इंदौर टेस्ट : कोहली, रहाणे की बदौलत भारत बेहद मजबूत स्थित में/india are in strong position by kohli and rahane

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

इंदौर टेस्ट : कोहली, रहाणे की बदौलत भारत बेहद मजबूत स्थित में 

इंदौर टेस्ट : कोहली, रहाणे की बदौलत भारत बेहद मजबूत स्थित में

इंदौर, 9 अक्टूबर (आईएएनएस)| न्यूजीलैंड ने होल्कर क्रिकेट स्टेडियम में जारी तीसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन रविवार को भारत के 557 रनों के विशाल स्कोर के जवाब में अपनी पहली पारी में बिना विकेट गंवाए 28 रन बना लिए हैं। हालांकि किवी टीम पहली पारी के आधार पर अभी भी भारत से 529 रन पीछे है।

यह भी पढ़े : अपने जीवन पर बनी फ़िल्म के लिए सचिन तेंदुलकर नहीं लेंगे कोई पैसा

दिन का खेल खत्म होने तक मार्टिन गुप्टिल 17 रन और टॉम लाथम छह रन बनाकर नाबाद लौटे।

इससे पहले, भारतीय टीम ने कप्तान विराट कोहली (211) और उपकप्तान अंजिक्य रहाणे (188) की दमदार शतकीय पारियों की बदौलत पांच विकेट पर 557 रन बनाकर अपनी पहली पारी घोषित कर दी।

गौरतलब है कि न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत का यह तीसरा सर्वोच्च स्कोर है। इससे पहले 1999-2000 में भारत ने अहमदाबाद एकदिवसीय में न्यूजीलैंड के खिलाफ एक पारी में 583 रन और नागपुर एकदिवसीय में 566 रन बनाए थे।

कोहली और रहाणे की नायाब पारियों के बाद रोहित शर्मा (नाबाद 51) और रवींद्र जडेजा (17) ने तेज हाथ दिखाते हुए 5.38 की रन गति से 53 रन जोड़े और अंत तक नाबाद रहे।

रोहित ने 63 गेंदों की छोटी सी पारी में तीन चौके और दो छक्के जड़े।

पहले दिन शनिवार को शतक बनाकर नाबाद लौटे कोहली ने रहाणे के साथ साझेदारी को रविवार को मजबूती के साथ जारी रखा और चौथे विकेट के लिए 365 रन जोड़े। दोनों बल्लेबाजों के बीच हुई यह साझेदारी भारत की ओर से किसी भी विकेट के लिए पांचवीं सबसे बड़ी साझेदारी है।

कोहली भारत के ऐसे पहले कप्तान भी बन गए जिन्होंने टेस्ट मैच में दो-दो दोहरा शतक लगाने का कारनामा किया। कोहली ने इसी वर्ष वेस्टइंडीज दौरे पर पहला दोहरा शतक लगाया था।

मैच के पहले दिन मुरली विजय (10), गौतम गंभीर (29) और चेतेश्वर पुजारा (41) के विकेट गंवाने के बाद दोनों बल्लेबाजों ने तीन सत्रों तक किवी गेंदबाजों को छकाए रखा।

भारतीय पारी में ऐसा दूसरी बार हुआ है, जब चौथे और पांचवें नम्बर के बल्लेबाजों ने 150 से ज्यादा स्कोर किया हो। इससे पहले सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण यह कारनामा कर चुके हैं।

कोहली जीतन पटेल की गेंद पर पगबाधा करार दिए गए। कोहली ने 366 गेंदों की अपनी ‘विराट’ पारी में 20 चौके लगाए।

कोहली के बाद करियर की सबसे बड़ी पारी खेल रहे रहाणे भी दोहरे शतक की ओर बढ़ते लग रहे थे, लेकिन 504 के कुल योग पर ट्रेंट बोउल्ट ने उन्हें विकेट के पीछे कैच आउट करवा दिया।

रहाणे ने 381 गेंदों का सामना किया, जिसमें 18 चौके और चार छक्के जड़े।

किवी टीम के लिए बोल्ट और जीतन पटेल को दो-दो विकेट मिले। मिशेल सैंटनर को एक विकेट मिला।

भारत पहले ही तीन मैचों की श्रृंखला में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल कर चुका है।

Related posts