विकिपीडिया के अनुसार बिना फाइनल खेले ही इंग्लैंड को मात देकर आईसीसी विश्वकप 2017 का चैंपियन बना भारत | Sportzwiki

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

विकिपीडिया के अनुसार बिना फाइनल खेले ही इंग्लैंड को मात देकर आईसीसी विश्वकप 2017 का चैंपियन बना भारत 

विकिपीडिया के अनुसार बिना फाइनल खेले ही इंग्लैंड को मात देकर आईसीसी विश्वकप 2017 का चैंपियन बना भारत

भारतीय महिला टीम विमेंस वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मुकाबले में धमाकेदार जीत दर्ज कर फाइनल में पहुची. ये तो हम सब को पता है लेकिन आपको पता है, कि भारतीय टीम ने इंग्लैंड में फाइनल मुकाबला भी खेल लिया है और उसमे इंग्लैंड को उसी की जमीं पर पटखनी देकर चारो खाने चित्त कर दिया है और 2017 आईसीसी विमेंस वर्ल्डकप अपने नाम कर लिया है और अपना नाम इतिहास के पन्नो में भी दर्ज करा लिया है. आप कहेंगे कि हमे पागल समझा है क्या. तो आप को बता दे न ही हमने आप को पागल समझा है न ही हमारा दिमाग खराब हुआ है, बल्कि हम आप को विश्वस्त सूत्रों के हवाले से खबर दे रहे हैं.

कल ही कंगारुओं को जम के धोया है-

 

भारतीय महिला टीम ने दुसरे सेमीफाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया को नाकों चने चबाने को मजबूर कर दिया न केवल बैटिंग से बल्कि, बॉलिंग से भी. उन्हें कहीं भी संभलने का मौका नही दिया. जिसमे हरमनप्रीत ने अहम योगदान रहा वो कंगारु पर कहर बन कर टूट पड़ीं. हरमनप्रीत ने पहले 64 गेंद पर अपना अर्धशतक पूरा किया. इसके बाद उन्होंने गियर बदला. फिर धुआंधार बल्लेबाजी करते हुए 90 गेंदों में अपना शतक पूरा किया. इसके बाद 107 गेंद में 150 रन पूरे किए। कौर ने अपनी आतिशी पारी में 20 चौके और सात गगनचुंबी छक्के जड़े. अंत में वह 115 गेंद में 171 रन बनाकर नाबाद रहीं. दीप्ति शर्मा ने उनका बीच में अच्छा साथ दिया. दीप्ति ने 25 रन बनाए. अंत में कृष्णामूर्ति 16 रन बनाकर नाबाद रहीं. फिर गेंदबाजी में भी वही रंग दिखा और भारतीय वीरांगनाओं ने 40.1 ओवर में 245 रन पर ढेर कर दिया.

फिर फ़ाइनल कब हुवा-

अब आप सोच रहे होंगे अगर कल ही सेमी फाइनल हुआ है तो फिर फाइनल कब हुआ. क्या लगातार सेमी फाइनल के बाद फाइनल करा दिया गया, तो हम बता दें नही. दरअसल भारत ने सेमी फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को हराया उसके बाद विकीपीडिया पर दिखाई देने लगा, कि इंडिया अब वर्ल्डकप जीत गयी है और इंग्लैंड रनरअप रही है. ये खबर हमारे लिए भी आश्चर्यचकित करने वाली थी, तो हमने कहा क्यों न इसे आप से साझा किया जाए.

वैसे हमें कुछ भी जानकारी चाहिये होती है तो हम विकिपीडिया का ही रुख करते है और फिर हमारे ”यो-यो हनी सिंह ने भी तो कहा था, कि मेरे बारे में विकीपीडिया पे पढ़ लो.”

Related posts