकिस्तान की तूती बोलती थी.

इमरान खान ने किया पुराने दिनों को याद

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत पर कसा तंज, पाकिस्तान 7 गुना बड़े भारत को बुरी तरह हराता था 1

विश्व क्रिकेट में इन दिनों भारत की हालत क्या है और पाकिस्तान किस हालात में है ये सबको पता है. ऐसे में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और प्रधानमंत्री को अपने बीते दिनों की याद सता रही है. इस याद को उन्होंने अपने शब्दों में बयां किया है. इमरान खान ने अपनी कप्तानी में पाकिस्तान को 1992 में वनडे विश्व कप खिताब दिलाया था. इमरान ने उन दिनों को याद किया जब वो क्रिकेट में सक्रिय थे और पाकिस्तान की टीम भारत पर हावी रहती थी. इसके अलावा उन्होंने फील्ड हॉकी में भी पाकिस्तान की स्थिति को लेकर बात की.

पाकिस्तान 7 गुना बड़े भारत को बुरी तरह हराता था

विश्व कप

पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री ने कहा कि उनका मानना है अगर पाकिस्‍तान को अच्‍छा शासन मिले तो वह आगे बढ़ेगा. उन्‍होंने कहा, ‘पाकिस्‍तान के संस्‍थापक जबरदस्‍त और मजबूत इंसान थे. वे चाहते थे कि पाकिस्‍तान इंसानियत युक्‍त हो, वे कल्‍याणकारी समाज बनाना चाहते थे. लेकिन हम उस विजन से भटक गए. जब मैं क्रिकेट खेलता था, भारत हमसे 7 गुना बड़ा था लेकिन हम उन्‍हें लगातार हराया करते थे.’

पाकिस्तान का लोकतंत्र नहीं है मजबूत

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत पर कसा तंज, पाकिस्तान 7 गुना बड़े भारत को बुरी तरह हराता था 2

इमरान खान ने कहा कि,  “पाकिस्तान के पास हमेशा से मानव व प्राकृतिक संसाधन रहे हैं लेकिन भ्रष्‍टाचार की वज‍ह से पिछले कुछ दशकों में देश को बहुत  नुकसान पहुंचा है. एक कार्यक्रम में उन्‍होंने कहा, ’60 के दशक में पाकिस्‍तान चमक रहा था और यह एशियाई रोल मॉडल था. मैं उस उम्‍मीद के साथ बड़ा हुआ लेकिन हमने हमारे संसाधनों को बर्बाद किया गया. क्‍योंकि दुर्भाग्‍य से हमारे यहां पर लोकतंत्र मजबूत नहीं हो पाया. जब लोकतंत्र में गड़बड़ी हुई तो सेना आ गई.”

Related posts