पाकिस्तानी कोच ने जताया भरोसा, पाकिस्तान में अब होगा वो जो पिछले 8 सालो में कभी नहीं हुआ | Sportzwiki

Trending News

Blog Post

इंटरव्यूज

पाकिस्तानी कोच ने जताया भरोसा, पाकिस्तान में अब होगा वो जो पिछले 8 सालो में कभी नहीं हुआ 

पाकिस्तानी कोच ने जताया भरोसा, पाकिस्तान में अब होगा वो जो पिछले 8 सालो में कभी नहीं हुआ

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के प्रमुख कोच मिकी आर्थर ने आशा व्यक्त की है कि पाकिस्तान को विश्व इलेवन टीम के प्रस्तावित दौरे के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को वापस लाने में मदद मिलेगी। दरअसल, सन् 2009 में पाकिस्तान दौरे पर गए श्रीलंका टीम के बस पर हुए आतंकी हमले के बाद क्रिकेट खेलने वाली किसी भी बड़ी टीम ने पाकिस्तान का दौरा नहीं किया है। 2009 में श्रीलंकाई टीम पर हुए आंतकी हमले के दौरान 6 पाकिस्तानी पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी और कुछ बाहरी खिलाड़ी भी घायल हो गए थे। हालांकि उस वक्त से कोई बड़ी टीम ने तो पाकिस्तान का दौरा नहीं किया है लेकिन ज़िम्बाब्वे और अफ़्गानिस्तान जैसी कुछ छोटी टीमों ने सीमित ओवरों के मैचों के लिए पाकिस्तान का दौरा किया है।

आतंकी हमलों की वजह से पाकिस्तान में बंद है क्रिकेट

बीते सोमवार को लाहौर के फिरोजपुर रोड पर पाकिस्तानी पंजाब के सीएम शाहबाज शरीफ के आवास के पास एक शक्तिशाली बम विस्फोट हुआ जिसमें 26 लोगों की मौत हो गई थी और 58 अन्य घायल हो गए थे। जिस वजह से एक बार फिर इस वर्ष योजनाबद्ध विश्व इलेवन दौरे पर संदेह जताया गया है। इसी पर विचार करते हुए पाकिस्तान के वर्तमान कोच आर्थर ने कहा कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) घर पर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को पुनर्जीवित करने की कोशिश में जबरदस्त काम कर रहा है, और इसलिए, वह यह देखना चाहेंगे कि विश्व इलेवन का दौरा सफलतापूर्वक आगे बढ़ता रहे।

2009 के बाद पहली बार पाकिस्तान में होगी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट सीरीज़

आईसीसी ने सितंबर के महीने में तीन टी-20 मैचों की एक सीरीज़ खेलने के लिए वर्ल्ड इलेवन टीम को पाकिस्तान भेजने का फैसला किया है। लिहाजा पाकिस्तान के लिए यह एक मौका है कि वह इस सीरीज़ का सफलतापूर्वक आयोजन करके अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को पाकिस्तान में दोबारा जीवित कर सके। इसी बाबत पाकिस्तान के अख़बार डॉन को दिए एक साझात्कार में पाकिस्तान के कोच मिकी आर्थर ने कहा कि पीसीबी इस श्रृंख्ला का सफलतापूर्वक आयोजन कराने के लिए काफी अच्छे और सुरक्षा के मद्देनजर कदम उठा रहा है। आर्थर ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि आईसीसी की इस श्रृंखला के साथ पाकिस्तान में दोबारा क्रिकेट शुरू होगी और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टीम फिर से पाकिस्तान में आकर क्रिकेट खेलना शुरू करेगी।

अपने देश में क्रिकेट खेलना बेहद जरूरी: मिकी आर्थर

पाकिस्तान के मुख्य कोच और साउथ अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर ने कहा कि पाकिस्तान के घरेलू खिलाड़ी अपने अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों को घर पर खेलते हुए नहीं देख पाते हैं जिससे उनके करियर पर असर पड़ता है। घरेलू क्रिकेटरों को अपनी क्षमताओं और मानकों को बढ़ाने में दिक्कत आती है। कोई भी टीम हर अंतरराष्ट्रीय मैच एक ईकाई और एकता के रूप में खेलती है। जब हम अपने देश में क्रिकेट ना खेले तो यह एकता बन पाना काफी मुश्किल हो जाता है। आर्थर ने कहा कि ये सभी चीजें क्रिकेट को प्रभावित करती हैं।

Related posts