भारत

टीम इंडिया जुलाई में श्रीलंका का दौरा करेगी. इस दौरे में भारत की बी टीम जाएगी, क्योंकि सीनियर टीम उस वक्त इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज की तैयारियों मे बिजी होगी. ऐसा पहली बार नहीं होगा कि जब भारत ने एक ही समय पर दो अलग-अलग टीमों के साथ क्रिकेट खेलगा. इससे पहले भी भारत ने साल 1998 में कॉमनवेल्थ गेम्स कॉमनवेल्थ गेम्स के दौरान अपनी दो टीमों के साथ अलग-अलग क्रिकेट खेली थी.

एक ही समय पर भारत की दो टीमों ने खेला अलग-अलग जगह क्रिकेट

भारत

1998 में कॉमनवेल्थ गेम्स में जब पहली बार क्रिकेट को शामिल किया गया था, तब भारत पाकिस्तान के खिलाफ कनाडा के टोरंटो में 5 वनडे मैचों की सीरीज भी खेलनी थी. टीम इंडिया को इसी के चलते अपनी दो टीमों को एक साथ-अलग-अलग जगह पर उतारना पड़ा था. कॉमनवेल्थ गेम्स मलेशिया के Kuala Lumpur में हुए थे.

इन खेलों में क्रिकेट को पहली बार शामिल किया गया था. ऑस्ट्रेलिया, भारत ,दक्षिण अफ्रीका समेत विश्व की सभी बड़ी टीमों ने इन खेलों में हिस्सा लिया था. दक्षिण अफ्रीका की टीम ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर गोल्ड मेडल जीता था. वो पहली क्रिकेट टीम थी, जिसने कॉमनवेल्थ गेम्स में पहली बार गोल्ड मेडल जीता था.

अजय जडेजा के नेतृत्व में भारत की टीम ने कॉमनवेल्थ गेम्स में लिया हिस्सा

भारत

कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत ने जो अपनी टीम उतारी थी उसके कप्तान अजय जडेजा थे वहीं टीम के कोच श्रीकांत थे. हालांकि टीम का इस टूर्नामेंट में प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था. भारत ने जडेजा की कप्तानी में मलेशिया में 14 सदस्यीय टीम को भेजा था जो इस प्रकार थी.

अजय जडेजा (कप्तान), निखिल चोपड़ा, विवियस लक्ष्मण, गगन खोड़ा, रॉबिन सिंह, सचिन तेंदुलकर, एमएसके प्रसाद, राहुल संघवी, देबासी मोहंती, अमय खुरासिया, हरभजन सिंह, रोहन गावस्कर, अनिल कुंबले (vc), पारस मम्ब्रे. कुल मिलाकर ये टीम बिल्कुल भी कमजोर नहीं थी. दक्षिण अफ्रीका की टीम ने इन खेलों में गोल्ड मेडल जीता था.

कॉमनवेल्थ गेम्स के दौरान भारत की दूसरी टीम ने अजहरूद्दीन की कप्तानी में पाकिस्तान से खेली वनडे सीरीज

भारत

कॉमनवेल्थ गेम्स के दौरान जब भारत की एक टीम मलेशिया में खेल रही थी तो वहीं दूसरी टीम अजहरूद्दीन की कप्तानी में कनाडा में पाकिस्तान के खिलाफ 5 वनडे मैचों की सीरीज खेल रही थी. इस सीरीज में टीम इंडिया को पाकिस्तान के हाथों हार का सामना करना पड़ा था.

पाकिस्तानी के खिलाफ वनडे सीरीज में भारत ने जो अपनी टीम उतारी थी वो इस प्रकार थी. मोहम्मद अजरुद्दीन (कप्तान), सौरभ गांगुली, नवजोत सिंह सिददु, राहुल द्रविड़, ऋषिकेश कानिटकर, जतिन परांजपे, नयन मोंगिया, सुनील जोशी, अजित अगरकर, जवागल श्रीनाथ, वेनकेटेस प्रशाद, संजय रौल.