IPL 2021: रोहित शर्मा ने एक बार फिर की हार के साथ की शुरूआत, ट्रोल होने पर बनाया ये बहाना 1

IPL 2021 की शुरुआत 9 अप्रैल से हुई, जहां पर पहला मुकाबला मुंबई इंडियंस और रॉयल चैलेंज बेंगलुरु के बीच खेला गया। इस लीग का आगाज मुंबई इंडियंस की हार के साथ हुआ है। इस हार के बाद फैंस काफी निराशाजनक दिखाई दिए। वहीं टीम के कप्तान रोहित शर्मा ने भी इस हार को लेकर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है। उन्होंने जाहिर किया कि, पहले मैच में उनकी टीम को क्यों हार का सामना करना पड़ा है? रोहित शर्मा का कहना है कि, वह इस हार से बिल्कुल भी निराश नहीं हुए हैं, क्योंकि उनके लिए टूर्नामेंट जीतना ज्यादा जरूरी है। बता दें कि, लगातार नौंवी बार ऐसा हुआ है, जब मुंबई इंडियंस अपना पहला मैच हार गई है।

IPL 2021: रोहित शर्मा ने एक बार फिर की हार के साथ की शुरूआत, ट्रोल होने पर बनाया ये बहाना 2

टूर्नामेंट जीतना जरूरी है, ना कि पहला मैच: रोहित शर्मा

पहला मैच हार जाने को लेकर रोहित शर्मा ने कहा कि,

“सबसे बड़ी जीत यह होगी कि, आप टूर्नामेंट जीते हैं ना कि पहला मैच!! मुझे टीम की तरफ से किया गया यह प्रयास काफी अच्छा लगा है। हमने आखिरी वक्त तक लड़ाई की और मैच जीतने की पूरी कोशिश की। मुझे तो लगा कि, जैसे हमारी टीम की शुरुआत हुई थी, उस तरह से 20 रन कम बने हैं। पहले मैच के दौरान कुछ गलतियां हो जाती हैं”।

IPL 2021: रोहित शर्मा ने एक बार फिर की हार के साथ की शुरूआत, ट्रोल होने पर बनाया ये बहाना 3

उन्होंने मार्को की तारीफ करते हुए कहा, मार्को जेनसेन एक बेहतरीन खिलाड़ी हैं। कोई भी स्थिति हो वह गेंदबाजी करने के लिए हमेशा तैयार हैं। इस दौरान मुंबई इंडियंस ने पहले बल्लेबाजी की और 9 विकेट खोकर 159 रन हासिल किए। आरसीबी ने 8 विकेट गंवाते हुए अपना लक्ष्य पूरा किया।

IPL 2021: रोहित शर्मा ने एक बार फिर की हार के साथ की शुरूआत, ट्रोल होने पर बनाया ये बहाना 4

रोहित शर्मा ने कहा कि,

“जब क्रिस्टियन और एबी डिविलियर्स बल्लेबाजी के लिए उतरे तो उनका विकेट लेने की पूरी तैयारी थी। इसके बाद हमने जसप्रीत बुमराह और ट्रेंट बोल्ट की तरफ रुख किया। हमारा यह तरीका तो काम नहीं आ सका। यह पिच बल्लेबाजी करने के लिए भी काफी मुश्किल नजर आ रही थी”।

एबी डिविलियर्स की तारीफ करते हुए रोहित शर्मा ने कहा कि,

“वे एक बहुत ही टैलेंटेड खिलाड़ी हैं, उन्होंने ही टीम को जीत की तरफ पहुंचाया है। खिलाड़ियों को लय पकड़ने में काफी ज्यादा समय लगता है। उनके साथ तालमेल बिठाने और वक्त बिताने की काफी जरूरत है, जिसके लिए हमें समय नहीं मिल पाया। स्थितियों को समझने की बहुत आवश्यकता है और इसके मुताबिक हमें बदलाव करने की भी बहुत आवश्यकता है।”।