86 साल के क्रिकेट इतिहास में भारत को मिले है 8 ऐसे कप्तान जिनके सामने पूरी दुनिया ने टेके हैं घुटने 1

भारतीय टीम ने क्रिकेट की दुनिया में अपने सफ़र की शुरुआत साल 1932 से की थी. पहले टीम ने टेस्ट मैच खेले इसके बाद 1974 से वनडे क्रिकेट खेलना शुरू किया. इस दौरान टीम की जीत-हार का ग्राफ काफी उपर नीचे रहा. मौजूदा समय में भारत के कप्तान विराट कोहली हैं. इससे पहले महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत ने कई उपलब्धियां हासिल कीं. पर क्या आपको पता है कि भारतीय टीम के पहले कप्तान कौन थे. चलिए जानते हैं ऐसे ही कुछ अहम कप्तानों के बारे में.

भारतीय टीम के पहले कप्तान 

भारत ने अपना पहला टेस्ट मैच साल 1932 में खेला था. भारतीय टीम टेस्ट सीरीज खेलने के लिए इंग्लैंड दौरे पर गयी थी. इस दौरान भारतीय टीम की कमान सीके नायडू ने संभाली और वह टीम इंडिया के कप्तान बने.

86 साल के क्रिकेट इतिहास में भारत को मिले है 8 ऐसे कप्तान जिनके सामने पूरी दुनिया ने टेके हैं घुटने 2

हालांकि नायडू टीम को पहली जीत नहीं दिला नहीं सके पर पहले कप्तान बन इतिहास में अपना नाम लिखा गए. इसके बाद भारत ने जब वनडे क्रिकेट की शुरुआत की तो भारतीय वनडे टीम को अपना पहला कप्तान अजित वाडेकर के रूप में मिला. जबकि क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट टी-20 में भारत के पहले कप्तान विस्फोटक सलामी बल्लेबाज रहे वीरेंद्र सहवाग बने थे.

भारत को दिलाया पहला विश्वकप 

86 साल के क्रिकेट इतिहास में भारत को मिले है 8 ऐसे कप्तान जिनके सामने पूरी दुनिया ने टेके हैं घुटने 3

ये भी पढ़ें – माइकल वान भी हुए विराट के फैन दिया ये नया नाम

भारतीय टीम ने साल 1983 में पहला वर्ल्डकप जीता था. उन दिनों ऑस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज और इंग्लैंड जैसी टीमों का वर्चस्व हुआ करता था. पर कपिल देव की कप्तानी में भारत ने अच्छा करते हुए पहली बार विश्व ख़िताब अपने नाम किया था.

कपिल देव को 1982 में वनडे और टेस्ट टीम की कप्तानी सौंपी गयी थी. उन्होंने लगभग 4 साल तक टीम का नेतृत्व किया. उनके बाद दिलीप वेंगसरकर को कप्तानी दी गयी थी.

सचिन तेंदुलकर को सौंपी गयी कप्तानी 

86 साल के क्रिकेट इतिहास में भारत को मिले है 8 ऐसे कप्तान जिनके सामने पूरी दुनिया ने टेके हैं घुटने 4

आज क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले पूर्व महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर भी भारत की कप्तानी संभाल चुके हैं. वह 1996 में टीम इंडिया के कप्तान बने थे. हालांकि कप्तानी करियर उनका अच्छा नहीं रहा.

ऐसा कहा गया था कि कप्तानी की वजह से उनकी बल्लेबाजी प्रभावित हो रही है. जिसके बाद सचिन ने कप्तानी छोड़ दी थी. उन्होंने भारत के लिए 73 वनडे और 25 टेस्ट मैचों में कप्तानी की.

जब पहली बार भारत को मिला आक्रामक कप्तान 

86 साल के क्रिकेट इतिहास में भारत को मिले है 8 ऐसे कप्तान जिनके सामने पूरी दुनिया ने टेके हैं घुटने 5

सौरव गांगुली भारत के सफल कप्तानों में से एक हैं. उनके आक्रामक अंदाज ने टीम को घरेलू धरती के अलावा विदेशी जमीन पर जीतना सिखाया. वह 1999 में पहली बार टीम के कप्तान बने थे. उन्होंने करीब 7 साल तक टीम इंडिया की कप्तानी की.

राहुल द्रविड़ भी रह चुके कप्तान 

86 साल के क्रिकेट इतिहास में भारत को मिले है 8 ऐसे कप्तान जिनके सामने पूरी दुनिया ने टेके हैं घुटने 6

भारतीय टीम के दीवार कहे जाने वाले पूर्व दिग्गज बल्लेबाज राहुल द्रविड़ भी भारत के कप्तान रहे. पहली बार वह साल 2000 में कप्तान बने थे. उन्होंने कुल 79 वनडे और 25 टेस्ट मैचों में टीम के कप्तानी की.

भारत का एक ऐसा कप्तान जो नहीं हारता फाइनल 

इस समय दुनिया के खतरनाक ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा ने पहली बार भारतीय टीम की कप्तानी 2017 में की. जब श्रीलंका टीम तीन वनडे मैचों की सीरीज खेलने भारत दौरे पर आई थी.

इस दौरान कोहली शादी की छुट्टियों के चलते टीम से छुट्टी पर थे ऐसे में रोहित शर्मा को टीम के कमान सौंपी गयी. मौजूदा समय में वह एक ऐसे क्रिकेटर हैं जिन्होंने बतौर कप्तान फाइनल मैच नहीं हारा.

86 साल के क्रिकेट इतिहास में भारत को मिले है 8 ऐसे कप्तान जिनके सामने पूरी दुनिया ने टेके हैं घुटने 7

श्रीलंका के खिलाफ टी-20 और वनडे सीरीज के निर्णायक मुकाबलों में जीत दर्ज की थी. इसके बाद इसी वर्ष हुई निदहास ट्रॉफी के फाइनल में बांग्लादेश को हराकर ट्रॉफी अपने नाम की.

वहीं अभी हाल ही में खेले गए एशिया कप के फाइनल में भी भारत ने रोहित के नेतृत्व में बांग्लादेश को हराकर ख़िताब अपने नाम किया. रोहित ने अभी तक कुल 9 टी-20 और 8 वनडे मैचों में भारत की कप्तानी की जिसमें सिर्फ 1-1 में ही भारत को हार का सामना करना पड़ा.

ये भी पढ़ें – 6 साल बाद पहली बार प्लेइंग इलेवन से ड्राप हो सकता है ये खिलाड़ी

Leave a comment