3 खिलाड़ी जिनका करियर खराब करने में अहम भूमिका निभा रहा है भारतीय टीम मैनेजमेंट 1
Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

भारतीय टीम मैनेजमेंट कई बार खिलाड़ियों को समझने में चूक कर जाता है. कुछ खिलाड़ियों को लगातार फ़्लॉप होने के बावजूद मौके देना या फिर कुछ इन-फ़ॉर्म खिलाड़ियों को कोई ठोस कारण बताए बगैर ही बाहर कर देना. इस तरह के कुछ फ़ैसले मैनेजमेंट ने लिए हैं जो क्रिकेट फ़ैंस और क्रिकेट एक्सपर्ट्स की समझ से परे हैं.

टीम मैनेजमेंट के इस रवैये के कई उदाहरण बीते कुछ सालों में देखने को मिले हैं. इसी तरह का एक पुरानी मिसाल पूर्व भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद कैफ़ की याद आती है. इसके अलावा हम  मौजूदा समय में भी ऐसे 3 खिलाड़ियों की बात करेंगे जिनके करियर को खराब करने में टीम मैनेजमेंट का काफ़ी बड़ा रोल रहा है.

करुण नायर

भारतीय टीम मैनेजमेंट

इस मसले को चाहे जो नाम दिया जाए, लेकिन करुण नायर को टीम से निकाले जाने के फ़ैसले को आज भी भारतीय क्रिकेट इतिहास का सबसे ज़्यादा रहस्यमयी और विवादास्पद वाक़या माना जाता है. 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ़ मोहाली टेस्ट से डेब्यू करने वाले नायर ने अपने टेस्ट करियर की शुरुआत से ही काफ़ी बेहतर क्रिकेट खेली.

कर्नाटक के लिए खेलने वाले बल्लेबाज़ ने भारत के लिए अपने अंतररष्ट्रीय डेब्यू के बाद लगभग 4 महीने के पीरियड में  ही 6 टेस्ट में 62.33 के शानदार बल्लेबाज़ी औसत से 374 रन बनाए. जिसमें एक तिहरा शतक भी शामिल था. इसके बाद अचानक उन्हें टीम से किस लिए और क्यों बाहर किया गया, इसका जवाब आज तक भारतीय टीम मैनेजमेंट ने नहीं दिया है.

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

One reply on “3 खिलाड़ी जिनका करियर खराब करने में अहम भूमिका निभा रहा है भारतीय टीम मैनेजमेंट”

Comments are closed.