//

भारतीय टीम का दबदबा पूरी तरह से विश्व क्रिकेट में छाया हुआ : अनिल कुंबले

अनिल कुंबले

रांची टेस्ट मैच जीतकर भारत ने साउथ अफ्रीका को तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में 3-0 के बड़े अंतर् से हरा दिया था. विराट कोहली की कप्तानी में यह भारत की 32वीं टेस्ट जीत थी. वह टेस्ट क्रिकेट में जीत के लिहाज से भारत के सबसे सफल कप्तान है. साथ ही घर पर यह भारत की लगातार 11वीं टेस्ट सीरीज जीत थी. उनकी अगुवाई में भारतीय टीम लगातार शानदार रिकॉर्ड बना रही है.

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

कुंबले ने की भारतीय टीम की तारीफ

भारतीय टीम का दबदबा पूरी तरह से विश्व क्रिकेट में छाया हुआ : अनिल कुंबले 1

विराट कोहली की कप्तानी में तीसरी बार भारत ने तीन या उससे ज्यादा मैचों की टेस्ट सीरीज में क्लीन स्वीप कर सीरीज जीती है. इससे इससे पहले श्रीलंका और न्यूजीलैंड का भी विराट कोहली की सेना टेस्ट सीरीज में क्लीन स्वीप कर चुकी है.

भारत ने जहां साल 2017 में श्रीलंका को उसी की धरती पर तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में 3-0 के अंतर से हराया था. वहीं साल 2016 में भारत ने न्यूजीलैंड की टीम को घरेलू धरती पर 3-0 से हराया था. भारत के इस शानदार प्रदर्शन की पूर्व कोच अनिल कुंबले ने भी जमकर तारीफ की है.

भारतीय टीम का दबदबा पूरी तरह से विश्व क्रिकेट में छाया हुआ

भारतीय टीम का दबदबा पूरी तरह से विश्व क्रिकेट में छाया हुआ : अनिल कुंबले 2

अनिल कुंबले ने क्रिकेटनेक्स्ट से बात करते हुए अपने बयान में कहा, “हां, मैं ऐसा मानता हूं, की भारतीय टीम का दबदबा पूरी तरह से विश्व क्रिकेट में छाया हुआ है. तीन साल पहले भी जब मैं कोच था, मैंने उल्लेख किया था, कि इस टीम के पास निश्चित रूप से विश्व क्रिकेट पर हावी होने के लिए सब कुछ है और यही उन्होंने किया है. टीम की सिर्फ प्लेइंग इलेवन अच्छी नहीं है, बल्कि भारतीय टीम की बेंच स्ट्रेंथ भी काफी मजबूत है.”

बेंच स्ट्रेंथ के खिलाड़ी भी करते हैं अच्छा प्रदर्शन

भारतीय टीम का दबदबा पूरी तरह से विश्व क्रिकेट में छाया हुआ : अनिल कुंबले 3

क्रिकेटनेक्स्ट से बात करते हुए अपने बयान में आगे कहा, “बेंच स्ट्रेंथ के जिस भी खिलाड़ी को मौका मिलता है. वह प्रदर्शन करता है. जो नियमित रूप से प्लेइंग इलेवन में खेल रहे हैं. वह भी निरंतर प्रदर्शन कर रहे हैं. ऐसे में यह भारतीय टीम अन्य टीमों से काफी मजबूत नजर आ रही है.”