आईपीएल 2020

कोरोना वायरस के चलते आईपीएल 2020 का आयोजन भारत से शिफ्ट करके यूएई में आयोजित किया जा रहा है। लेकिन अब फ्रेंचाइजियों के लिए एक बुरी खबर सामने आई है। दरअसल, इस बार बीमा कंपनियां कोविड-19 से संक्रमण के चलते रद्द होने वाले मैचों को इंश्योरेंस का कवर नहीं देंगी, क्योंकि कवर अप्रत्याशित कारणों से मिलता है और कोरोना अप्रत्याशित नहीं है।

फ्रेंचाइजियों को हो सकता है नुकसान

आईपीएल 2020

आईपीएल 2020 के शुरु होने से पहले आईपीएल फ्रेंचाइजियों के लिए एक बुरी खबर सामने आई है। आईपीएल के 13वें सीजन में टीम में कोरोना पॉजिटिव सदस्यों के सामने आने से यदि मैच रद्द होता है, तो उस टीम को इंश्योरेंस का मुआवजा नहीं दिया जाएगा।

वैसे तो, सभी मैच बीमाकृत हैं और प्राकृतिक आपदाओं के कारण होने वाले व्यवधान बीमा कवर के तहत हैं। आठ आईपीएल टीमों की अपनी बीमा एजेंसियां ​​हैं और प्रीमियम प्रति टीम 3-5 करोड़ रुपये की सीमा में है। भारत में आईपीएल और अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए, बीमा कंपनियां अप्रत्याशित कारणों से आकस्मिक रद्दीकरण के लिए कवर प्रदान करती हैं। एक अधिकारी ने कहा,

“चूंकि कोविड -19 एक अप्रत्याशित घटना नहीं है, इसलिए घटना बीमाकर्ताओं ने सभी संचारी रोगों के लिए मुआवजे की पेशकश बंद कर दी है। यूरोप में फ़ुटबॉल और इंग्लैंड में क्रिकेट, महामारी के कारण होने वाले रद्दीकरण के मुआवजे की इस व्यवस्था का पालन कर रहे हैं।”

आईपीएल 2020 में सभी फ्रेंचाइजी को लग सकता है बड़ा झटका, नहीं मिलेगा मुआवजा 1

टीम के सदस्यों के कोविड पॉजिटिव होने से रद्द होंगे मैच

आईपीएल 2020 का आयोजन कोरोना काल के बीच होने जा रहा है। 5 महीने देरी से शुरु हो रहे आईपीएल के इस सीजन के ऊपर से कोरोना का खतरा टला नहीं है। बीसीसीआई ने आईपीएल के 13वें सीजन को यूएई में बायो सिक्योर वातावरण में खेला जाएगा।

लेकिन बोर्ड द्वारा जारी एसओपी में यदि टूर्नामेंट के दौरान कोई खिलाड़ी या टीम का कोई सदस्य कोविड पॉजिटिव पाया जाता है, तो उस टीम को तुरंत क्वारेंटीन कर दिया जाएगा। इसलिए सभी फ्रेंचाइजियों को बोर्ड द्वारा जारी एसओपी के नियमों का कड़ाई से पालन करने की जरुरत है।

कोरोना को गंभीरता से लेने की जरुरत

आईपीएल 2020

भारत में तो कोरोना वायरस आग की तरह फैल रहा है। इसी के चलते बीसीसीआई ने लीग को भारत के बजाए यूएई में शिफ्ट कर दिया है। मगर यूएई में भी दिन प्रतिदिन मामले में बढ़ते नजर आ रहे हैं। अब तक यूएई में कुल 80 हजार से अधिक लोग कोरोना संक्रमित हुए हैं, जिसमें से लगभग 400 लोगों की मौत हुई है और 70 हजार के करीब लोग रिकवर हो चुके हैं।

इन आंकड़ों को देखकर ये तो तय है कि यूएई कोरोना को काबू पाने में कामयाब होता दिख रहा है। लेकिन यदि कोई खिलाड़ी कोरोना संक्रमित होता है, तो पूरी टीम को खामियाजा भुगतना पड़ेगा। बताते चलें, यूएई पहुंचने के बाद चेन्नई सुपर किंग्स के 2 खिलाड़ियों सहित 13 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।