भारत को अब भी टेस्ट में मजबूत ओपनिंग पेयर की जरूरत

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

5 सालों में 15 लोगों को आजमाने के बाद भी अब तक नहीं मिला मिला टीम इंडिया को टेस्ट ओपनर 

5 सालों में 15 लोगों को आजमाने के बाद भी अब तक नहीं मिला मिला टीम इंडिया को टेस्ट ओपनर

किसी भी क्रिकेट टीम के लिए उनकी सलामी जोड़ी सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होती है। किसी भी टीम के लिए सलामी जोड़ी के द्वारा अच्छी शुरुआत देने के बाद टीम को एक नींव मिल जाती है जिस पर बड़े से बड़े स्कोर को बनाया जा सकता है। इसी तरह से भारतीय क्रिकेट टीम में सलामी बल्लेबाजों की चर्चा काफी ज्यादा रही है।

भारतीय टीम को एक अदद सलामी जोड़ी की सफलता का इंतजार

भारतीय क्रिकेट टीम के पास कुछ सालों पहले तक यानि जब वीरेन्द्र सहवाग और गौतम गंभीर पारी की शुरुआत करते थे तो इस जोड़ी को बेजोड़ माना जाता था। इस जोड़ी ने भारत हो या भारत से बाहर हमेशा बेहतर से बेहतर किया है।

5 सालों में 15 लोगों को आजमाने के बाद भी अब तक नहीं मिला मिला टीम इंडिया को टेस्ट ओपनर 1

लेकिन इस जोड़ी के टूटने के बाद भारतीय टीम को एक अच्छी सलामी जोड़ी का इंतजार है। वनडे की बात करें तो भारत के पार रोहित शर्मा और शिखर धवन के रूप में सफलतम जोड़ी है जिन्होंने अपास विश्वास दिखाया है।

रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल का भी विदेशी जमीं पर हो सकता है असली आंकलन

लेकिन टेस्ट क्रिकेट में भारतीय टीम को पिछले 5-6 साल में एक बेहतर सलामी जोड़ी के रूप में काफी परेशानी का सामना करना पड़ा है। वैसे पिछले साल रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल की जोड़ी पर भरोसा दिखाया और इस जोड़ी ने बेहतर भी किया लेकिन असली परीक्षा तो विदेशी मैदान में होती है उसी के बाद कुछ आंकलन किया जा सकता है।

5 सालों में 15 लोगों को आजमाने के बाद भी अब तक नहीं मिला मिला टीम इंडिया को टेस्ट ओपनर 2

न्यूजीलैंड का इस साल की शुरुआत में भारत ने दौरा जरूर किया लेकिन वहां रोहित शर्मा चोटिल थे ऐसे में भारत को फिर से मयंक अग्रवाल के साथ पृथ्वी शॉ उतारना पड़ा और वहां भी नाकामी ही रही। रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल अब आने वाले ऑस्ट्रेलिया के विदेशी दौरे पर ओपनिंग करेंगे लेकिन उनके लिए ये चुनौती आसान नहीं रहेगी।

पिछले 5 साल में 15 खिलाड़ियों को मिला ओपनिंग का मौका, नहीं नजर आया विश्वास

भारत को टेस्ट में ओपनिंग के लिए इस कदर परेशान होना पड़ा है कि पिछले 5-6 साल में भारतीय टीम मैनेजमेंट ने करीब 15 जोड़ियों को अजमाया है लेकिन किसी भी जोड़ी ने वो काम नहीं दिखाया जिससे कि कहा जा सके कि ये जोड़ी फिट बैठ रही है।

5 सालों में 15 लोगों को आजमाने के बाद भी अब तक नहीं मिला मिला टीम इंडिया को टेस्ट ओपनर 3

भारतीय टीम मैनेजमेंट ने अब तक पिछले इन सालों में टेस्ट में ओपनिंग के लिए रोहित शर्मा, केएल राहुल, मयंक अग्रवाल, शिखर धवन, पृथ्वी शॉ, हनुमा विहारी, अभिनव मुकुंद, चेतेश्वर पुजारा, और गौतम गंभीर जैसे खिलाड़ियों को अजमाया लेकिन किसी में भी टेस्ट में बेस्ट शुरुआत देने का जज्बा नहीं दिखा।

ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर ओपनिंग जोड़ी को दिखाया होगा दम

इस दौरान केएल राहुल को सबसे ज्यादा 32 टेस्ट मैच, मुरली विजय को 29 टेस्ट, शिखर धवन को 21 टेस्ट और मयंक अग्रवाल को 11 टेस्ट मैच में ओपनिंग की जिम्मेदारी तो मिली लेकिन इनमें से कोई खास कमाल नहीं कर सका।

5 सालों में 15 लोगों को आजमाने के बाद भी अब तक नहीं मिला मिला टीम इंडिया को टेस्ट ओपनर 4

भारतीय टीम को इस साल के अंत में ऑस्ट्रेलिया के मुश्किल दौरे पर जाना है जहां ओपनिंग जोड़ी का महत्व अपने आप में खास बन जाता है। इसके लिए वैसे तो रोहित और मयंक की जोड़ी का संभव नाम है लेकिन साथ ही केएल राहुल, मुरली विजय और शिखर धवन भी किसी तरह से इंतजार कर रहे हैं।

Related posts