IND vs SA: डीन एल्गर के डीआरएस पर फैसला क्या टीम इंडिया की किस्मत खराब थी या धोखा? 1

IND vs SA: भारत और दक्षिण अफ्रीका (IND vs SA) के बीच 3 मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जा रही है, जो अब खत्म होने के कगार पर खड़ी है। इस टेस्ट सीरीज के खत्म होने से ठीक पहले यानी तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में एक नए विवाद ने जन्म ले लिया है। जिसके बाद अब इस बात की चर्चा क्रिकेट जगत में छा चुकी है।

डीन एल्गर के डीआरएस फैसले पर विवाद

केपटाउन में खेले जा रहे तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच के तीसरे दिन तीसरे सेशन में जो देखने को उससे भारतीय क्रिकेट टीम, भारत के फैंस के साथ ही क्रिकेट जगत हिल गया। जिसके बाद इस मामले ने एक तूल पकड़ लिया है।

IND vs SA: डीन एल्गर के डीआरएस पर फैसला क्या टीम इंडिया की किस्मत खराब थी या धोखा? 2

दरअसल ये पूरा मामला (IND vs SA) दक्षिण अफ्रीका की पारी के 21वें ओवर में देखने को मिला। जब आर अश्विन के हाथ में गेंद थी। अश्विन के इस ओवर की एक गेंद दक्षिण अफ्रीका के कप्तान डीन एल्गर के पैड पर लगी और उन्हें आउट करार दिया गया।

भारतीय टीम ने तो टेक्नोलॉजी पर ही खड़े किए सवाल

लेकिन जब दक्षिण अफ्रीका की तरफ से डीआरएस का इस्तेमाल किया गया तो गेंद को लैग स्टंप से ऊपर जाते पाया गया और टीवी रिप्ले में हॉक आई में देखने के बाद टीवी अंपायर ने एल्गर को नॉटआउट करार दिया।

IND vs SA: डीन एल्गर के डीआरएस पर फैसला क्या टीम इंडिया की किस्मत खराब थी या धोखा? 3

वैसे टेक्नोलॉजी के हिसाब से तो थर्ड अंपायर का फैसला गलत नहीं था, जिन्होंने रिप्ले देखने के बाद एल्गर को नॉटआउट दिया, लेकिन इस टेक्नोलॉजी पर भारतीय खिलाड़ी ही नहीं बल्कि अंपायर मराइस एरासमस तक को यकिन नहीं हो रहा है। हर किसी के मन में यही सवाल है कि आखिर ये गेंद इतनी ऊपर कैसे जा सकती है।

भारतीय टीम की खराब किस्मत या धोखा

इस मैच में (IND vs SA) डीआरएस के बाद जब फैसला आया तो भारतीय खिलाड़ी काफी निराश थे और इसी निराशा में भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली के साथ ही कई खिलाड़ियों ने तरह-तरह के रिएक्शन दिए। जिसमें ये तक कहा गया कि पूरा देश हम 11 खिलाड़ियों के खिलाफ खड़ा है।

DRS

अब सवाल ये है कि टेक्नोलॉजी पर सवाल उठाना कितना सही है। भारतीय टीम जिस टेक्नोलॉजी पर सवाल खड़े कर रही है, उससे भारत को भी कई बार फायदा हुआ है। या यूं कहें कि भारतीय टीम के साथ धोखा हुआ है। अब आप ही अपना फैसला बताईए कि ये भारतीय टीम के साथ धोखा था या उनकी खराब किस्मत…