ipl auction

IPL Mega Auction: आईपीएल 2022 में इस बार 8 की बजाए 10 फ्रेंचाइजी के खिलाड़ी क्रिकेट के मैदान पर आपस में भिड़ते हुई दिखेगे. इसके लिए (IPL 2022) से पहले मेगा ऑक्शन होगा. हालांकि, ऑक्शन से पहले सभी 8 पुरानी फ्रेंचाइजी ने अपने खिलाड़ियों को रिटेन कर लिया है. हालांकि, मेगा ऑक्शन को लेकर कई फ्रेंचाइजी बिल्कुल भी खुश नहीं है.

बीसीसीआई की पॉलिसी पर सवाल

IPL Mega Auction से पहले ही BCCI पर फूटा फ्रेंजाइजी का गुस्सा, कहा-ये ठीक नहीं...दिल टूट जाता है 1

रिटेंशन में भाग ले चुकी टीम के अलावा बाकि बचे दो नई टीमें ( अहमदाबाद और लखनऊ) अगले तीन साल के लिए खिलाड़ियों को चुनेंगी जिन्हें रिटेंशन की वजह से रिलीज किया गया है. 25 दिसंबर तक यह फैसला करना कि किन खिलाड़ियों को वो अपने पाले में लेकर आयेंगे. इसके बाद मेगा ऑक्शन (IPL Mega Auction) में बाकि बचे सभी खिलड़ियों की बोली लगाई जायेगी.

इस बीच मेगा ऑक्शन को लेकर BCCI की पॉलिसी पर फ्रेंचाइजियों ने सवाल खड़ा कर दिया है. दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) के सह मालिक पार्थ जिंदल और कोलकाता नाइटराइडर्स (Kolkata Knight Riders) के सीईओ वैंकी मैसूर बीसीसीआई की इस पॉलिसी को उपयोगी नहीं मानते. दोनों का मानना है कि अब मेगा ऑक्शन (Mega Auction) से आगे बढ़ने का समय आ गया है.

दिल्ली-केकेआर ने रिलीज किए बड़े खिलाड़ी

IPL Mega Auction से पहले ही BCCI पर फूटा फ्रेंजाइजी का गुस्सा, कहा-ये ठीक नहीं...दिल टूट जाता है 2

आईपीएल 2021 की रनर टीम केकेआर और प्लेऑफ तक का सफर तय करने वाली दिल्ली कैपिटल्स ने अपने 4-4 खिलाड़ियों को रिटेन किया. हालांकि, न चाहते हुए भी कई मैच विनर बड़े खिलाड़ियों को रिलीज करना पड़ा जिस पर फ्रेंचाइजी का दर्द छलक पड़ा है. केकेआर ने सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल के अलावा लॉकी फर्ग्यूसन, राहुल त्रिपाठी, नीतीश राणा, पैट कमिंस जैसे मैच विनर खिलाड़ियों को रिलीज किया दूसरी तरफ दिल्ली कैपिटल्स के बड़े खिलाड़ी शिखर धवन, कगिसो रबाडा, श्रेयस अय्यर, आर अश्विन जैसे बड़े खिलाड़ी अलग हो गए.

पहले के जैसा नहीं रहा ऑक्शन का मंच

IPL Mega Auction से पहले ही BCCI पर फूटा फ्रेंजाइजी का गुस्सा, कहा-ये ठीक नहीं...दिल टूट जाता है 3

केकेआर के सीईओ वैंकी मैसूर का मानना है कि मेगा ऑक्शन किसी समय सभी टीमों के लिए बराबरी का मंच होता था. लेकिन अब ऐसा नहीं है. 2011 में जब पहली बार बड़ा ऑक्शन हुआ था तब सबके पास बराबर मौका था. ESPNcricinfo से बात करते हुए उन्होंने कहा,

‘लीग में एक ऐसा समय आ रहा है जब यह सवाल उठता है कि क्या बड़े ऑक्शन वाकई में जरूरी हैं. आप नए आने वाले खिलाड़ियों के लिए ड्राफ्ट्स बना सकते हो, आप आपस में ट्रे़ड कर सकते हो, आप लोन पर दे सकते हो और टीमों को लंबे समय के लिए योजना बनाने का मौका दे सकते हो.’

3 साल में खिलाड़ियों को छोड़ना दुखद

IPL Mega Auction से पहले ही BCCI पर फूटा फ्रेंजाइजी का गुस्सा, कहा-ये ठीक नहीं...दिल टूट जाता है 4

वहीं दिल्ली कैपिटल्स के सह मालिक पार्थ जिंदल का कहना है कि यह देखकर दिल डूब जाता है कि जिन खिलाड़ियों में पैसा और समय लगाया गया वो तीन साल बाद चले जाएंगे. वहीं, पूर्व कप्तान श्रेयस अय्यर की तरफ से ऑक्शन में जाने का फैसला किया था लेकिन जिंदल का मानना है कि इसे टाला जा सकता था.

पार्थ जिंदल ने कहा,

‘श्रेयस अय्यर, शिखर धवन, कगिसो रबाडा और आर अश्विन का जाना दिल तोड़ देता है. ऑक्शन प्रॉसेस इस तरह का बना हुआ है और मुझे लगता है कि आगे चलकर आईपीएल को इसे वाकई में देखना होगा क्योंकि यह सही नहीं है कि आप एक टीम बनाए, युवाओं को मौका दें, उन्हें अपने सैट अप के जरिए तैयार करें और उन्हें मौका मिले. वे अपनी फ्रेंचाइजी के लिए खेलें फिर वे अपने देश के लिए खेले और तब तीन साल बाद आप उन्हें खो दें.’

One reply on “IPL Mega Auction से पहले ही BCCI पर फूटा फ्रेंजाइजी का गुस्सा, कहा-ये ठीक नहीं…दिल टूट जाता है”

Comments are closed.