आईपीएल में पुरस्कार समारोह के दौरान रवि शास्त्री से हुई ऐसी भूल कि बन गए हंसी के पात्र | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

आईपीएल में पुरस्कार समारोह के दौरान रवि शास्त्री से हुई ऐसी भूल कि बन गए हंसी के पात्र 

आईपीएल में पुरस्कार समारोह के दौरान रवि शास्त्री से हुई ऐसी भूल कि बन गए हंसी के पात्र

जी हा दुनिया भर के चहेते कमेंटेटर व भारत के पूर्व ऑलराउंडर रवि शास्त्री यू तो अपनी  जबरदस्त कमेंट्री के लिए बहुत ही मशहूर है, उनकी जैसी बुलंद अवाज शायद ही क्रिकेट जगत में किसी और कमेंटेटर के पास हो वो अपनी जबरदस्त कमेंट्री के लिए विश्व भर में काफी प्रसिद्ध है, उनका कमेंट्री के छेत्र में कोई  सानी नहीं है. वो दुनिया के मशहूर कमेंटेटरो में से एक है.

आईपीएल में पुरस्कार समारोह के दौरान रवि शास्त्री से हुई ऐसी भूल कि बन गए हंसी के पात्र 1

मगर फिर भी उनसे बुधवार को खेले गए मुंबई इंडियन बनाम हैदराबाद मैच के दौरान उनसे एक बहुत बड़ी भूल हो गई. घटना उस समय की है जब मुंबई इंडियन की 4 विकेट से जीत के बाद पुरुस्कार समारोह के दौरान वो मैन ऑफ द मैच का पुरुस्कार देना ही भूल गए. मगर बाद में अपनी गलती सुधारते हुए उन्होंने मैन ऑफ द मच खिलाड़ी जसप्रीत बुमराह को बुलाया और मैन ऑफ द मैच के  पुरुस्कार से नवाजा.  गांगुली ने दिल्ली डेयरडेविल्स को बताया सबसे कमज़ोर टीम, जिस पर शास्त्री ने दिया करारा जवाब

जसप्रीत बुमराह ने अपनी टीम के लिए बहुत बेहतरीन गेंदबाजी की उन्होंने अपने चार ओवेरो में मात्र  24 रन देकर 3 विकेट झटके उनकी योर्कर गेंदों का हैदराबाद के बल्लेबाजो के पास कोई जवाब नहीं था. उनकी गेंदबाज़ी की बदौलत मुंबई की टीम ने हैदराबाद को मात्र 158 रनो पर ही रोक दिया था.

मगर जब उन्हें मैन ऑफ मैच मिलने की बारी आई तो भारत के पूर्व ऑलराउंडर रवि शास्त्री उन्हें बुलाना ही भूल गए और पुरुस्कार समारोह का समापन कर रहे थे. तभी उन्हें बतया गया की अभी जसप्रीत बुमराह को मैन ऑफ मैच  खिताब से नवाजना बाकि है. उन्होंने तुरंत अपनी भूल सुधारते हुए, जसप्रीत बुमराह को बुलाया और उन्हें मैन ऑफ मैच  खिताब से नवाज़ा.  विडियो: पीटरसन ने धोनी से कहा था तुमसे बेहतर हूँ गोल्फर, फिर धोनी ने दिया सटीक और करारा जवाब

इस घटना पर आईपीएल मैं कमेंट्री कर रहे इंग्लैंड के स्टार बल्लेबाज केविन पीटरसन ने तुरंत ट्विट किया और “लिखा “वाहाहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहाहहहहहहहहहा – रवि शास्त्री.”

Related posts