इस भारतीय खिलाड़ी के साथ पिछले 2 साल से हो रही नाइंसाफी, टूरिस्ट बनकर रह गया ये खिलाड़ी 1
ADELAIDE, AUSTRALIA - DECEMBER 18: Virat Kohli of India is congratulated after catching Cameron Green during day two of the First Test match between Australia and India at Adelaide Oval on December 18, 2020 in Adelaide, Australia. (Photo by Philip Brown/Popperfoto/Popperfoto via Getty Images)

ब्रिस्बेन में खेले जा रहे चौथे टेस्ट मैच के लिए भारतीय टीम का ऐलान हो गया है. इस मैच के लिए भारत की टीम में कुलदीप यादव को जगह नहीं मिली है. टीम में सिर्फ एक स्पिनर को रखा गया है और वह स्पिनर वाशिंगटन सुंदर है. इस स्पिनर ने पहले दिन के खेल में 22 ओवर किये हैं, जिसमे उन्होंने 63 रन खर्च करके 1 विकेट हासिल किया.

अश्विन-जडेजा के ना होने के बावजूद कुलदीप टीम से बाहर

kuldeep-Ajinkya rahane

चौथे टेस्ट मैच में चोटिल होने के चलते रविचंद्रन अश्विन और रविन्द्र जडेजा भारतीय टीम की प्लेइंग इलेवन में नहीं है. इन दोनों खिलाड़ियों के अनुभव के आगे कुलदीप के युवा जोश को नजरंदाज करना भारतीय फैंस को समझ में आ रहा था, लेकिन जब यह दोनों दिग्गज स्पिनर भी टीम की प्लेइंग इलेवन में नहीं है, तो आखिर क्यों उन्हें भारत की टेस्ट टीम में मौका नहीं मिला.

कुलदीप यादव से पहले भारतीय टीम ने वाशिंगटन सुंदर पर अपना भरोसा दिखाया है, जो टेस्ट टीम के दल में भी शामिल नहीं थे.

पिछले दौरे के शानदार प्रदर्शन के बावजूद नहीं मिल रहा मौका

इस भारतीय खिलाड़ी के साथ पिछले 2 साल से हो रही नाइंसाफी, टूरिस्ट बनकर रह गया ये खिलाड़ी 2

कुलदीप यादव का ऑस्ट्रेलिया की धरती में रिकॉर्ड शानदार है. उन्होंने भारतीय टीम के लिए ऑस्ट्रेलिया में एक टेस्ट मैच खेला है, जिसमे उन्होंने कुल 5 विकेट हासिल किये हुए हैं. उन्होंने 2019-20 के दौरे में भारत के लिए पहली पारी में 31.5 ओवर किये थे, जिसमे उन्होंने 99 रन खर्च करते हुए कुल 5 विकेट हासिल किये थे.

उनके इस रिकॉर्ड के बाद उम्मीद की जा रही थी कि 4 टेस्ट मैचों में से किसी एक टेस्ट मैच की प्लेइंग इलेवन में जगह मिलेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ है. कुलदीप को चौथे टेस्ट मैच की प्लेइंग इलेवन से बाहर रखा गया है.

टीम मैनेजमेंट लगातार कर रही सौतेला व्यवहार

इस भारतीय खिलाड़ी के साथ पिछले 2 साल से हो रही नाइंसाफी, टूरिस्ट बनकर रह गया ये खिलाड़ी 3

टीम मैनेजमेंट लगातार कुलदीप यादव के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है. दरअसल उन्हें लगातार टीम के साथ रखा जा रहा है, लेकिन प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका नहीं मिल पा रहा है. वह हर सीरीज में टूरिस्ट बनकर ही रह जा रहे हैं. लगभग 2 साल से उनके साथ ऐसा हो रहा है.

लिमिटेड ओवर में जहां कुलदीप यादव से पहले रविन्द्र जडेजा और युजवेंद्र चहल को तवज्जों दी जाती है. वहीं टेस्ट क्रिकेट में कुलदीप से पहले अश्विन-जडेजा की अनुभवी जोड़ी को तवज्जों दी जाती है.

 

 

vineetarya

cricket is my first and last love, I know cricket only cricket, I love watching cricket because cricket is my passion and my passion is my work my favourite player Mike Hussey and Kl Rahul