/

नागपुर में होने वाले टी-20 से पहले भारतीय क्रिकेट के लिए आई बुरी ख़बर

भारत और इंग्लैंड के बीच नागपुर में खेले जाने वाले टी-ट्वेंटी के दौरान प्रेसिडेंट बॉक्स बंद रहेगा. दरअसल विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन(वीसीए) ने फ़ैसला किया है, कि 29 जनवरी को होने वाले इस मुक़ाबले में रिज़र्व बीसीसीआई प्रेसिडेंट बॉक्स खाली रहेगा. क्यूंकि मौजूदा समय में बीसीसीआई प्रेसिडेंट पद पर कोई नहीं हैं.

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

2 जनवरी को सुप्रीमकोर्ट ने बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर और सचिव अजय शिर्के को बर्ख़ास्त किया था, जब से बीसीसीआई अध्यक्ष का पद ख़ाली हैं.राजस्थान क्रिकेट संघ ने अपनाई लोढ़ा समिति की सिफारिशें, बीसीसीआई में हो सकती है आईपीएल शुरू करने वाले बड़े नाम की वापसी

एसोसिएशन की ख़बर की पुष्ठी करते हुए विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष आनंद जायसवाल ने कहा,

“हमारे पास प्रेसिडेंट बॉक्स है ना कि सेक्रेट्री बॉक्स. बोर्ड के प्रेसिडेंट के आलावा हम किसी को टिकट नहीं देगे. यहाँ बॉक्स में 60-70 सीट हैं. दिशानिर्देशों के अनुसार, हमे बीसीसीआई को कुछ टिकट देने चाहिए. जब तक वहाँ एक बोर्ड प्रेसिडेंट है, अब  हम किसी को टिकट आवंटित नहीं कर सकते.”

जायसवाल ने यह भी कहा, कि विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन ने बॉक्स की टिकट आवंटित का फ़ैसला थोडा जल्दी लिया, अगर बॉक्स मामले में कोई टिकट नहीं आवंटित किया है, तो यह जानकारी बीसीसीआई को दे दी जाएगी.

जायसवाल ने कहा,

“मैं ऑफिस से यह जानकारी लूँगा कि इस विषय पर बीसीसीआई को सूचित किया गया है यह नहीं. हम एक बैठक करेगे और फ़ैसला करेगे, कि बॉक्स टिकट का क्या करना हैं. हम इस पर आज कोई फ़ैसला नहीं ले सकते है, हमे नहीं पता आने वाले दिनों में कौन बीसीसीआई अध्यक्ष होगा.”

बीसीसीआई पिछले कुछ वर्षो से मैच स्थानों पर मौजूद प्रेसिडेंट बॉक्स की वीआईपी सीट का प्रयोग सरकारी एजेंसियों, प्रायोजकों, राजनेताओं और नौकरशाहों और के बैठने के लिए करता आया हैं. प्रेसिडेंट और बोर्ड के सचिव का 50-50 टिकट का रिजर्व कोटा होता हैं. जिन्हें वे अपनी इच्छा अनुसार किसी को भी वितरित कर सकते हैं.युवराज सिंह ने कुछ इस अंदाज़ में मनाया टीम में जगह मिलने का जश्न, जिसकी उम्मीद किसी को नहीं थी