3 मौके जब रन आउट ने बदला आईपीएल फाइनल का नतीजा

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

3 मौके जब रन आउट ने बदला आईपीएल फाइनल का नतीजा 

3 मौके जब रन आउट ने बदला आईपीएल फाइनल का नतीजा

क्रिकेट में रन आउट, आउट होने का वह तरीका है जिससे सभी बल्लेबाज बचना चाहते हैं। क्रिकेट मैच के दौरान बल्लेबाज कई ऐसे मौके पर आउट हो जाते हैं, जिसका असर मैच के नतीजे पर पड़ता है। आईपीएल के 12 सीजन हो चुके हैं। इसके 12 फाइनल मुकाबलों में कई बार ऐसा हुआ है, जब रन आउट की वजह से टीम को ट्रॉफी गंवानी पड़ी। रन लेने के लिए हमेशा बल्लेबाजों में तालमेल की जरूरत होती है लेकिन दबाव के समय इसमें कमी आती है और रन आउट होना पड़ता है।

आज हम आपको आईपीएल फाइनल के 3 रन आउट के बारे में बताने जा रहे हैं, जिससे मैच का नतीजा बदल गया।

1. महेंद्र सिंह धोनी (आईपीएल 2019)

3 मौके जब रन आउट ने बदला आईपीएल फाइनल का नतीजा 1

आईपीएल 2019 के फाइनल मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी रन आउट हो गये थे। पूरे टूर्नामेंट में टीम की बल्लेबाजी उन्हीं के आसपास घूम रही थी। मुंबई इंडियंस के खिलाफ इस मैच में जब धोनी बल्लेबाज करने आये तो उनकी टीम को 57 गेंदों में 77 रनों की जरूरत थी। वह पिच पर सेट ही हो रही थे कि आउट थ्रो पर रन लेने के क्रम में ईशान किशन ने उन्हें रन आउट कर दिया।

उनके रन आउट होने पर भी विवाद हुआ लेकिन काफी रीप्ले देखने के बाद उन्हें आउट दिया गया। उनके बल्ले से 8 गेंदों में 2 रनों की पारी निकली थी। अंत में चेन्नई को सिर्फ एक रनों से हार मिली थी। महेंद्र सिंह धोनी रन आउट नहीं होते तो उनकी टीम आसानी से इस मुकाबले को अपने नाम कर सकती थी।

2. अंबाती रायडू (आईपीएल 2010)

3 मौके जब रन आउट ने बदला आईपीएल फाइनल का नतीजा 2

आईपीएल 2010 का फाइनल मुकाबले भी मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेला गया था। मुंबई के डीवाई पाटिल स्टेडियम में खेले गये इस मुकाबले में चेन्नई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 168 रन बनाये। मुंबई को अंतिम 8 गेंदों में 26 रनों की जरूरत थी, तभी अच्छी बल्लेबाजी कर रहे अंबाती रायडू रन आउट हो गये।

उनके बाद अगली ही गेंद पर उनके साथ बल्लेबाजी कर रहे कीरोन पोलार्ड भी आउट हो गये। एक रन लेने के बाद पोलार्ड दूसरे रन के लिए भागे लेकिन रायुडु तैयार नहीं थे। हालाँकि, पोलार्ड को बचाने के लिए उन्होंने खुद को रन आउट करवा लिया। इस मैच में उनके बल्ले से 14 गेंदों में 21 रनों की पारी निकली थी और अंत तक खेलते तो मैच का नतीजा कुछ भी हो सकता था।

3. स्टुअर्ट बिन्नी (आईपीएल 2016)

3 मौके जब रन आउट ने बदला आईपीएल फाइनल का नतीजा 3

आईपीएल 2016 का फाइनल मुकाबला सनराइजर्स हैदराबाद और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच खेला गया था। मैच के अंतिम 12 गेंदों में आरसीबी को जीत के लिए 30 रनों की जरूरत थी। पिच पर स्टुअर्ट बिन्नी के साथ सचिन बेबी थे। 18वें ओवर की पहली ही गेंद पर रन आउट हो गये। लॉन्ग ऑन पर खेलकर उन्होंने दो रन लेने की कोशिश की लेकिन दीपक हूडा के थ्रो से नहीं बच पाए।

उनके आउट होने के बाद सिर्फ गेंदबाज बचे थे और टीम को 8 रनों से हार मिली। इस मैच में बल्लेबाजी के लिए उतरते ही बिन्नी ने पहली ही गेंद पर छक्का जड़ दिया था। उनके बल्ले से 7 गेंदों में 9 रन निकले थे। बिन्नी अगर अंत तक खेलते तो मैच का नतीजा कुछ भी हो सकता था। उस सीजन के बाद हुए आरसीबी अभी तक प्ले ऑफ में भी नहीं पहुँच पाई है।

Related posts