शाहबाज नदीम ने बताया, रांची टेस्ट के बाद मिलकर धोनी ने दी थी ये एडवाइस

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज जीतने के बाद नदीम ने बताया, धोनी ने मिलकर कही ये बात 

साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज जीतने के बाद नदीम ने बताया, धोनी ने मिलकर कही ये बात

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच तीसरा और आखिरी टेस्ट मैच रांची में खेला गया। इस मैच में टीम का हौसला बढ़ाने पहुंचे पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने मैच जीतने के बाद खिलाड़ियों को बधाई दी। साथ ही धनबाद के 30 वर्षीय खिलाड़ी शाहबाज नदीम से बात करते हुए उनकी गेदंबाजी की तारीफ की। अब नदीम ने टाइम्स ऑफ इंडियो को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में बताया कि धोनी ने उन्हें क्या सुझाव दिए थे।

इंतजार लंबा था लेकिन रिजल्ट काफी अच्छा रहा

शाहबाज नदीम

15 साल तक घरेलू क्रिकेट खेलने के बाद 30 वर्षीय शाहबाज नदीम को आखिरकार टीम इंडिया से बुलावा आया। रांची टेस्ट मैच में 2 पारियों में 4 विकेट लेने वाले नदीम ने टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए एक्सक्लूजिव इंटरव्यू में बताया, इंतजार बहुत लंबा था लेकिन उसका रिजल्ट काफी अच्छा था। मुझे टीम में एक बैकअप ओपनर के तौर पर रखा गया था मुझे नहीं लगा था कि टेस्ट डेब्यू करने का मौका मिलेगा। लेकिन जब कॉल मिला तो मैंने बैग्स पैक किए और रांची पहुंच गया। ब

स से सफर करके रांची पहुंचने के बाद जब मैं अगली सुबह उठा तो कप्तान कोहली मेरे पास आए और उन्होंने बताया कि कहा कि आज तुम खेलोगे। मैं हैरान हो गया। मैं बहुत खुश हुआ जब उन्होंने ग्राउंड पर मुझे डेब्यू कैप दी ऐसा लगा मानो सालों का सपना सच हो गया। मेरी कड़ी मेहनत का मुझे फल मिला, यह मेरे लिए हमेशा सबसे खास मूमेंट रहेगा।

धोनी ने मैच के बाद मिलकर दिया सुझाव: नदीम

साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज जीतने के बाद नदीम ने बताया, धोनी ने मिलकर कही ये बात 1

महेंद्र सिहं धोनी सभी खिलाड़ियों के लिए फादर फिगर हैं। फिर चाहें वह विराट कोहली हो या रोहित शर्मा। हर कोई उन्हें सम्मान देता है और उनसे सलाह लेता है। ऐसे में रांची टेस्ट देखने पहुंचे धोनी मैच खत्म होने के बाद धनबाद के क्रिकेटर नदीम से मिले और उनकी गेंदबाजी की तारीफ की। टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए धोनी ने कहा, हां, मैं मैच के बाद उनसे मिला।

मैंने उनसे पूछा कि माही भाई, अब मैं आगे क्या कैसे करूं… तो उन्होंने मुझसे कहा, तुम मैच्योर गेंदाबाजी करते हो मैंने देखा…तुम्हारी गेंदबाजी में मैच्योरिटी है क्योंकि तुमने घरेलू स्तर पर काफी खेला है। कि तुम जिस तरह से गेंदबाजी करते हो, वही तुम्हारी पहचान है, उसे बदलने की कोशिश मत करना। तु

म जिस तरह से खेलते हो, बस उसे ही जारी रखना। अलग से कोई दबाव लेने से खेल प्रभावित हो सकता है। तुम्हारा नेचुरल खेल ही तुम्हें आगे भी सफलता दिलाएगा।

Related posts