बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने बताया क्यों 2007 के बाद टी-20 विश्व कप नहीं जीत सका भारत

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

भारतीय टीम के बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने बताया क्यों 2007 के बाद टी-20 विश्व कप नहीं जीत सका भारत 

भारतीय टीम के बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने बताया क्यों 2007 के बाद टी-20 विश्व कप नहीं जीत सका भारत

भारतीय टीम का घरेलू अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट सीजन रविवार को शुरू होने वाला था, लेकिन बारिश की वजह से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहला टी ट्वेंटी मैच रद्द हुआ और अब भारतीय टीम दूसरे टी ट्वेंटी मैच के लिए मोहाली पहुंच गयी हैं.

भारतीय टीम के बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने बताया क्यों 2007 के बाद टी-20 विश्व कप नहीं जीत सका भारत 1

तीन मैचों की टी ट्वेंटी सीरीज का एक मैच तो बारिश के भेट चढ़ गया है, लेकिन अगले 2 टी ट्वेंटी मैच काफी महत्वपूर्ण होने वाले हैं. अगले साल होने वाले टी ट्वेंटी विश्वकप से पहले अब हर एक टी ट्वेंटी मैच काफी महत्वपूर्ण होगा जिससे हमे ये पता चलेगा कि अगले साल होने वाले टी ट्वेंटी विश्वकप में भारतीय टीम में कौन से 15 खिलाड़ी होने वाले हैं.

विक्रम राठौड़ ने बताया 2007 के बाद टी-20 विश्व कप न जीतने की वजह

भारतीय टीम के बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने बताया क्यों 2007 के बाद टी-20 विश्व कप नहीं जीत सका भारत 2

अब मोहाली में होने वाले दूसरे टी ट्वेंटी मैच से पहले भारतीय टीम के बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने एक बड़ी बात कहीं हैं. विक्रम राठौड़ ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि,

“पहले शायद हमारी टीम अंतरराष्ट्रीय टी ट्वेंटी मैचों को इतना महत्व नहीं देती थी, लेकिन अब अगले साल होने वाले टी ट्वेंटी विश्वकप को देखते हुए हमारी टीम हर एक टी ट्वेंटी मैच को गंभीरता से लेगी और विश्वकप से पहले जितने भी मैच हैं, उसको एक तैयारी के तौर पर लेगी और अच्छे से अच्छा प्रर्दशन करके हम सर्वश्रेष्ठ 15 खिलाड़ी चुनेंगे.”

2007 से भारत नहीं जीत सका टी-20 विश्व कप

भारतीय टीम के बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने बताया क्यों 2007 के बाद टी-20 विश्व कप नहीं जीत सका भारत 3

भारतीय टीम ने साल 2007 में पहला टी ट्वेंटी विश्वकप जीता था, लेकिन उसके बाद से भारतीय टीम कभी टी ट्वेंटी विश्वकप नहीं जीत पायी है और इसका मुख्य कारण है कि हमारी टीम ने टी ट्वेंटी क्रिकेट को इतना गंभीरता से नहीं लिया जितना लेना चाहिए था. जैसे काफी खिलाड़ियों को ज्यादातर आराम देना ये एक बड़ी वजह रहीं है.

अब अगले साल होने वाले टी ट्वेंटी विश्वकप से पहले भारत 20 और टी ट्वेंटी मैच खेलेगा, जिसमें भारतीय टीम एक अच्छी टी ट्वेंटी बना सकती है और इसकी शुरुआत दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज से ही होगी. अब गंभीरता से लेने का क्या नतीजा हमे देखने को मिलता है ये देखना दिलचस्प होगा.

Related posts