कौन है टीम इंडिया का सबसे बड़ा मैच विनर? अश्विन, अनिल कुंबले या हरभजन सिंह 1

भारत और इंग्लैंड (Ind vs Eng) के बीच जारी 4 टेस्ट मैचों की सीरीज में भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के स्टार क्रिकेटर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandra Ashwin) अपने टेस्ट क्रिकेट करियर के 400 विकेट पूरे किए। इसके साथ ही अश्विन हरभजन सिंह (Harbhajan Singh), अनिल कुंबले (Anil Kumble) जैसे दिग्गज खिलाड़ियों की लिस्ट मे शामिल हो गए। लेकिन अब सबसे बड़ा सवाल यह है कि इन तीनों में सबसे बड़ा मैच विनर कौन स खिलाड़ी है।

कौन है भारतीय टीम का मैच विनर

कौन है टीम इंडिया का सबसे बड़ा मैच विनर? अश्विन, अनिल कुंबले या हरभजन सिंह 2

भारतीय क्रिकेट टीम के 34 साल के स्टार स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन जिस तरह से भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में भरोसेमंद स्पिन गेंदबाज की भूमिका निभा रहें हैं। कुछ ऐसी ही भूमिका अश्विन से हरभजन सिंह और अनिल कुंबले भी भारतीय टीम के लिए निभाते थे।

हरभजन सिंह ने भी भारतीय क्रिकेट टीम के लिए कई बार संकतमोचक की भूमिका निभाए, और टीम को जीत दिलाए। जबकि अनिल कुंबले भारतीय टीम को टेस्ट क्रिकेट में लगभग हर जीत में शानदार प्रदर्शन किए। इसी क्रम में हम इन तीनों दिग्गज स्पिन गेंदबाजों के प्रदर्शन के अनुसार बात करेंगे की भारत के लिए सबसे बड़ा मैच विनर कौन रहा है।

अश्विन भारतीय टीम के सबसे बड़े मैच विनर!

कौन है टीम इंडिया का सबसे बड़ा मैच विनर? अश्विन, अनिल कुंबले या हरभजन सिंह 3

भारतीय स्पिन गेंदबाज अश्विन अब तक कुल 77 टेस्ट मैच में टीम इंडिया का प्रतिनिधित्व किया, जिसमें से 45 मैच में भारतीय टीम को जीत मिली है। जबकि अगर अनिल कुम्बले के करियर को देखा जाए तो उन्होंने अपने करियर में 132 में से 43 टेस्ट जीते थे।  हरभजन का प्रदर्शन भी अश्विन से अच्छा नहीं है।

अगर विदेशों में खेले जाने वाले आंकड़ों पर नजर डाले तो अश्विन ने विदेशों में 10 टेस्ट जीते हैं और 50 विकेट लिए हैं। जबकि कुम्बले ने 15 विदेशी टेस्ट जीते और 80 विकेट लिए। इसी क्रम में अगर अश्विन की गेंदबाजी स्ट्राइक रेट पर नजर डाले तो वह हरभजन और अनिल कुंबले से बेहतर है। अश्विन प्रत्येक 53 गेंद के बाद विकेट लेते हैं, जबकि कुम्बले को 65.9, हरभजन को 64.80 और कपिल को 63.9 गेंद के बाद एक विकेट मिलता था।

एक टेस्ट में कैसा है तीनों का औसत प्रदर्शन

अश्विन

अगर आंकड़ों पर नजर डाले तो अश्विन एक टेस्ट में औसतन 5 विकेट लेते हैं, जबकि कुम्बले (4.8) और हरभजन सिंह (3.95) से ज्यादा है। वहीं अगर विकेट लेने की औसत पर नज़र डालें तो 1 विकेट के लिए अश्विन औसतन 25.27 रन खर्च करते हैं।

वहीं कुंबले 29.65 और हरभजन 32.46 रन खर्च किया करते थे। टेस्ट में भारत के लिए सबसे ज्यादा बार 5 विकेट अनिल कुम्बले (35 बार) ने लिए हैं।  जबकि अश्विन (29 बार) पांच विकेट लेने का कारनामा किया। जबकि हरभजन सिंह ने 25 बार 5 विकेट लेने का कारनामा किया।

भारत के लिए सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट लेने के मामले में चौथे नंबर पर हैं। अभी तक अश्विन ने 401 विकेट झटके। जबकि हरभजन (417), कपिल देव (434) और कुम्बले (619) हैं। अगर भविष्य में अश्विन 100 टेस्ट मैच खेलने में कामयाब रहे तो संभव है कि वे 500 विकेट पूरे कर लेंगे।