साउथ अफ्रीका के जुबैर हमजा ने कहा- मानसिक रूप से करनी चाहिए थी और तैयारी...

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

भारत के खिलाफ अर्धशतकीय पारी खेलने के बाद जुबैर हमजा ने बताया कहां हुई उनकी टीम से चूक 

भारत के खिलाफ अर्धशतकीय पारी खेलने के बाद जुबैर हमजा ने बताया कहां हुई उनकी टीम से चूक

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच खेली गई टेस्ट सीरीज प्रोटियाज ने 3-0 से हार का मुंह देखना पड़ा। तीनों मैचों में भारत की स्थिति मजबूत रही। बल्लेबाजों के साथ-साथ गेंदबाजों का भी बोलबाला रहा। सीरीज के तीसरे यानि रांची टेस्ट मैच की बात करें तो एक पल ऐसा आया था जब भारतीय कप्तान कोहली के माथे पर चिंता की लकीरें दिखी थी लेकिन फिर तुरंत ही गेंदबाजों ने कप्तान को राहत दी। हालांकि मैच टीम इंडिया ने एक पारी और 202 रनों से जीतकर विपक्षी टीम को क्लीन स्वीप कर दिया।

हमें मानसिक तैयारी करनी चाहिए थी

भारत के खिलाफ अर्धशतकीय पारी खेलने के बाद जुबैर हमजा ने बताया कहां हुई उनकी टीम से चूक 1

रांची टेस्ट मैच में साउथ अफ्रीका ने टीम काफी बदलाव के साथ उतरी थी। एडेन मार्करम के इंजरी के बाद जुबैर हमजा को प्लेइंग इलेवन में मौका मिला था। हमजा ने मौके का भरपूर फायदा उठाते हुए भारतीय गेंदबाजों के सामने 62 रन की पारी खेली थी।

उनकी इस पारी ने टीम इंडिया के खेमे को चिंता में डाल दिया था। मैच के बाद हमजा ने कहा- ‘‘मैं इतना ही कहूंगा कि हमें मानसिक रूप से बेहतर तैयारी करनी चाहिये थी।’’

हमजा ने की भारतीय गेंदबाजों की तारीफ

भारत के खिलाफ अर्धशतकीय पारी खेलने के बाद जुबैर हमजा ने बताया कहां हुई उनकी टीम से चूक 2

टीम इंडिया के गेंदबाजों की विकेटचटकाऊ गेंदबाजी के सामने अफ्रीकी टीम घुटने टेकती नजर आई। भारतीय गेंदबाजों के प्रदर्शन के बारे में बात करते हुए हमजा ने कहा,‘‘भारतीय खिलाड़ी काफी अनुशासित और पेशेवर हैं। मैं यह नहीं कहूंगा कि हमने तेज गेंदबाजों के खिलाफ अच्छी तैयारी नहीं की थी।

भारत में ऐसा लगता है कि स्पिनरों को खेलना कठिन होगा लेकिन तेज गेंदबाजों का प्रदर्शन भी बेहतरीन रहा। हम दो मैचों में दो दिन के भीतर दो बार आउट हो गए। यह काफी खराब प्रदर्शन है। हम बड़ी साझेदारियां नहीं बना सके।’’

बदलाव के दौर से गुजर रही है साउथ अफ्रीका

साउथ अफ्रीका की टीम इस वक्त बदलाव के दौर से गुजर रही है। एक तरफ सीनियर खिलाड़ियों ने संन्यास ले लिया है तो दूसरी तरफ टीम कोलपैक डील से भी प्रभावित है। ऐसे में टीम के पास युवा खिलाड़ी ही मौजूद हैं। एक्सपीरियंस की कमी के कारण बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों के सामने ढेर हो गए और गेंदबाज

Related posts