जल्द ही भारतीय टीम ने अगर नहीं किया इन 5 जगहों पर सुधार तो गँवानी पड़ेगी नम्बर 1 की कुर्सी | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

जल्द ही भारतीय टीम ने अगर नहीं किया इन 5 जगहों पर सुधार तो गँवानी पड़ेगी नम्बर 1 की कुर्सी 

जल्द ही भारतीय टीम ने अगर नहीं किया इन 5 जगहों पर सुधार तो गँवानी पड़ेगी नम्बर 1 की कुर्सी
Indian cricket team captain Virat Kohli reacts during the fourth day of the first Test match between Sri Lanka and India at Galle International Cricket Stadium in Galle on July 29, 2017. / AFP PHOTO / ISHARA S. KODIKARA (Photo credit should read ISHARA S. KODIKARA/AFP/Getty Images)

भारतीय टीम इस समय दुनिया की टेस्ट में नंबर एक टीम है. वर्तमान में वो श्रीलंका दौरे पर है जहां उसे श्रीलंका के साथ 3 टेस्ट, 5 वनडे और एक टी20 खेलना है. टेस्ट सीरीज के पहले मैच में भारतीय रणबांकुरों ने श्रीलंका को अपनी रैंकिंग के हिसाब से ही मात दी. यानी श्रीलंका को 4 दिनों में ही 304 रनों से हराकर तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली. इस मैच में सभी खिलाड़ियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया. हालांकि बड़ी बात यह है की भारत ने पिछले कई मैच केवल एशिया में ही खेले हैं. लेकिन आगे उसके सामने बड़ी चुनौती पेश होने वाली है क्योंकि भारत को आगे कई विदेशों के दौरे करने है. और भारतीय टीम का विदेशी सरजमीं पर रिकॉर्ड ज्यादा कुछ खास नही है.

यहाँ सुधार की है ख़ास जरूरत-

भले ही भारतीय टीम ने  इंग्लैंड में जाकर चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल तक का सफ़र तय किया हो. लेकिन जब बात विदेशी दौरों के द्विपक्षीय सीरीज की हो, और क्रिकेट के सबसे बड़े प्रारूप यानी टेस्ट की हो तो वहां भरता का धैर्य जवाब दे जाता है. वहां की तेज़ और बाउंसी पिच भारतीय टीम को बहुत परेशान करती हैं.  अगर भारतीय टीम को वहां अछ्हा प्रदर्शन करना है तो कम से कम इन 5 कड़ियों पर काम करना होगा-

1. ओपनिंग बल्लेबाजी-

जल्द ही भारतीय टीम ने अगर नहीं किया इन 5 जगहों पर सुधार तो गँवानी पड़ेगी नम्बर 1 की कुर्सी 1

भारतीय टीम की ओपनिंग जोड़ी कुछ सालो से बेहद लचर दिख रही है. यदि पिछले कुछ सालों के रिकॉर्ड पर ध्यान दें तो भारत की सलामी जोड़ी मिलकर रन बनाने में नाकाम रही है. यानी कोई एक बल्लेबाज ही रन बना पाता है. दूसरा जल्दी आउट हो जाता है. भारतीय टीम को कई वर्षो से एक टिकाऊ ओपनिंग जोड़ी नही मिल पाई है. एशिया से बाहर अगर भारतीय टीम को बड़ा स्कोर बनाना है, तो सलामी बल्लेबाजों को अच्छी शुरुआत देनी होगी. शिखर धवन, मुरली विजय, के एल राहुल और अभिनव मुकुंद टीम में सलामी बल्लेबाज के तौर पर खेल रहे हैं. रोहित शर्मा और अंजिक्य रहाणे अंदर-बाहर होते रहते हैं। ऐसे में टीम को जल्द ही अपना एक स्टेबल ओपनिंग कॉम्बिनेशन चुनना होगा.

2. मध्यक्रम बल्लेबाजी-

जल्द ही भारतीय टीम ने अगर नहीं किया इन 5 जगहों पर सुधार तो गँवानी पड़ेगी नम्बर 1 की कुर्सी 2

भारतीय टीम में मध्यक्रम के लिए बल्लेबाज तो कई मौजूद हैं लेकिन जब बात टीम कॉम्बिनेशन की आती है तो वहां पर कमी नजर आती है. फॉर्म और फिटनेस को लेकर रोहित शर्मा टीम से अंदर-बाहर होते रहते हैं. वहीं दूसरे बल्लेबाजों का भी प्रदर्शन उतना शानदार नही रहा है कि उन पर एकदम से भरोसा किया जा सके. पिछले साल इंग्लैंड के खिलाफ तिहरा शतक जड़कर करुण नायर ने जरुर उम्मीद जगाई थी.  लेकिन उसके बाद के मैचो में वो लगातार फ्लॉप रहे.

3. विदेश में स्पिनर बेदम-

जल्द ही भारतीय टीम ने अगर नहीं किया इन 5 जगहों पर सुधार तो गँवानी पड़ेगी नम्बर 1 की कुर्सी 3

अगर भारत के पिछले कुछ विदेशी दौरों को देखें तो टीम को दो प्रमुख स्पिनरों रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है. कई मौकों पर स्पिन गेंदबाजी के अगुवा अश्विन को बाहर बैठना पड़ता है. ऐसे में कोहली को स्पिन के लिए माथापच्ची करनी पड़ेगी. हालांकि कई क्रिकेटर कुलदीप यादव को तीनों ही प्रारुपों में शामिल करने की सलाह दे रहे हैं.

4. बेहतर आलराउंडर की तलाश-

जल्द ही भारतीय टीम ने अगर नहीं किया इन 5 जगहों पर सुधार तो गँवानी पड़ेगी नम्बर 1 की कुर्सी 4

भारतीय टीम में आलराउंडर की तलाश हमेशा ही जारी रही है. जो बल्लेबाजी के आलावा अच्छी गति से गेंदबाजी भी कर सके. हालांकि हार्दिक पांड्या ने जरुर टीम में एक उम्मीद की किरण पैदा की है. हाल ही में श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने अपना टेस्ट डेब्यू किया और डेब्यू मैच में ही अच्छी पारी खेली. हार्दिक पांड्या गेंदबाजी भी अच्छी करते हैं.

5. स्लिप एरिया-

जल्द ही भारतीय टीम ने अगर नहीं किया इन 5 जगहों पर सुधार तो गँवानी पड़ेगी नम्बर 1 की कुर्सी 5

ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका, जहां की पिच तेज और बाउंसी होती है. वहां पर स्लिप में अधिक कैच आते हैं. और ऐसी जगह फुर्तीले खिलाड़ियों की जरूरत होती है. कुछ साल पहले तक भारतीय टीम में स्लिप के स्पेशलिस्ट फील्डर थे. राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण स्लिप के बेहतरीन फील्डर थे. लेकिन इनके संन्यास लेने के बाद भारतीय टीम को अब ये कमी खल रही है. अभी तक ऐसा कोई फील्डर दिखा नही है जो कि इन दोनों खिलाड़ियों की जगह ले सकी. कप्तान कोहली खुद कई बार स्लिप में कैच ड्रॉप कर चुके हैं. टीम को इस एरिया में अभी काफी मेहनत की जरुरत है।

Related posts