जब भारत का ये पूर्व क्रिकेटर अपने ही साथी खिलाड़ी के पीछे स्टंप लेकर मारने दौड़ा 1

क्रिकेट खेल जगत में सबसे जैंटलमैन गेम के रूप में माना जाता है. क्रिकेट के इतिहास में अब तक कई जैंटलमैन खिलाड़ी देखने को मिले हैं. लेकिन कभी -कभी इस जैंटलमैन गेम में ऐसी घटनाएं हो जाती हैं, जिससे इसे भद्रजनों का खेल कहने में हिचकिचाहट सी होती है. क्योंकि इस खेल की गरिमा को तार-तार होते हुए देखा जाता है.

भारत का ये खिलाड़ी जो अपने ही साथी को दौड़ा मारने

मौजूदा समय में तो मैदान में खेल भावना के खिलाफ कई तरह की घटनाएं देखना आम है, लेकिन सालों पहले मैदान में एक भारतीय खिलाड़ी ने अपने साथी खिलाड़ी के साथ ही कुछ ऐसा किया कि इस खेल की भावना को काफी ठेस पहुंची.

जब भारत का ये पूर्व क्रिकेटर अपने ही साथी खिलाड़ी के पीछे स्टंप लेकर मारने दौड़ा 2

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी ने घरेलू क्रिकेट के दौरान एक भारतीय खिलाड़ी के साथ ही ऐसा कर डाला, जिससे इस खिलाड़ी को नेगेटिव पहचान मिली, जिसमें चलते मैच में स्टंप उखाड़कर साथी खिलाड़ी को मारने दौड़ा.

राशिद पटेल, जिसने भारत के लिए खेला है 1 टेस्ट

जी हां… ऐसा ही कुछ भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी राशिद पटेल ने किया था. राशिद पटेल की इस घटना को आज हम याद इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि आज ही के दिन उनका जन्म हुआ था. राशिद पटेल का जन्म 1 जून 1964 को गुजरात के सांबरकांठा में हुआ था.

जब भारत का ये पूर्व क्रिकेटर अपने ही साथी खिलाड़ी के पीछे स्टंप लेकर मारने दौड़ा 3

राशिद पटेल की बात करें तो वो भारतीय क्रिकेट टीम के लिए ज्यादा नहीं खेल सके हैं और केवल 1 टेस्ट मैच ही खेले हैं. उस मैच में उन्होंने कोई विकेट हासिल नहीं किया, जिसके बाद उन्हें कभी मौका नहीं मिल सका.

जब राशिद स्टंप लेकर दौड़े रमन लांबा के पीछे

भारत के इस पूर्व गेंदबाज ने अपने खेल से तो कोई पहचान नहीं बनायी, लेकिन इन्होंने एक ऐसा काम कर पहचान बना डाली, जो कभी भी इस खेल में सही नहीं माना जा सकता है. ये बात साल 1990-91 की है. जहां दलीप ट्रॉफी का फाइनल मैच नोर्थ जोन और वेस्ट जोन के बीच खेला जा रहा था.

जब भारत का ये पूर्व क्रिकेटर अपने ही साथी खिलाड़ी के पीछे स्टंप लेकर मारने दौड़ा 4

इस मैच में नोर्थ जोन ने धीमी लेकिन बेहतरीन बल्लेबाजी प्रदर्शन करते हुए रमन लांबा(Raman Lamba) के 180 रन, मनोज प्रभाकर के 143 रन और कपिल देव के 119 रनों की मदद से 9 विकेट पर 729 रनों काफी बड़ा स्कोर खड़ा किया। इसके बाद वेस्टजोन ने भी बढ़िया खेल दिखाते हुए रवि शास्त्री के 152 रन, दिलीप वेंगसरकर के 114 और संजय मांजरेकर के 105 रन की सहारे से 561 रन बनाए।

राशिद पटेल-रमन के बीच दलीप ट्रॉफी के दौरान गुज़रा था ये वाक़या

29 जनवरी का दिन था, मैच के आखिरी दिन नोर्थ जोन की तरफ से रमन लांबा और अजय जडेजा ने पारी की शुरुआत की. वेस्टजोन के गेंदबाज राशिद पटेल और रमन लांबा के बीच खूब तकरार देखने क मिली, स्लेजिंग अपने चरम पर थी.

जब भारत का ये पूर्व क्रिकेटर अपने ही साथी खिलाड़ी के पीछे स्टंप लेकर मारने दौड़ा 5

तभी राशिद पिच पर दौड़ गए जिस पर रमन लांबा ने उन्हे टोक दिया. इसके बाद राशिद पटेल ने लांबा के सिर को गेंदबाजी से निशाना बनाया. इसके तुरंत बाद ही  राशिद ने आव देखा ना ताव और स्टंप को उखाड़कर रमन लांबा को मारने के लिए भागे. कहा जाता है कि राशिद लांबा क मारने के लिए मैदान के एक सिरे से दूसरे सिरे तक पहुंचे. इस घटना के बाद क्रिकेट बोर्ड ने राशिद को 14 महीनें और रमन लांबा को 10 महीनों के लिए बैन कर दिया.