आरसीबी के फैन्स को निराश होने की जरुरत नहीं, क्योकिं हार के जीतने में विश्वास रखती है 'विराट सेना'

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

IPL 2018: अभी प्ले ऑफ में जगह बना सकती है रॉयल चैलेंजर बैंगलोर, सिर्फ इतने मैचो में हासिल करना होगा जीत 

IPL 2018: अभी प्ले ऑफ में जगह बना सकती है रॉयल चैलेंजर बैंगलोर, सिर्फ इतने मैचो में हासिल करना होगा जीत

इस आईपीएल सीजन भी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम ठीक वैसी ही दिख रही है जैसा इस टीम के फैन्स को देखने की अब आदत हो गयी है. ऐसा लगता है कि इस टीम की मंशा अंक तालिका में नीचे से होड़ लगाने की रहती है. दिग्गजों से सजी टीम हर साल की भांति इस साल भी अब तक फिसड्डी ही साबित हो रही है.

इस सीजन से पहले तक क्रिकेट जानकारों का मानना था कि टीम में अच्छे गेंदबाजों की कमी है, जिस वजह से हालात ये हैं लेकिन इस साल नीलामी के दौरान यह समस्या भी दूर कर दी गयी. इस सीजन इस टीम ने कई शानदार गेंदबाजों पर पैसे बहा उन्हें अपनी टीम में शामिल किया, लेकिन हालात जस के तस बने हुए हैं.

IPL 2018: अभी प्ले ऑफ में जगह बना सकती है रॉयल चैलेंजर बैंगलोर, सिर्फ इतने मैचो में हासिल करना होगा जीत 1टीम की कमान संभाल रहे कप्तान विराट कोहली इस साल भी अपने साथी एबी डिविलियर्स के साथ संघर्ष करते दिख रहे है. युवा बल्लेबाज मनदीप सिंह भी कोशिशें कर रहे हैं. विकेटकीपर बल्लेबाज डीकॉक भी हालात से लड़ते दिख रहे हैं, लेकिन इस टीम की समस्या है कि मैच फिनिश कौन करेगा.

गेंदबाजी में उमेश यादव, क्रिस वोक्स, टिम साऊदी जैसे दिग्गज गेंदबाज भी समस्या का समाधान नहीं निकाल पा रहे हैं वहीं स्पिन तो इस टीम का और धाकड़ है. फिरकी की जिम्मेदारी युजवेन्द्र चहल, वाशिंगटन सुंदर और मुर्गन अश्विन जैसे धुरंधर संभाल रहे हैं, लेकिन इन सब के बावजूद रिजल्ट अभी तक जीरो ही नज़र आ रहा है.

ऐसे प्ले ऑफ में पहुंच सकती है आरसीबी

IPL 2018: अभी प्ले ऑफ में जगह बना सकती है रॉयल चैलेंजर बैंगलोर, सिर्फ इतने मैचो में हासिल करना होगा जीत 2हालांकि, अभी भी इस टीम के प्रशंसकों को निराश होने की जरुरत नहीं है. अभी भी यह टीम अंतिम चार में पहुँच सकती है. हालांकि इसके लिए बैंगलोर को हर मैच जीतना होगा. अभी तक सात मैचों में आरसीबी के खाते में मात्र दो जीत व पांच हार आई हैं. यहां तक कि कप्तान कोहली ने रविवार को मैच के प्रस्तुति समारोह में भी यही बताया और माना कि उन्हें हर गेम को आभासी सेमीफाइनल के रूप में लेना है.

बता दें यह स्थिति आरसीबी के लिए कोई नई नहीं है. इससे पहले साल 2011 में शुरुआती मुकाबले गंवाने के बाद लगातार सात जीत हासिल कर अंतिम चार में जगह बनाया था. साल 2016 की भी कहानी यही थी, जब फैन्स निराश हो चुके थे, किसी को उम्मीद नहीं थी कि यह टीम अंतिम चार में जगह बना पायेगी, लेकिन इस साल इस टीम ने फाइनल खेला. लेकिन वहां जीत नसीब नहीं हुई.

Related posts

Leave a Reply