इंदौर में भारत का जीतना तय, इस कारण भारत टी-20 में भी देगा श्रीलंका को मात 1

भारत और श्रीलंका के बीच कटक में खेले गए पहले पहले टी 20 मैच में भारत ने श्रीलंका को ऐतिहासिक 93 रनों से मात दी थी इस करण भारतीय टीम अभी टी 20 सीरीज में 1-0 से आगे है और आज सीरीज का दूसरा मुकाबला इंदौर के होलकर स्टेडियम में खेला जाएगा । इसी बीच आपको बता दें कि भारत और श्रीलंकाई टीमें टी20 सीरीज के दूसरे मैच के लिए मध्य प्रदेश के इंदौर शहर पहुंच चुकी हैं।

आपको बता दें कि यह दूसरा मुकाबला दोनों ही टीमों के लिए अहम् हैं क्योंकि भारतीय टीम की नजरें रहेंगी कि वो यह मैच जीतकर सीरीज पर कब्ज़ा कर सकें और वहीं श्रीलंका की टीम की निगाहें रहेगी कि वो इस मैच को जीतकर सीरीज में वापसी कर सकें । जी हाँ, आपको याद दिला दें कि भारत ने कटक में खेले गए पहले टी 20 मैच में श्रीलंका को 93 रनों से हरा दिया था ।

इसी बीच आपको बता दें कि मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ (एमपीसीए) के एक अधिकारी ने बताया है कि भारत और श्रीलंका की टीमें भुवनेश्वर से एक विशेष विमान से इंदौर के देवी अहिल्याबाई होलकर हवाई अड्डे पहुंचे हैं। इसके बाद दोनों टीमों को अलग अलग बसों द्वारा होटल तक पहुँचाया गया हैं । इसी बीच खिलाड़ियों की एक झलक पाने के लिए हवाई अड्डे पर काफी भीड़ इकठ्ठा हो गयी थी ।

इंदौर में भारत का जीतना तय, इस कारण भारत टी-20 में भी देगा श्रीलंका को मात 2

होलकर स्टेडियम में शानदार प्रदर्शन रहा हैं भारत का

आपको बता दें यह होलकर स्टेडियम तक़रीबन 27,300 दर्शकों की क्षमता रखता हैं। आपको याद दिला दें कि मेजबान टीम ने अब तक 5 वनडे मैच खेले है जबकि एकमात्र टेस्ट मैच खेला है जिसमें भारत को जीत ही मिली हैं इस प्रकार भारतीय टीम के लिए यह स्टेडियम बहुत ख़ास मान सकते है।

इसी प्रकार श्रीलंका की टीम करीब 20 सालों बाद आज होलकर स्टेडियम पर मैच खेलने उतरने वाली हैं। बता दें कि श्रीलंका की टीम पिछली बार 1997 में इंदौर पहुंची थी, हालांकि उस समय भारत और श्रीलंका के बीच होलकर क्रिकेट ग्राउंड पर मैच नहीं हुआ था, क्योंकि उस समय यह होलकर स्टेडियम नहीं बना हुआ था। इस कारण मुकाबला नेहरू स्टेडियम में आयोजित किये जाते थे।

लेकिन आपको बता दें तब नेहरू स्टेडियम पर भी एक इंट्रेस्टिंग रुख आया था जी हाँ, बता दें कि उस समय अर्जुन रणतुंगा की कप्तानी वाली टीम की बल्लेबाजी कर रही थी, लेकिन श्रीलंका की टीम ने महज तीन ही ओवर खेले थे और बाद में पिच को ख़राब मानते हुए उस समय के भारतीय टीम के कप्तान सचिन तेंदुलकर से उस खराब पिच को लेकर चर्चा हुई थी और आखिरकार दोनों कप्तानों ने यह निर्णय लिया और मैच को रद्द करा दिया था।

RAJU JANGID

क्रिकेट का दीवाना हूँ तो इस पर लिखना तो बनता है।

Leave a comment