विराट कोहली

विश्व क्रिकेट में अक्सर भारत में स्पिलिट कैप्टेंसी यानि अलग-अलग कप्तान बनाने को लेकर चर्चा होती रहती है। लेकिन बीसीसीआई ने अब तक इस विषय पर कभी कोई खास टिप्पणी नहीं दी है। महेंद्र सिंह धोनी के बाद 2014 में विराट कोहली को टेस्ट व 2017 में सीमित ओवर क्रिकेट की कप्तानी सौंप दी गई। मगर अब पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी टॉम मूडी ने भारत में स्प्लिट कैप्टेंसी पर टिप्पणी की है।

टॉम मूडी ने स्प्लिट कैप्टेंसी की राय

ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ने बताया, क्यों भारत में जरूरी है अलग-अलग फ़ॉर्मेट के अलग कप्तान 1

भारतीय क्रिकेट टीम का नेतृत्व तीनों फॉर्मेट्स में विराट कोहली करते हैं। विराट ने 2014 में टेस्ट व 2017 में सीमित ओवर क्रिकेट में कप्तानी करते हैं। लेकिन अक्सर ही भारतीय क्रिकेट टीम में भी अलग-अलग फॉर्मेट में अलग-अलग कप्तानों की नियुक्ति की बात होती है। अब इसी क्रम में पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी टॉम मूडी ने भी भारत में स्प्लिट कैप्टेंसी पर टिप्पणी की है। मूडी ने हर्षा भोगले के शो क्रिकबज पर बात करते हुए कहा,

“भारत का उदाहरण शायद सबसे हाई-प्रोफाइल है, मैं केवल विराट कोहली को लंबे समय तक खेलते देखने के लिए अलग-अलग कप्तानी को देखना पसंद करूंगा। हम जानते हैं विराट एक सुपरस्टार है और उनको देखना बहुत सुखद है, चाहे वो एक कप्तान के तौर पर हो या बल्लेबाज के।”

विराट का करियर बढ़ जाएगा

तीनों फॉर्मेट्स में कप्तानी करना किसी भी कप्तान के लिए आसान नहीं होगा। इतना ही नहीं विराट आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर की भी कप्तानी करते हैं। इससे उनपर काफी दबाव है। ऐसे में उनके करियर व उनकी फिटनेस पर भी असर पड़ सकता है। अब मूडी ने आगे कहा,

“यह एक पूरी तरह से अलग दबाव है। और मुझे चिंता होगी कि अगर कोहली कप्तानी की तीनों भूमिकाएं निभाते हैं, तो क्या हम खेल के सबसे महान खिलाड़ियों में से एक के दो से तीन साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कम होते देख रहे हैं? “

रोहित को सौंपी जा सकती है सीमित ओवर टीम की कमान

विराट कोहली

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को 2017 में सीमित ओवर टीम की कप्तानी सौंपी गई। लेकिन टी20 क्रिकेट की कमान जब भी रोहित शर्मा को सौंपी गई है, तब-तब रोहित ने अपनी काबीलियत साबित करते हुए टीम को खिताब जिताया है। रोहित ने भारत को 2018 में एशिया कप व निदहास ट्रॉफी जिताई है।

इसके अलावा आईपीएल में भी रोहित के पास सर्वाधिक 4 खिताब जीते हैं। ऐसे में यदि सीमित ओवर क्रिकेट में कप्तानी का विकल्प तलाशते हैं, तो मौजूदा वक्त में रोहित शर्मा एक परफैक्ट विकल्प होंगे। साथ ही रोहित शर्मा सीमित ओवर में शानदार प्रदर्शन करते हुए आगे बढ़ रहे हैं।