पिंक बॉल से खेल चुके चेतेश्वर पुजारा ने कहा-करना होगा अभ्यास

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

INDvsBAN: ‘पिंक बॉल’ से खेल चुके चेतेश्वर पुजारा ने बताया, टीम इंडिया को होगी ये परेशानी 

INDvsBAN: ‘पिंक बॉल’ से खेल चुके चेतेश्वर पुजारा ने बताया, टीम इंडिया को होगी ये परेशानी

बांग्लादेश के साथ टी 20 सीरीज पर कब्जा जमाने के बाद अब टीम इंडिया की नजरें 2 मैचों की टेस्ट सीरीज पर टिक गई है. भारत-बांग्लादेश के बीच पिंक बॉल से खेले जाने वाले डे-नाइट टेस्ट मैच को लेकर सभी बेहद उत्साहित हैं. यह मैच ईडन गार्डन के ऐतिहासिक मैदान पर खेला जाएगा. भारतीय क्रिकेट टीम पिछली 11 बार से घर पर होने वाली टेस्ट सीरीज में नहीं हारी है.

रेड बॉल जैसी ही होगी ‘पिंक बॉल’

पिंक बॉल

ईडन गार्डन में खेले जाने वाले भारत के पहले डे-नाइट टेस्ट मैच को लेकर हर कोई उत्साहित है. वहीं 2016 की दलीप ट्रॉफी में ‘पिंक बॉल’ से खेल चुके चेतेश्वर पुजारा ने बताया,

“जब आप गुलाबी गेंद से खेलना शुरू करेंगे तो मुझे कोई फर्क नहीं पड़ेगा। मैंने एमजी कंपनी की पिंक बॉल से खेला नहीं है. इसलिए मैं यकीन के साथ तो नहीं कह सकता लेकिन मुझे लगता है कि एसजी गुलाबी गेंद भी रैड बॉल जैसी ही होगी। मुझे लगता है कि भारत में एसजी गेंदों की क्वालिटी में सुधार हुआ है। ”

”अभी हाल ही में साउथ अफ्रीका के खिलाफ हमने जो सीरीज खेली थी, उसे देखते हुए हम बॉल के आकार और यहां तक ​​कि गेंद की क्वालिटी को बनाए रखने के तरीके से खुश थे। इसलिए हम गुलाबी गेंद से भी यही उम्मीद कर रहे हैं। जब यह गुलाबी गेंद की बात आती है, तो यह लाल गेंद से थोड़ी अलग होगी लेकिन मुझे इसमें कोई बड़ा अंतर दिखाई नहीं देता।”

आपको बता दें, टीम इंडिया के टेस्ट स्पेसलिस्ट चेतेश्वर पुजारा ने 2016 दलीप ट्रॉफी में 3 शतकों के साथ 453 रन बनाए थे.

पिंक बॉल से खेलने का एक्सपीरियंस करेगा मदद

बीसीसीआई ने 2016-17 के घरेलू मैच में कुकुपारा की पिंक बॉल का इस्तेमाल करवाया था. हालांकि कुकुपारा की बॉल की काफी आलोचना हुई थी. उस वक्त मिले एक्सपीरियंस के बारे में बात करते हुए पुजारा ने कहा,

“मैंने 2016/17 में पिंक बॉल से खेला था. इस बात को काफी वक्त बीत चुका है. इसलिए उसे एक फायदा नहीं माना जा सकता. लेकिन हां, यह एक्सपीरियंस बिना किसी संदेह के खेलने में मदद करेगा. असल में जब आप गुलाबी गेंद से खेले होते हैं, तो आप जानते हैं कि किस समय क्या उम्मीद करनी चाहिए और क्या हो सकता है. इसलिए वह एक्सपीरियंस मदद करता है.”

पिंक बॉल से खेलने के लिए करना होगा अभ्यास

चेतेश्वर पुजारा

31 वर्षीय ने पहले शाम के समय गुलाबी गेंद से होने वाली परेशानियों के बारे में बात करते हुए कहा,

“कभी-कभी शाम के समय गुलाबी गेंद से खेलना चुनौतीपूर्ण होता है। इसके लिए आपको थोड़ा और अभ्यास करने की आवश्यकता है और एक बार जब आप शाम के समय गुलाबी गेंद से खेलने लगते हैं, तो आपको इसकी आदत पड़ने लगती है।”

Related posts