india-will-play-day-night-test-against-new-zealand-anurag-thakur

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

न्यूज़ीलैंड के खिलाफ अपना पहला डे-नाइट टेस्ट खेलेगा भारत : अनुराग ठाकुर 

न्यूज़ीलैंड के खिलाफ अपना पहला डे-नाइट टेस्ट खेलेगा भारत : अनुराग ठाकुर

नई दिल्ली। क्रिकेट के मैदान पर प्रशंसकों की संख्या बढ़ाने के मद्देनजर बीसीसीआई पहली बार डे-नाइट टेस्ट की मेजबानी करने की तैयारी कर रहा है। बीसीसीआई पहली बार गुलाबी गेंद से खेले जाने वाले डे-नाइट टेस्ट को आयोजित करायेगा जब इस वर्ष न्यूज़ीलैंड की टीम भारत का दौरा करेगी।

न्यूज़ीलैंड के खिलाफ अपना पहला डे-नाइट टेस्ट खेलेगा भारत : अनुराग ठाकुर 1

बीसीसीआई के सचिव अनुराग ठाकुर ने राजधानी में बीसीसीआई के हेडक्वाटर्स में पत्रकारों से कहा, ‘हमने फैसला किया है कि न्यूज़ीलैंड के खिलाफ गुलाबी गेंद से इस वर्ष एक डे-नाइट टेस्ट मैच खेलेंगे।’ इस टेस्ट से पहले दुलीप ट्रॉफी के माध्यम से डे-नाइट टेस्ट की तैयारियों को परखा जाएगा।

ठाकुर ने कहा कि दुलीप ट्रॉफी में डे-नाइट टेस्ट आयोजित कराने का मकसद यह देखना है कि कुकाबुरा की गेंद उप-महाद्वीप परिस्थितियों में कैसा बर्ताव करेगी।

ठाकुर ने कहा, ‘हमने अभी तक स्थान तय नहीं किया है, लेकिन कई कारणों पर पहले से ध्यान देना होगा। चीजें जैसे ओस की भूमिका और भारतीय पिचों पर स्पिनर्स कैसे गुलाबी कुकाबुरा से गेंदबाजी करेंगे। दुलीप ट्रॉफी के दौरान इनसे एक आइडिया मिल जाएगा।’

यह उम्मीद की जा रही है कि दुलीप ट्रॉफी के मैच में सभी दिग्गज भारतीय खिलाड़ी खेलते नजर आएंगे ताकि उन्हें डे-नाइट टेस्ट और गुलाबी गेंद से खेलने का अनुभव मिले और वह टेस्ट से पहले बोर्ड को पर्याप्त प्रतिक्रिया दे पाएं।

भारत में टेस्ट मैचों में ‘एसजी टेस्ट’ गेंदों का इस्तेमाल होता है, वहीं ठाकुर ने कहा है कि इस मैच के लिए ‘गुलाबी कुकाबुरा’ गेंद का उपयोग किया जाएगा।

ठाकुर ने कहा, ‘हम एसजी को गुलाबी गेंद बनाने के लिए बाद में पूछेंगे, लेकिन उसकी क्वालिटी उसी गुलाबी गेंद जैसी होना चाहिए जैसी कुकाबुरा बनाता है।’

अब तक सिर्फ दो देश- ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड ने एकमात्र डे-नाइट टेस्ट पिछले वर्ष खेला था, जो काफी सफल रहा। इस वर्ष ऑस्ट्रेलिया की टीम पाकिस्तान के खिलाफ ब्रिसबेन में डे-नाइट टेस्ट खेलने वाली है। इस बीच यह भी खबरें आ रही है कि दक्षिण अफ्रीका ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डे-नाइट टेस्ट खेलने को लेकर खुश नहीं है।

भारतीयों के लिए भारत में डे-नाइट टेस्ट खेलना बड़ी उपलब्धि होगी। न्यूज़ीलैंड की टीम इस वर्ष तीन और पांच वन-डे खेलने के लिए भारत का दौरा करेगी। न्यूज़ीलैंड को पिंक बॉल से खेलने का अनुभव है। अगर भारत डे-नाइट टेस्ट खेलने के लिए राजी हुआ तो लोगों में मैदान में आने के लिए जोश भरेगा।

Related posts