IND vs SA : विराट कोहली ने इस दिग्गज को दिया अपनी शानदार पारी का श्रेय

Trending News

Blog Post

इंटरव्यूज

IND vs SA : विराट कोहली ने संजय मांजरेकर को दिया अपनी शानदार पारी का श्रेय 

IND vs SA : विराट कोहली ने संजय मांजरेकर को दिया अपनी शानदार पारी का श्रेय

कप्तान विराट कोहली की शानदार बल्लेबाजी के दम पर भारतीय टीम ने साउथ अफ्रीका को मोहाली में खेले गए दूसरे टी-20 मैच में 7 विकेट के अंतर से हरा दिया है और इस मैच को जीतने के साथ ही भारतीय टीम ने सीरीज में भी 1-0 की बढ़त बना ली है. सीरीज का तीसरा व अंतिम टी-20 मैच रविवार 22 सितंबर को खेला जायेंगा.

शानदार बल्लेबाजी के लिए विराट को मिला ‘मैन ऑफ़ द मैच’

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने इस मैच में 52 गेंदों पर 72 रन की एक शानदार मैच जीताऊ पारी खेली है. उन्होंने अपनी इस पारी के दौरान 4 चौके और 3 शानदार छक्के लगाये हैं. उनकी इस शानदार पारी के लिए उन्हें ‘मैन ऑफ़ द मैच’ के ख़िताब से नवाजा गया है.

संजय आपने मुझे मेरे टी-20 करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी याद दिलाई

विराट कोहली

‘मैन ऑफ़ द मैच’ लेते हुए अपनी पोस्ट मैच प्रजेंटेशन में संजय मांजरेकर से बात करते हुए विराट कोहली ने कहा, “संजय आपने मुझे मेरे टी-20 करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी याद दिलाई थी और मुझे इससे थोड़ी प्रेरणा मिली. जब कोई भी इस तरह खेलता हैं और अपनी टीम के लिए मैच जीताता हैं, तो यह हमेशा एक अच्छा एहसास होता है. उस दिन 2016 में मैंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी इसी तरह की पारी खेली थी.”

पिच बल्लेबाजी के लिए थी बहुत अच्छी

विराट कोहली ने आगे अपने गेंदबाजों को जीत का श्रेय देते हुए कहा, “पिच बल्लेबाजी के लिए बहुत अच्छी थी, इसलिए गेंदबाजों ने जो 10 ओवर के बाद मैच में हमारी वापसी कराई वह शानदार था. जब युवा खिलाड़ी कठिन परिस्थितियों में चरित्र दिखाते हैं, तब उनके लिए कहा जा सकता है, कि वे भविष्य में और बेहतर होने वाले है.”

मैं कभी अपने व्यक्तिगत रिकॉर्डस के बारे में नहीं सोचता

विराट कोहली ने आगे अपनी बात को बढ़ाते हुए कहा, “हमें इस मैच से बहुत से सकारात्मक पहलु मिले हैं. हम सही दिशा में जा रहे हैं. मेरी शर्ट में जो भारत के लिए खेलने का बैज हैं. यह मेरे लिए बहुत गर्व की बात है. सभी प्रारूप में टीम को जीताने के लिए मुझसे जो भी होगा, मैं वह सब करना चाहूँगा. 

मैं कभी अपने व्यक्तिगत रिकॉर्डस के बारे में नहीं सोचता हूँ. मेरी सोच हमेशा टीम की जरूरत के बारे में होती है. टेस्ट क्रिकेट, हो या वनडे क्रिकेट आपके अंदर देश के लिए मैच जीतने की इच्छाशक्ति होनी चाहिए.”

Related posts