भारतीय टीम
Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

मौजूदा समय में जब विश्व के दिग्गज बल्लेबाजो की चर्चा होती है तो सबसे पहला नाम भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली का आता है. इस खिलाड़ी ने भारतीय भारतीय टीम को कई मैच में सफलता दिलाई है. जिसके कारण भारतीय टीम आज एक बेहतर टीम नजर आ रही है.

भारतीय टीम जब भी बड़े मैच खेलती हैं. जहाँ पर भारतीय टीम को इस खिलाड़ी की सबसे ज्यादा जरुरत होती है. उस समय विराट कोहली फेल हो जाते हैं. ऐसा कहा जाने लगा है. अगर रिकॉर्ड पर नजर डाले तो ये सही भी नजर आता है की क्योंकि विराट कोहली ऐसे मैच में बल्ले के साथ रन नहीं बना पायें हैं.

आज हम आपको उन 5 पारियों के बारें में बताने जा रहे हैं. जहाँ पर भारतीय टीम को रनों की सख्त जरुरत थी लेकिन उसी समय कप्तान विराट कोहली फेल हो गये. जिसके कारण मैच में भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ा था. हार की वजह इस बल्लेबाज का फेल होना भी था.

1.विश्व कप 2015 का सेमीफ़ाइनल

5 मौके जब भारतीय टीम को थी विराट कोहली की सबसे ज्यादा जरूरत तो दबाव में रन मशीन ने दिया धोखा 1

मौका था 2015 में ऑस्ट्रेलिया में खेले जा रहे विश्व कप का. सेमीफ़ाइनल तक भारतीय टीम ने बहुत शानदार खेल दिखाकर खुद को एक मजबूत टीम के रूप में साबित किया था. लेकिन सेमीफ़ाइनल मैच में हार कर भारतीय टीम को विश्व कप से बाहर होना पड़ गया था.

सेमीफ़ाइनल के मैच में ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 328 रनों का स्कोर बनाया था. भारतीय टीम मैच में 329 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी तो विराट कोहली पर बड़ी जिम्मेदारी थी लेकिन वहां पर वो मात्र 1 रन बना कर ही पवेलियन लौट गये थे. जिसके कारण भारतीय टीम के उम्मीद पर वो खरे नहीं उतरे थे.

मैच में भारतीय टीम के लिए धोनी ने 65 रनों की पारी खेली थी. जहाँ पर उनका साथ कोई और खिलाड़ी नहीं दे पाया था. हालाँकि धवन ने 45 रन और अजिंक्य रहाणे ने 44 रन बना कर कोशिश जरुर किया था. लेकिन वो सफल नहीं हो पायें थे.

Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse