भारत के फाइनल में पहुँचने से बीसीसीआई की इस बात को मानने के लिए आईसीसी को होना पड़ेगा मजबूर!! | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

भारत के फाइनल में पहुँचने से बीसीसीआई की इस बात को मानने के लिए आईसीसी को होना पड़ेगा मजबूर!! 

भारत के फाइनल में पहुँचने से बीसीसीआई की इस बात को मानने के लिए आईसीसी को होना पड़ेगा मजबूर!!
pc: google

भारतीय टीम के आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017 के फाइनल तक पहुंचने के बाद अब बोर्ड ऑफ क्रिकेट कंट्रोल इंडिया (बीसीसीआई) आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017 के समापन के बाद अब आईसीसी से कुछ अच्छी खबरों की उम्मीद कर रहा है. गौरतलब है कि आईसीसी चैंपियन ट्रॉफी से पहले आईसीसी और बीसीसीआई में राजस्व और प्रशासन मॉडल को लेकर तनातनी हुई थी.विराट कोहली ने फाइनल से पहले बताया किसे मिलेगी हार्दिक पंड्या की जगह भारतीय टीम में पाकिस्तान के खिलाफ जगह

मगर फिर भी बीसीसीआई ने अपना अच्छा स्वभाव दिखाते हुए भारतीय टीम को इंग्लैंड में आईसीसी चैंपियन ट्रॉफी खेलने भेजा और आईपीएल का फाइनल देखने के लिए आईसीसी के चेयरमैन शशांक मनोहर को आमंत्रित किया था.

अब रिश्ते सुधरने की आस 

भारत के फाइनल में पहुँचने से बीसीसीआई की इस बात को मानने के लिए आईसीसी को होना पड़ेगा मजबूर!! 1
photo credit with getty images

अब भारत के फाइनल तक के सफर ने बीसीसीआई को उसका हक दिलाने में काफी मदद कर दी है. आईसीसी को भारत के फाइनल में पहुँचने से काफी फायदा हुआ है. इसलिए अब उम्मीद लगाई जा रही है कि राजस्व और प्रशासन मॉडल में चल रही बहस में आईसीसी, बीसीसीआई की बात मान सकता है.

 

इस वजह से हो रहा है टकराव 

भारत के फाइनल में पहुँचने से बीसीसीआई की इस बात को मानने के लिए आईसीसी को होना पड़ेगा मजबूर!! 2
photo credit with google

2014 के बिग थ्री मॉडल के हिसाब से आठ साल में आइसीसी का राजस्व 2.5 बिलियन डॉलर (लगभग 160 अरब रुपये) होने पर भारत को 569 मिलियन डॉलर (लगभग 36 अरब रुपये) मिलने थे. मगर आइसीसी भारत को 569 की जगह 290 मिलियन (लगभग 18.5 अरब रुपये) दे रहा था जिस वजह से आईसीसी और बीसीसीआई के बीच एक लम्बा टकराव चल रहा है.

बीसीसीआई का साथ नहीं दे रहे ये बोर्ड साथ

भारत के फाइनल में पहुँचने से बीसीसीआई की इस बात को मानने के लिए आईसीसी को होना पड़ेगा मजबूर!! 3
photo credit with google

आईसीसी की शासन नीतियों का विरोध करने के लिए बीसीसीआई को समर्थन के लिए तीन सदस्यीय बोर्डों की आवश्यकता है, लेकिन श्रीलंका, बांग्लादेश और जिम्बाब्वे आईसीसी के फैसले का विरोध करने के लिए अपनी सहमति नहीं दे रहे है. जो बीसीसीआई के पक्ष में नहीं है. इसके अलावा, बीसीसीआई  वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड (डब्लूआईसीबी) को मानाने की कोशिश कर रहा है, मगर अब तक वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड भी नहीं माना है.साक्षी धोनी के बाद इस भारतीय खिलाड़ी को आई चेन्नई सुपरकिंग्स की याद , सोशल मीडिया पर शेयर की फोटो 

बीसीसीआई पड़ा था अलग-थलग 

भारत के फाइनल में पहुँचने से बीसीसीआई की इस बात को मानने के लिए आईसीसी को होना पड़ेगा मजबूर!! 4
photo credit with getty images

29 अप्रैल को दुबई में हुई सभी देशो के क्रिकेट बोर्ड की बैठक में बीसीसीआई राजस्व और प्रशासन मॉडल में अलग-थलग पड़ गया था, जिसके बाद बीसीसीआई और आईसीसी के बीच ये विवाद पैदा हो गया था.

Related posts