भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अफगानिस्तान को टेस्ट नेशन का दर्जा मिलने पर जताई बेहद खुशी 1

पिछले कुछ समय से क्रिकेट जगत में अफगानिस्तान की टीम ने अपने शानदार खेल के जरिये एक बढ़ते हुए क्रिकेट देश की तरफ कदम बढाए हैं. अफगानिस्तान को अन्तर्राष्ट्रीय  क्रिकेट परिषद ने इस साल जून में आयरलैंड के साथ टेस्ट मैच खेलने का दर्जा दिया जिसके बाद अब भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इस बात की तारीफ़ की हैं और उन्होंने साथ में ये भी कहा कि अफगानिस्तान ने अपने प्रयास और मेहनत के जरिये इस दर्जे को प्राप्त किया हैं.

भारत का रहा काफो सहयोग

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अफगानिस्तान को टेस्ट नेशन का दर्जा मिलने पर जताई बेहद खुशी 2

अफगानिस्तान को क्रिकेट में आगे बढने में भारत ने काफी मदद की हैं, क्योकि अफगानिस्तान में युद्ध की वजह से एक ऐसा माहौल था, जिसमे किसी के लिए भी क्रिकेट खेलना काफी कठिन था और उनके यहाँ पर अन्तर्राष्ट्रीय दर्जे का स्टेडियम भी नहीं था, जिसमे वे अपने क्रिकेट का अभ्यास कर सके. इसके बाद भारत ने इस मामले में अफगानिस्तान की मदद करते हुए उन्हें वो सारी सुविधा उपलब्ध कराइ जो एक अन्तर्राष्ट्रीय टीम को मिलती ही साथ में उन्हें ग्रेटर नॉएडा में मैदान भी दिया जिसमे वे अपने सभी घरेलू अन्तर्राष्ट्रीय मैच खेल सके.

भारत – अफगानिस्तान के रिश्ते पर बोला

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अफगानिस्तान को टेस्ट नेशन का दर्जा मिलने पर जताई बेहद खुशी 3

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इंडो – अफगानिस्तान रणनीति साझेदारी काउंसिल की बैठक में हिस्सा ले रही थी, जिसमे और भी मंत्री हिस्सा ले रहे थे . इस बैठक में   सलाहुद्दीन रब्बानी के बाद भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बोला कि “टेस्ट नेशन मिलना इस बात का सबूत हैं, कि इस देश के लोगो में एक अदम्य क्षमता हैं” इसके बाद सुषमा स्वराज ने इस बात को भी कन्फर्म किया कि भारत अफगानिस्तान से अपने रिश्ते को आगे और भी मजबूत करेगा.

अफगानिस्तान झुका नहीं

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अफगानिस्तान को टेस्ट नेशन का दर्जा मिलने पर जताई बेहद खुशी 4

सुषमा स्वराज ने अपने बयान में कहा कि “अफगानिस्तान को टेस्ट मैच खेलने का दर्जा इसलिए प्राप्त हुआ क्योकि इस देश के लोगो में एक अदम्य क्षमता हैं, जिस कारण इन लोगो को ना मौत का डर लगा और इतना सब कुछ सहन करने के बाद ये देश एक बार फिर से उठ खड़ा हुआ. इस समय 10  क्रिकेट स्टेडियम हैं और लगभग 15 क्रिकेट एकेडमी चल रही हैं जिससे इस खेल में देश को और मजबूती मिल सके.”

यहाँ पर देखिये सुषमा स्वराज के उस ट्विट को