रवि शास्त्री

कोरोना वायरस के कारण क्रिकेटरों का जीवन काफी मुश्किल हो चला है। कोरोना के बीच क्रिकेटरों को बायो बबल के जाल में रहना पड़ रहा है। इतनी ज्यादा सख्ती और एक घेरे में रहना क्रिकेटरों के लिए काफी परेशान करने वाला है। जिससे खिलाड़ियों में मानसिक थकान की स्थिति उत्पन्न हो जाती है।

भारत की 2 टीमें एक ही समय खेलेंगी अलग-अलग

इसी बीच बीसीसीआई ने भारतीय क्रिकेट टीम को एक ही समय में दो अलग-अलग दौरों पर दो अलग-अलग टीमें भेजने का फैसला किया है। जिसमें विराट कोहली की कप्तानी में एक मुख्य टीम इंग्लैंड के लंबे दौरे के लिए पहुंच चुकी हैं।

मोहम्मद शमी

विराट कोहली की अगुवाई में एक टीम जहां इंग्लैंड में खेलेगी, तो वहीं जुलाई में भारतीय टीम श्रीलंका का दौरा करने जा रही है, जहां पर भारत की एक दूसरी टीम जाएगी। ऐसे में भारत की अलग-अलग टीमें एक ही समय में अलग-अलग जगह पर खेलेंगी।

कोहली के बाद रवि शास्त्री ने भी दिया स्पिल्ट कैप्टेंसी का संकेत

भारतीय क्रिकेट टीम के अलग-अलग खेलने को लेकर भारत के कप्तान विराट कोहली ने अपनी बात रखी थी, जिसके बाद अब भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने भी प्रतिक्रिया दी है। रवि शास्त्री ने कहा कि ये चीज दुनिया के लिए आदर्श बन सकती है।

भारतीय कोच रवि शास्त्री ने कर दिया साफ़ टीम इंडिया में होगा विराट के अलावा एक और कप्तान 1

रवि शास्त्री ने कहा कि

“एक ही समय में अलग-अलग स्थानों की यात्रा करने वाली दो भारतीय टीमें बायो बबल की मानसिक रूप से जलती हुई दुनिया में एक आदर्श बन सकती है। क्रिकेटर इस समय कोरोना वायरस के कारण बायो बबल में रहने को मजबूर हैं, ऐसे में दो टीमों को अलग-अलग जगह भेजने का ट्रेंड भी बन सकता है।”

इससे आप कर सकते हैं टी20 का प्रचार-प्रसार

भारत के कोच ने आगे कहा कि

“एक समय में दो अलग जगहों पर दो टीमों के साथ खेलने से ये आगे चलकर नियमित संभावना बन सकती है। फिलहाल ये मौजूदा स्थिति और यात्रा पर प्रतिबंध और उस तरह की चीजों के कारण हो रहा है। लेकिन आप कभी नहीं जान पाते। भविष्य में अगर  आप खेल का विस्तार करना चाहते हैं, विशेष रूप से छोटे प्रारूपों में, तो ये एक सही रास्ता हो सकता है।”

भारतीय कोच रवि शास्त्री ने कर दिया साफ़ टीम इंडिया में होगा विराट के अलावा एक और कप्तान 2

रवि शास्त्री ने आगे कहा कि

“जब आपके पास क्रिकेटरों की इतनी संख्या है और अगर आप दुनिया भर में टी20 खेल का प्रसार करना चाहते हैं, तो ये आगे का रास्ता हो सकता है, क्योंकि अगर आप चार या आठ साल में ओलंपिक की बात कर रहे हैं, तो आपको खेल खेलने के लिए और देशों की आवश्यकता है। इसलिए ये आगे का रास्ता हो सकता है।”