निदहास ट्रॉफी त्रिकोणीय टी-20 सीरीज का आज फाइनल मुकाबला होना वाला है. यह मुकाबला भारत और बांग्लादेश की टीम के बीच होना है. इस मुकाबले कि शुरुआत तीन टीमों से हुई थी. भारत, बांग्लादेश और मेजबान टीम श्रीलंका. भारत ने 4 मैच खेल के 3 मैच जितने के बाद ही अपनी जगह पक्की कर ली थी. तो वहीं बांग्लादेश टीम ने भी श्रीलंका को 2 विकेट से हर कर फाइनल में अपनी जगह बना ली है.

यह सीरीज श्रीलंका के 70वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर खेली जा रही है. ऐसा अनुमान लगाया जा रहा था कि इस सीरीज की असली हकदार श्रीलंका टीम ही बनेगी. पर किस्मत ने उसका साथ नहीं दिया. बांग्लादेश ने बाज़ी मार ही ली. साथ ही बांग्लादेश ने श्रीलंका के साथ गलत व्यवहार करने पर आईसीसी ने कार्यवाही भी की है.

कप्तान ने लिया अहम फैसला 

ऐसी ही एक घटना भारतीय क्रिकेट के इतिहास की भी है. यह घटना तब की है जब भारतीय टीम के कप्तान बिशन सिंह बेदी ने अपनी टीम को बीच मैच के दौरान ही मैदान से वापस बुला लिया था. जिसके कारण पाकिस्तान टीम को मैच का विजेता घोषित कर दिया गया था.

भारत को करना पड़ा था हार का सामना 

यह घटना साल 1978 की है. तब भारतीय टीम पाकिस्तान दौरे पर गयी थी. पाकिस्तान में भारत ने तीन टेस्ट मैच और तीन वनडे मुकाबले खेले थे. भारत ने इस दौरे पर दोनों मुकाबले खो दिए. बिशन सिंह बेदी की अगुवाई वाली टीम भारत को बुरी तरह से हार का सामना करना पड़ा था. भारतीय टीम ने 2-0 से टेस्ट सीरीज और 2-1 से वनडे सीरीज खो दी थी.

इस सीरीज में जो भी हुआ वह एकदम बांग्लादेश और श्रीलंका मुकाबले जैसा ही था. इस मुकाबले में पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने का निर्णय लिया. 40 ओवर के मुकाबले में 205 रन बनाए.

लक्ष्य के पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने 37.4 ओवरों में 183 रन 2 विकेट के नुकसान पर बना लिए. इस दौरान पाकिस्तानी तेज़ गेंदबाज़ सरफराज़ नवाज़ भारतीय बल्लेबाज़ों को लगातार बाउंसर फेंके जा रहे थे. इतना ही नहीं सरफराज़ की 38वें ओवर की चारों गेंदे बल्लेबाज़ से दूर भी थी. बार-बार ऐसा करने के बाद भी उन्हें मौजूदा अंपायर्स से कोई चेतावनी नहीं दी गई और ना ही उन गेंदों को वाइड करार दिया गया.

भारतीय टीम में मची खलबली

इस घटना से भारतीय खिलाड़ियों में खलबली मच गई क्योंकि टीम इंडिया इस वक्त जीत के दरवाज़े पर खड़ी थी. अब उसे जीतने के लिए 14 गेंदों में 23 रनों की ज़रूरत थी. तब ही भारतीय कप्तान बिशन सिंह बेदी ने कड़ा रूख अपनाते हुए भारतीय बल्लेबाज़ अंशुमन गायकवाड़ को 78 रन और गुंडप्पा विश्वनाथ को 8 रन बनाकर ही मैदान से बाहर बुला लिया.

Related Articles

चेन्नई के खिलाफ मिली हार का दर्द अभी भुला भी नहीं पाए थे विराट...

इण्डियन प्रीमियर लीग का 24वां मुकाबला कल,यानि 25 अप्रैल को चेन्नई सुपरकिंग्स और राॅयल चैंलेजर्स बंगलौर के बीच खेला गया। हो चुके इस रोमांचक...

सैथ रॉलिन्स ने किया बड़ा खुलासा, बताया किसके के खिलाफ चाहते है रेसलमेनिया में...

WWE के सबसे फेमस ग्रुप में से एक द शील्ड को हमेशा से एक फैंस से एक साथ देखना चाहते है।  रोमन रेस, सैथ...

IPL 2018: मैच से पहले एक दूसरे से गले मिलते नजर आये धोनी और...

आईपीएल का 11वां सीजन जमकर धूम मचा रहा है. हर मैच इतना रोमांचक होता है कि आखिरी गेंद तक पता लगाना मुश्किल होता है...

IPL: कभी आईपीएल से मिली थी इन खिलाड़ियों को पहचान, आज जी हैं गुमनामी...

आईपीएल का यह 11वां सीजन चल रहा है. इस सीजन का लगभग आधा सफ़र पूरा होने वाला है. और अब टीमों के बीच प्रतियोगिता...

प्रेग्नेंट सानिया को फराह खान के पति ने दी लड़के का नाम ‘मिर्ज़ा गालिब’...

भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा प्रेग्नेंट है। इस बात की पुष्टि खुद सानिया के पिता इमरान मिर्जा ने की। जैसे ही यह खबर सोशल...