आईपीएल 2020: क्या रविचंद्रन अश्विन को ट्रेड करने के बाद दिल्ली कैपिटल्स बदलेगी कप्तान?

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

आईपीएल 2020: क्या रविचंद्रन अश्विन को ट्रेड करने के बाद दिल्ली कैपिटल्स बदलेगी कप्तान? 

आईपीएल 2020: क्या रविचंद्रन अश्विन को ट्रेड करने के बाद दिल्ली कैपिटल्स बदलेगी कप्तान?

दिल्ली कैपिटल्स ने किंग्स इलेवन पंजाब से ऑफ स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन को ट्रेड किया है। आईपीएल की जगह उन्होंने जगदीश सुचित को ट्रेड किया है। अश्विन पिछले दो सालों से पंजाब के कप्तान थे। इसके साथ ही उनकी गिनती दुनिया के सबसे बेहतरीन स्पिनरों में की जाती है। वह टेस्ट क्रिकेट में भारतीय टीम के प्रमुख स्पिन गेंदबाज है।

श्रेयस अय्यर दिल्ली के कप्तान

आईपीएल 2020: क्या रविचंद्रन अश्विन को ट्रेड करने के बाद दिल्ली कैपिटल्स बदलेगी कप्तान? 1

दिल्ली कैपिटल्स की कप्तानी युवा श्रेयस अय्यर के पास है। पिछले आईपीएल सीजन में वह टूर्नामेंट के सबसे युवा कप्तान थे। आईपीएल 2018 के बीच में गौतम गंभीर ने खराब फॉर्म की वजह से दिल्ली डेयरडेविल्स (अब दिल्ली कैपिटल्स) की कप्तानी छोड़ दी थी।

इसके बाद फ्रेंचाइजी ने मुंबई के इस युवा बल्लेबाज को अपना कप्तान बनाया था। उस समय अय्यर भारतीय टीम का नियमित हिस्सा भी नहीं थे। इनकी कप्तानी में टीम 2013 के बाद पहली बार प्ले ऑफ में पहुंची थी।

कप्तान बदलेगी दिल्ली?

आईपीएल 2020: क्या रविचंद्रन अश्विन को ट्रेड करने के बाद दिल्ली कैपिटल्स बदलेगी कप्तान? 2

रविचंद्रन अश्विन के दिल्ली कैपिटल्स में शामिल होने के बाद से ही सवाल उठ रहे हैं कि क्या टीम उन्हें कप्तान बनाने वाली है। स्टारस्पोर्ट्स की रिपोर्ट माने तो श्रेयस अय्यर ही दिल्ली के कप्तान बने रहेंगे।

इसका मतलब है कि अश्विन को अय्यर की कप्तानी में खेलना पड़ेगा। शिखर धवन और अमित मिश्रा जैसे बड़े खिलाड़ी भी अय्यर की कप्तानी में खेल रहे हैं। अब अश्विन को भी अय्यर की कप्तानी में खेलना पड़ेगा।

ऐसा है दोनों का रिकॉर्ड

आईपीएल 2020: क्या रविचंद्रन अश्विन को ट्रेड करने के बाद दिल्ली कैपिटल्स बदलेगी कप्तान? 3

रविचंद्रन अश्विन ने 28 मैच में किंग्स इलेवन पंजाब की कप्तानी की थी। इसमें उन्हें 12 जीत मिली वहीं 16 मैचों में हार का सामना करना पड़ा। दोनों सीजन में उनकी टीम प्लेऑफ में पहुँचने में असफल रही थी।

श्रेयस अय्यर 24 मैचों में दिल्ली कैपिटल्स की कप्तानी की थी। इसमें टीम ने 13 जीत मिली वहीं 10 हार के अलावा एक मैच टाई रहा था। टाई हुए मैच को भी दिल्ली ने सुपर ओवर में अपने नाम किया था। टीम प्ले ऑफ में भी पहुंची थी और इसी वजह से फ्रेंचाइजी अय्यर को कप्तान बनाये रखना चाहती है।

Related posts