वेलिंगटन में मिली हार के बाद अपनी बल्लेबाजी पर बोले कोहली

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

वेलिंगटन में मिली हार के बाद अपनी बल्लेबाजी पर बोले भारतीय कप्तान विराट कोहली 

वेलिंगटन में मिली हार के बाद अपनी बल्लेबाजी पर बोले भारतीय कप्तान विराट कोहली

जब से न्यूजीलैंड का दौरा शुरू हुआ है. उसके बाद से 9 पारियों में से मात्र 2 बार विराट कोहली के बल्ले से रन निकले हैं. जिसमें भी उन्होंने बड़ा स्कोर नहीं बनाया था. जिसके कारण अब उनके फॉर्म पर भी सवाल उठ रहे हैं. वेलिंगटन के टेस्ट मैच में मिली हार के बाद अब भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने अपने बल्लेबाजी के बारें में बोला है.

वेलिंगटन टेस्ट के बाद अपनी बल्लेबाजी पर बोले कोहली

विराट कोहली

एकदिवसीय सीरीज के बाद अब न्यूजीलैंड के खिलाफ वेलिंगटन में खेले गये पहले टेस्ट मैच में बल्लेबाजी के दौरान रन ना बनाने वाले भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने प्रेस कांफ्रेस के दौरान अपने बल्लेबाजी के बारें में बोलते हुए कहा कि

” मैं बिलकुल ठीक हूँ, मैं अभी अच्छी बल्लेबाजी कर रहा हूँ. मुझे लगता है की कभी-कभी आपका स्कोर नहीं बताता है की आपने किस अंदाज में बल्लेबाजी की है. ऐसा तब होता है जब आप जो चाहते हो वो आप मैदान पर नहीं ला पाते हो. यदि आप लंबे समय से बहुत ज्यादा क्रिकेट खेल रहे हो तो बीच में ऐसी कुछ 3 से 4 पारियां आती है जहाँ पर आपके बल्ले से रन नहीं निकलते हैं. यदि उसके बाद आप उस बारें में बहुत कुछ करने लगते हैं तो समस्या आ जाती है.”

बाहर वालो की नहीं सुन सकता हूँ मैं हर बार

वेलिंगटन

लगातार मिल रहे सलाह के बारें में बोलते हुए भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा कि

” मेरे हिसाब से आपको मानसिक रूप से अच्छे स्थिति में होना होता है उसके बाद एक पारी में ही रन बनाते ही सबकुछ बदल जाता है. मैं उसके बारें में बहुत कुछ नहीं सोचता हूँ. यदि मैं भी बाहर के लोगो की तरह सोचना शुरू कर दिया होता तो मैं आज बाहर होता. रन बनाने के लिए आपको बस अपने खेल पर ध्यान देना होता है और मेहनत करनी पड़ती है. आप हर बार बस सुनकर ही सबकुछ नहीं कर सकते हैं. आप अच्छा करना चाहते हो और अगर वो नहीं होता है तो उसके बारें में ही हमेशा नहीं सोच सकते हैं.”

टीम के जीत को महत्वपूर्ण बताया विराट कोहली ने

टीम इंडिया

इस तरह से वेलिंगटन में मिली हार के बाद अगले मैच के बारें में बोलते हुए कहा कि

” अगले टेस्ट मैच में मैं अपने टीम को जीत दिलाने का प्रयास करूँगा. मैं कैसे प्रदर्शन करता हूँ ये मायने नहीं रखता है. टीम की जीत जरुरी है. मैं 40 रन बनाऊ और टीम जीत जाये वो अच्छा है लेकिन 100 के बाद भी टीम हार जाये तो कोई फर्क नहीं पड़ता.”

Related posts