भारत में जल्द देखने को मिल सकता है एक और आईपीएल 1

भारत में महिलाएं अपने गांव और रसोई तक सीमित रह गई है । भारतीय महिलाएं इससे आगे नही आ पायी हैा भारतीय महिलाओं में गजब का टेलैंट है। लेकिन उन्हे ये साबित करने का मौका नहीं मिल पा रहा है और उनकी प्रतिभा अपने घर-गांव तक सीमित रह जाती है।

भारत में क्रिकेट की बात करें तो यहां पुरूष क्रिकेट को बहुत ही बढ़ावा मिलता है और लोगों में पुरूष क्रिकेट को लेकर जबरदस्त क्रेज है। हर बच्चा-बच्चा जानता है, कि पुरूषो में कौन-कौन खिलाड़ी है और वो कहां से है। लेकिन भारतीय महिला टीम की खिलाड़ी के नाम गिनती के लोग जानते है।भारतीय मूल की महिला खिलाड़ी जुड़ी पीसीए से, रहीं चुकी हैं विश्व कप विजेता

भारत में महिला क्रिकेट के विकास के लिए भारत में खेली जाने वाली पुरूषों की टी-20 लीग आईपीएल की तरह ही महिला क्रिकेट की आईपीएल कराने की मांग उठने लगी है। और ये मांग भारतीय क्रिकेट की पूर्व महिला क्रिकेटरों ने उठाई है। उनका मानना है कि भारत में महिलाओं का भी आईपीएल होना चाहिए।

भारत में जल्द देखने को मिल सकता है एक और आईपीएल 2

भारत की पूर्व महिला खिलाड़ी शांता रंगास्वामी ने कहा कि “हम महिलाओं के लिए आईपीएल कर सकते हैं, हम लड़कियों के लिए उनके आधार को और भी ज्यादा बड़ा कर सकते है। ऐसे लीग को लॉन्च करने के लिए हमारे पास पर्याप्त खिलाड़ी हैं। मुझे लगता है कि जब आईपीएल दस साल पहले शुरू हुआ था, तब भारत को पहल करनी चाहिए थी। यह मनोरंजन के साथ एक शानदार मुहिम बन गई है। ये मनोरंजन, ग्लैमर, नाम और प्रसिद्धि के साथ एक बहुत बड़ा टूर्नामेंट बन गया है।”क्रिकेट अॉस्ट्रेलिया ने दिया महिला क्रिकेटरों को बोनस, बढ़ा दी इतनी सैलरी की जानकर उड़ जायेंगे आपके होश

वहीं भारतीय महिला क्रिकेट की एक और पूर्व खिलाड़ी शुभांगी कुलकर्णी ने कहा कि “मुझे बहुत ही खुशी होगी मौजुदा जैसे पैसे स्थिति में कुछ किया जाए। हमारे समय में हमें बाहर के देशों का दौरा करने के लिए खुद पैसै जुटाने पड़ते थे। लोगो से हमें समर्थन की बजाय सिर्फ जिज्ञासा ही मिलती थी। जब तक लोगों को ये पता नहीं चलता था कि लड़कियां भी क्रिकेट खेल सकती है।”