आईपीएल 2020

चीन से शुरु हुए कोरोना वायरस के चलते पूरी दुनिया के खेल संबधी कार्यक्रमों को स्थगित या फिर रद्द कर दिया गया है. इस महामारी ने क्रिकेट को भी बुरी तरह चोट पहुंचाई है. कई सीरीज को रद्द किया जा चुका है और भारत में 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ने के साथ ही आईपीएल 2020 को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है. मगर अब अगस्त-सितंबर में होने वाले सीपीएल और आईपीएल के लिए  विंडो तलाशने में भिडंत हो सकती है.

आईपीएल-सीपीएल में हो सकता है टकराव?

आईपीएल 2020

कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले रखा है. इस महामारी ने क्रिकेट कार्यक्रमों को मानो अस्थ-व्यस्त कर दिया है. मौजूदा वक्त में तो सभी क्रिकेट कार्यक्रम पर विराम लगा हुआ है, मगर जैसे ही हालातों में सुधार होगा तो वैसे ही बीसीसीआई अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किए गए आईपीएल 2020 के लिए विंडो तलाशेगी.

मगर इसमें एक समस्या सामने आ रही है. असल में खबरों की मानें तो आईपीएल 2020 को सितंबर व अक्टूबर में कराए जाने की बातें चल रही हैं. जी हां, यदि एशिया कप व आईसीसी टी20 विश्व कप आगे बढ़ता है तो आईपीएल को इस विंडो में कराया जा सकता है.

मगर गौरतलब है कि कैरेबियाई प्रीमियर लीग 2020 पहले से ही 19 अगस्त से 26 सितंबर तक में खेला जाएगा. अब आईपीएल और सीपीएल के टकराव को लेकर सीपीएल के सीईओ ने कहा है कि उम्मीद है बीसीसीआई, आईपीएल के लिए दूसरे विंडो की लताश करेगी.

आईपीएल के लिए दूसरी विंडो तलाश लेगा बीसीसीआई

आईपीएल 2020 को फिलहाल अनिश्चितकाल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है. मगर दुनिया की सबसे अमीर फ्रैंचाइजी लीग को बीसीसीआई सितंबर-अक्टूबर में कराने का विचार कर रही है. अब कैरेबियन प्रीमियर लीग के ईएसपीएन क्रिकइन्फो से सीईओ पीट रसेल ने कहा,

मुझे लगता है कि आईपीएल सारे कैरेबियाई खिलाड़ियों को अपने टूर्नामेंट में खेलते देखना चाहेगा. ऐसे में सीपीएल से टकराव का कोई औचित्य नहीं है क्योंकि उनके अधिकांश स्टार हमारे साथ खेलेंगे.

मुझे नहीं लगता कि वे ऐसा करना चाहेंगे. वे अपनी विंडो तलाश सकते हैं. वेस्टइंडीज में कोरोना वायरस के उतने मामले सामने नहीं आए हैं और सीपीएल के मेजबान छह देशों में मौतों के आंकड़े दोहरे अंक तक भी नहीं है.

तब ही खेलेंगे सीपीएल जब हालात हो जाएंगे सुरक्षित

आईपीएल 2020

दुनियाभर में कोरोना वायरस ने अपना कहर बरपा रखा है. इसके चलते दुनियाभर में लाखों लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. भारत में लगभग पंद्रह हजार लोग संक्रमित हो चुके हैं और 480 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. वहीं वेस्टइंडीज में भी लॉकडाउन जल्दी ऐलान कर दिया गया. लॉकडाउन के बारे में बात करते हुए सीआई रसेल ने कहा,

यह अच्छा रहा कि यहां लॉकडाउन जल्दी शुरू हो गया. यही वजह है कि यहां ब्रिटेन जैसे हालात नहीं है. हम हालांकि सीपीएल तभी खेलेंगे, जब हालात पूरी तरह सुरक्षित हों.