भारतीय खिलाड़ियों को खेल भावना सिखाने वाले वकार याद करें 1999 वाली हरकत

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

INDvs ENG: भारत को खेल भावना का पाठ पढ़ाने वाले वकार युनिस याद कर लें अपनी 1999 वाली हरकत 

INDvs ENG: भारत को खेल भावना का पाठ पढ़ाने वाले वकार युनिस याद कर लें अपनी 1999 वाली हरकत

आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 में इंग्लैंड के हाथों भारत को टूर्नामेंट में पहली हार का मुंह देखना पड़ा। इस टूर्नामेंट में मिली हार से भारत की सेमीफाइनल की उम्मीदों पर कुछ खासा फर्क नहीं पड़ा है। लेकिन भारत की चिर प्रतिद्वंदी टीम पाकिस्तान, भारत की इस हार से बौखलाया हुआ है।

INDvs ENG: भारत को खेल भावना का पाठ पढ़ाने वाले वकार युनिस याद कर लें अपनी 1999 वाली हरकत 1

असल में इसका कारण यह है कि इंग्लैंड की जीत ने पाकिस्तान की सेमीफाइनल की उम्मीदों पर वार किया है। अब यदि मेज़बान टीम इंग्लैंड 3 जुलाई को न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाले मुकाबले को जीत लेती है तो उसका सेमीफाइनल में पहुंचना तय और पाकिस्तान की सेमीफाइनल की उम्मीदें खत्म हो जाएंगी।

वकार यूनिस ने कहा भारतीय खिलाड़ियों में नहीं है खेल भावना

भारत की हार पर पाकिस्तानी दिग्गज खिलाड़ी व फैंस भारत से नाराज़ हैं। इसी क्रम में पूर्व कप्तान वकार युनिस ने भारत की जीत पर आग बबूला होते हुए विराट की सेना में खेल भावना न होने तक की बात कह दी।

उन्होंने ट्वीट में लिखा कि, यहां बात इसकी नहीं है कि आप कौन हैं, आप क्या करते हैं वह आपको परिभाषित करता है। मैं तनिक भी परेशान नहीं हूं कि पाकिस्तान की टीम सेमीफाइनल में जगह बना पाएगी या नहीं लेकिन एक बात तो इस मैच के बाद सुनिश्चित है कि कुछ चैंपियंस की स्पोर्ट्समैनशिप का टेस्ट किया गया जिसमें वह बुरी तरह से फेल हो गए।

अनिल कुंबले को वर्ल्ड रिकॉर्ड न बनाने देने के लिए चली थी चाल

भारतीय खिलाड़ियों को खेल भावना का पाठ पढ़ाने वाले वकार यूनिस का इतिहास खेल भावना में कुछ खास अच्छा नहीं रहा है। दिल्ली में खेले जा रहे भारत-पाकिस्तान के बीच मुकाबले में भारतीय स्टार गेंदबाज़ अनिल कुंबले ने एक पारी में पाकिस्तान के 9 विकेट ले लिए थे और यदि वह पाकिस्तान का दसवां विकेट लेने में कामियाब होते तो यह महान वर्ल्ड रिकॉर्ड अनिल कुंबले के नाम लिख जाता।

INDvs ENG: भारत को खेल भावना का पाठ पढ़ाने वाले वकार युनिस याद कर लें अपनी 1999 वाली हरकत 2

उस दौरान पाकिस्तान की तरफ से वकार यूनिस और वसीम अकरम बल्लेबाजी कर रहे थे। लेकिन वकार को मंज़ूर नहीं था कि कुंबले इस वर्ल्ड रिकॉर्ड को अपने नाम कर लें। इसलिए वह वसीम अकरम के पास गए और उन्होंने उनसे रन आउट होने की बात कहते हुए कहा कि, भाईजान यदि अब अनिल कुंबले ने एक और विकेट ले लिया तो वह एक पारी में 10 विकेट लेने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लेगा। तो इसलिए हम रन आउट हो जाते हैं, जिससे यह विकेट उसके खाते में न जाकर टीम के खाते में जाए।

लेकिन वसीम अकरम ने खेल भावना का परिचय देते हुए कहा कि नहीं, यह गलत होगा, हम जानबूझकर रन आउट नहीं हो सकते। हम अपना खेल अपने हिसाब से खेलेंगे, फिर चाहे हमारा विकेट उनके खाते में जाए या किसी और भारतीय गेंदबाज़ के।

अनिल कुंबले ने हासिल किए थे एक टेस्ट पारी में 10 विकेट्स

INDvs ENG: भारत को खेल भावना का पाठ पढ़ाने वाले वकार युनिस याद कर लें अपनी 1999 वाली हरकत 3

हालांकि उस मैच के दौरान अनिल कुंबले यह वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने में कामियाब हुए और एक टेस्ट पारी में 10 विकेट झटकने वाले पहले भारतीय व दूसरे खिलाड़ी बन गए। बताते चलें कि इस रिकॉर्ड में कुंबले से पहले इंग्लिश खिलाड़ी जिम लेकर ने यह कारनामा कर यह रिकॉर्ड अपने नाम किया था।

Related posts