IPL 2020 की वो 4 टीमें जो शायद ही बना पाए प्ले ऑफ में जगह

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

IPL 2020 की वो 4 टीमें जो शायद ही बना पाएं प्ले ऑफ में जगह 

IPL 2020 की वो 4 टीमें जो शायद ही बना पाएं प्ले ऑफ में जगह

IPL 2020 के लिए नीलामी प्रक्रिया पूर्ण हो चुकी है. खिलाड़ियों पर जमकर पैसा लगे जा चूका है. खास बात यह रही कि इस बार गेंदबाजों का बोलबाला रहा है. फ्रैंचाइजियों ने विदेशी खिलाड़ियों पर भरोसा दिखाया और उनपर जम कर पैसे लुटाए. आईपीएल-13 की नीलामी में फ्रैंचाइजियों ने ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों पर खूब पैसा खर्च किया. नीलामी में फ्रैंचाइजियों ने 140.3 करोड़ रुपये खर्च किए, लेकिन किसी भी भारतीय खिलाड़ी के लिए बोली दस करोड़ तक नहीं पहुंची.

इस नीलामी में बाजी मारी है ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने, जिनके लिए जमकर बोली लगी. लेकिन क्या ये खिलाड़ी IPL 2020 में अपनी टीम की आशाओं पर खरा उतर पाएंगे. यह बड़ा सवाल है. आईपीएल शुरू होते ही सभी टीमों का लक्ष्य अंतिम 4 में जगह बनाना होता है लेकिन सभी टीम तो प्लेऑफ में जगह नहीं बना सकती. ऐसे में आज हम आपको बताएँगे कि कौनसी ईएसआई 4 टीमें हैं जो IPL 2020 के प्लेऑफ में अपनी जगह बना पायें.

सनराईजर्स हैदराबाद

IPL 2020 की वो 4 टीमें जो शायद ही बना पाएं प्ले ऑफ में जगह 1

आईपीएल के पिछले सीजन में सनराइजर्स हैदराबाद के खराब प्रदर्शन की सबसे बड़ी वजह उनका मध्यक्रम ही था. वॉर्नर और बैरेस्टो के फ्लॉप होने के बाद कोई पिच पर नहीं टिक पाया था. इस बार उन्होंने दो घरेलू युवा बल्लेबाज विराट सिंह और प्रियम गर्ग को खरीदा है. इसके अलावा मिचेल मार्श भी मध्यक्रम में ही बल्लेबाजी करेंगे.

गर्ग और विराट अच्छे बल्लेबाज हैं लेकिन इनके पास बड़े स्तर का अनुभव नहीं है. विजय शंकर भी लगातार रन बनाने में असफल रहे हैं. ऐसे में इस टीम का भी IPL 2020 के प्लेऑफ में जाना बहुत कठिन है.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर

IPL 2020 की वो 4 टीमें जो शायद ही बना पाएं प्ले ऑफ में जगह 2

विराट कोहली की अगुवाई वाली आरसीबी की टीम एक बार भी आईपीएल का ख़िताब नहीं जीत पाई है. हलाकि टीम के पास विराट कोहली और एबी डिविलियर्स के रूप में दुनिया के दो सबसे बेहतरीन बल्लेबाज हैं. इसके बावजूद टीम का मध्यक्रम काफी कमजोर है. अगर इन दोनों का बल्ला नहीं चलता है तो टीम पूरी तरह विफल हो जाती है.

उन्होंने जोशुआ फिलिप और पवन देशपांडे को नीलामी में खरीदा है लेकिन दोनों ही बड़े नाम नहीं हैं. इसके अलावा उनके पास मोइन अली, शिवम दुबे और गुरकीरत मान भी हैं. हालाँकि, किसी ने निरंतर प्रदर्शन नहीं किया है. टीम की गेंदबाजी हमेशा से ही उनका कमजोर पक्ष रहा है ऐसे में इस बार भी टीम का IPL 2020 के अंतिम 4 में पहुचना मुश्किल लग रहा है.

किंग्स इलेवन पंजाब

आईपीएल

किंग्स इलेवन पंजाब पिछले दो सीजन से मध्यक्रम के ख़राब प्रदर्शन से परेशान है. हलाकि इस बार उन्होंने ग्लेन मैक्सवेल के साथ जिमी निशम और दीपक हूडा को खरीदा है. मैक्सवेल का हालिया फॉर्म शानदार है लेकिन आईपीएल में वह अपनी छवि के अनुरूप नहीं खेल पाए हैं. अभी तक उन्होंने सिर्फ दो आईपीएल सीजन में 200 से ज्यादा रन बनाये हैं. पंजाब की टीम का गेंदबाजी आक्रमण टीम के लिए बड़ी चिंता का विषय हो सकता है.

हलाकि कोट्रेल तथा जॉर्डन को टीम ने खरीदा है लेकिन इन दोनों खिलाडियों का टीम में खेलना मुश्किल है. कोई एक ही प्लेयिंग इलेवन में अपनी जगह बना पायेगा. वहीँ दूसरी तरफ निशम ने भारतीय परिस्थिति में ज्यादा नहीं खेला है वहीं हूडा भी काफी समय से फ्लॉप हो रहे हैं. इसके अलावा उनके पास करुण नायर, निकोलस पूरन और मंदीप सिंह हैं. इन्हें पिछले सीजन पूरा मौका नहीं मिला था. इन्ही सब कमियों के कारण IPL 2020 में टीम के प्लेऑफ में जाने के चांसेज बहुत कम हैं.

चेन्नई सुपर किंग भी आईपीएल 2020 के प्लेऑफ से हो सकती है बाहर

चेन्नई सुपर किंग्स

इस टीम में अधिकांस ऐसे खिलाड़ी  हैं जिन्होंने कई वर्षो से अन्तराष्ट्रीय मैच नहीं खेला है. टीम में सभी खिलाड़ी 30 वर्ष से अधिक के हैं. जिसके कारण फिटनेस टीम के लिए बड़ी समस्या बन सकती है. उसके अलावा कई ऐसे खिलाड़ी भी मौजूद हैं जो मात्र कुछ लीग ही खेलते हैं या वो आईपीएल ही खेलते हुए नजर आते हैं.

जिसके कारण उनके फॉर्म पर सवाल हमेशा उठा रहेगा. डेथ ओवरो की गेंदबाजी भी इनके लिए बड़ी समस्या बन कर उभर सकती है. ब्रावो के अतिरिक्त कोई किसी भी गेंदबाज ने चेन्नई के लिए डेथ में अच्छी गेंदबाजी नहीं की है.इसके अलावा चेन्नई की टीम में मध्यक्रम में कोई भी आक्रामक बल्लेबाज नहीं है. ऐसे में धोनी कि अगुवाई वाली चेन्नई का IPL 2020 के प्लेऑफ से बहार होने के पूरे चांसेज हैं.

Related posts